scorecardresearch

‘लेडी अलकायदा’ के लिए आतंकियों ने अमेरिका में बंधक बनाए चार लोग, जानें कौन है यूएस की जेल में बंद आफिया सिद्दीकी

पाकिस्तानी नागरिक आफिया सिद्दीकी मेसाच्युसेट इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से स्नातक है और ब्रैंडिस यूनिवर्सिटी से न्यूरोसाइंस में पीएचडी है।

aafia siddqui, lady alqaeda
आफिया सिद्दीकी। (Photo Credit – Facebook/Free Aafia Siddiqui)

अमेरिका के टेक्सास में शनिवार को आतंकियों ने एक यहूदी उपासना गृह यानी सिनेगॉग पर हमला कर चार लोगों को बंधक बना लिया और जेल में बंद पकिस्तान की आफिया सिद्दीकी को छोड़ने की मांग की। ऐसे में आपको बताते हैं कि आखिर यह आफिया सिद्दीकी कौन है!

कौन है लेडी अलकायदा: अमेरिका की जेल में बंद आफिया सिद्दीकी पाकिस्तानी नागरिक और वैज्ञानिक हैं। आफिया सिद्दीकी के तीन बच्चे हैं। अमेरिकन एजेंसी के मुताबिक आफिया एक खूंखार आतंकी है और उसे एक अमेरिकी सैनिक को मारने के प्रयास में गिरफ्तार किया गया था। न्यूयॉर्क सिटी फेडरल कोर्ट ने उसे संदिग्ध आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में सजा सुनाई थी और अब आफिया टेक्सास के फोर्ट वर्थ के कार्सवेल में 86 साल की सजा काट रही हैं। उसे लेडी अलकायदा के नाम से भी जाना जाता है।

क्या है अफिया की पृष्ठभूमि: पाकिस्तानी नागरिक आफिया सिद्दीकी मेसाच्युसेट इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से स्नातक है और ब्रैंडिस यूनिवर्सिटी से न्यूरोसाइंस में पीएचडी है। उन पर आरोप है कि वह जब सोशल एक्टिविस्ट के रूप में कार्यरत थी तो अल-किफ़ा शरणार्थी सेंटर से जुड़ी थी। जबकि अमेरिका में स्थित इस सेंटर को अमेरिकन एजेंसियां अलकायदा का संचालन केंद्र मानती हैं। साथ ही इस सेंटर से जुड़े कुछ लोगों पर आरोप था कि उन्होंने केन्या स्थित अमेरिकी दूतावास पर हमला किया था।

कब आई चर्चा में: आफिया सिद्दीकी का नाम तब चर्चा में आया था, जब वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमले के बाद FBI ने साल 2002 में आफिया और उनके पति अमजद खान से कड़ी पूछताछ की थी। इसके एक साल बाद एफबीआई ने उसे अलकायदा ग्रुप के मोस्टवांटेड की लिस्ट में डाल दिया था। दरअसल, अमेरिकन एजेंसी के हाथ आए एक आतंकी खालिद शेख ने आफिया सिद्दीकी का नाम लिया था।

यहां धमाके की थी योजना: अमेरिकी एजेंसी के मुताबिक, साल 2008 में आफिया को FBI ने स्थानीय पुलिस की मदद से अफगानिस्तान से गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के दौरान उसके पास दो किलो सोडियम साइनाइड व कुछ किताबें मिली थी और आरोप था कि वह न्यूयॉर्क के ब्रुकलिन ब्रिज व एम्पायर स्टेट बिल्डिंग में हमले की योजना बना रही थी।

FBI अधिकारी को जान से मारने का आरोप: साल 2008 में गिरफ्तार होने के बाद आफिया को बगराम जेल ले जाया गया, जहां उस पर एक FBI अधिकारी को जान से मारने का आरोप लगा था। जिसके बाद उसे अमेरिका डिपोर्ट कर दिया था। यहां उसे 2010 में अमेरिकी अदालत में हत्या के प्रयास का दोषी ठहराया गया था। इसके अलावा उस पर पूर्व पाकिस्तानी राजदूत हुसैन हक्कानी को मारने व 2011 में मेमोगेट स्कैंडल का मुख्य आरोपी होने का भी आरोप है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X