ताज़ा खबर
 

चाय की दुकान पर बैठा था BJP कार्यकर्ता, ‘जय श्री राम’ बोलते ही TMC के लोगों ने मार दी गोली; भाजपा का आरोप

कोलकाता में भाजपा ने दावा किया है कि ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने पर भाजपा कार्यकर्ता को टीएमसी के कार्यकर्ताओं द्वारा गोली मारी गई है। बता दें कि बीजेपी के इस आरोप को टीएमसी ने खारिज कर दिया है।

Author कोलकाता | Updated: April 28, 2020 3:28 PM
पटनासेना के जवान ने की पत्नी, भाभी की हत्या प्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

पश्चिम बंगाल के कोलकाता में भाजपा ने दावा किया है कि उसके एक कार्यकर्ता के ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने को लेकर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उस पर गोली चला दी। इस हादसे में कार्यकर्ता के घायल होने का भी दावा किया गया है। हालांकि, राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी ने इस आरोप को खारिज कर दिया है। यह घटना गुरुवार (10 अक्टूबर) को दक्षिण 24 परगना जिले में घटी है। मामले में पुलिस ने बताया कि रामप्रसाद मंडल नाम के व्यक्ति के पैर में गोली मारी गई और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने यह भी बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

नारा लगाने पर हुआ कहासुनीः भाजपा सूत्रों ने बताया कि यह घटना गुरुवार शाम में हुई, जब मंडल बरुईपुर में एक चाय दुकान पर बैठा हुआ था। बताया जा रहा है कि वह वहां भाजपा नीत केंद्र सरकार की उपलब्धियों का जिक्र कर रहा था और ‘जय श्री राम’ का नारा लगा रहा था तभी उसकी तृणमूल कार्यकर्ताओं के साथ कहासुनी हो गई। सूत्रों ने यह भी बताया कि तभी उसके और तृणमूल कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई। इसके बाद उन लोगों ने उससे ‘जय श्री राम’ का नारा लगाना कथित तौर पर बंद करने को कहा था।

टीएमसी ने आरोप को किया खारिजः मामले में एक स्थानीय भाजपा नेता ने कहा, ‘इसके तुरंत बाद, तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गोली चला दी और उसके दाएं पैर में गोली लगी।’हालांकि, तृणमूल कांग्रेस नेतृत्व ने आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए खारिज कर दिया। टीएमसी ने दावा किया है कि यह हमला भाजपा की अंदरूनी कलह का नतीजा है।

पश्चिम बंगाल में ‘जय श्रीराम’ के नारे पर बवालः बता दें कि पिछले कई महीनों से पश्चिम बंगाल में ‘जय श्रीराम’ के नारे को लेकर विवाद हो रहा है। राज्य में अकसर इस नारे को लेकर घटनाएं सामने आती रहती है। बता दें कि बीजेपी द्वारा अकसर टीएमसी पार्टी पर नारे नहीं लगाने देने का आरोप लगता है। वहीं टीएमसी भी सफाई में इस नारे के खिलाफ नहीं होने की बात भी कहती रहती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 हाईकोर्ट ने किया साफ, ‘गर्लफ्रेंड से बेवफाई नहीं है अपराध’
2 यूपी के कुशीनगर में पत्रकार की गला रेतकर हत्या, घर से डेढ़ किमी दूर एक खेत में मिली लाश
3 झांसी एनकाउंटर: पुलिस के दावों पर सवाल, FIR में मृतक पुष्पेंद्र के भाई का नाम; उसने दिए दिल्ली में होने के सबूत
ये पढ़ा क्या?
X