ताज़ा खबर
 

मानसिक रोगी महिला को जबरन कार में खींचा, फिर गैंगरेप कर सड़क किनारे फेंका; आरोपी टैक्सी ड्राइवर गिरफ्तार

शेल्टर होम में रहने वाली मानसिक रुप से बीमार महिला के साथ दुष्कर्म के आरोप में पुलिस ने एक टैक्सी ड्राइवर को गिरफ्तार किया है। मामले में पुलिस आगे जांच कर रही है।

Author कोलकाता | Published on: November 17, 2019 4:51 PM
प्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

कोलकाता के शेल्टर होम में रहने वाली एक महिला का अपहरण और दुष्कर्म करने के आरोप में दक्षिणी बाहरी क्षेत्र में एक टैक्सी ड्राइवर को गिरफ्तार किया गया है। मामले में एक पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि आरोपी को शनिवार (16 नवंबर) की रात को छापेमारी के दौरान दक्षिण 24 परगना जिले में नरेंद्रपुर से पकड़ा गया है। बता दें कि पिछले हफ्ते महिला के साथ यह घटना घटी थी।

पिछले हफ्ते हुआ था दुष्कर्मः अपनी शिकायत में 36 वर्षीय महिला ने दावा किया कि सोमवार (11 नवंबर) की रात को वह टहलने के लिए बाहर निकली थी तभी कुछ लोगों का समूह ने उसे जबरन अपनी कार में ले गए जहां उससे कथित रूप से सामूहिक दुष्कर्म किया गया। बता दें कि पीड़िता शहर के पंचासायर में मानसिक रूप से बीमार महिलाओं के लिए बने शेल्टर होम में रहती थी। महिला ने यह भी कहा कि आरोपियों ने उसे पीटा था और तड़के सोनारपुर इलाके के पास उसे गाड़ी से नीचे धकेल दिया गया था।

Hindi News Today, 17 November 2019 LIVE Updates: बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

सामूहिक दुष्कर्म के बारे में पुलिस जांच कर रहीः मामले में पुलिस ने कहा कि स्थानीय लोगों ने उसे सड़क के किनारे पड़ा हुआ देखा था और उसे अपने संबंधी के घर गरियाहाट जाने के लिए ट्रेन का टिकट खरीदने में मदद भी की थी। इस पर वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘आरोपी टैक्सी ड्राइवर ने लंबी पूछताछ के बाद अपराध स्वीकार लिया। हम यह जानने का प्रयास कर रहे हैं कि घटना वाली रात क्या उसके साथ और भी लोग थे। उसकी टैक्सी को जब्त कर लिया गया है।’ अधिकारी के अनुसार, शुरुआती जांच से यह अभी पता नहीं चल पाया है कि महिला के साथ सामूहिक बलात्कार हुआ है की नहीं।

पश्चिम बंगाल महिला आयोग की भी नजर मामले पर हैः इस पर अधिकारियों ने बताया, ‘उसे गंभीर मनोवैज्ञानिक समस्या है। ऐसा कोई सबूत नहीं है कि उसे जबरन अगवा किया गया। महिला यौनाचार में लिप्त थी लेकिन ऐसे संकेत नहीं मिले हैं कि उससे सामूहिक बलात्कार किया गया।’ एनसीडब्ल्यू की एक वरिष्ठ सदस्य ने शुक्रवार (15 नंवबर) को पीड़िता से बात की और मामले के संबंध में लालबाजार मुख्यालय में कोलकाता पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से भी बात की। बता दें कि पश्चिम बंगाल महिला आयोग की अध्यक्ष लीना गंगोपाध्याय ने कहा कि संगठन के निष्कर्षों के आधार पर मामले में एक रिपोर्ट तैयार की जा रही है।

Next Stories
1 UP Police ने ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ के तहत 12 घंटे में 143 बदमाशों को किया गिरफ्तार, अपराधियों में हड़कंप
2 Prayagraj: निरंजनी अखाड़े में साधु ने लाइसेंसी पिस्टल से खुद को उड़ाया, पुलिस बोली- शराब पीने से खराब हो गया था लीवर
3 Bihar: जिंदा शख्स को बता दिया मृत, कहा- Mob Lynching में मारा गया, पत्नी ने कर्ज लेकर कराया श्राद्ध; लेकिन हुआ ये खुलासा
ये खबर पढ़ी क्या?
X