scorecardresearch

ह‍िंसक आवारा कुत्तों को मार डालने की इजाजत दें- केरल सरकार की सुप्रीम कोर्ट से गुहार

केरल की सरकार ने बताया है कि इस साल अगस्त तक केरल में 1.2 लाख जबकि बीते पांच सालों में 10 लाख लोगों को आवारा कुत्तों ने काटा है।

ह‍िंसक आवारा कुत्तों को मार डालने की इजाजत दें- केरल सरकार की सुप्रीम कोर्ट से गुहार
केरल में इस साल अगस्त तक 1.2 लाख लोगों को आवारा कुत्तों ने काटा है। (Photo Credit – ANI)

केरल में आवारा कुत्तों के आतंक के बीच सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई है कि उन्हें हिंसक और आवारा कुत्तों को मारने की अनुमति दी जाए। बता दें कि इस साल ही केरल में 1.2 लाख लोगों को आवारा कुत्तों ने काटा है। केरल सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से अनुमति मांगने के सापेक्ष हवाला दिया है कि बीते 5 सालों में 10 लाख लोगों को आवारा कुत्तों ने अपना शिकार बनाया है।

केरल की सरकार ने रेबीज जैसे खतरनाक रोग से संक्रमित कुत्तों को भी जान से मारने की अनुमति सुप्रीम कोर्ट से मांगी है। अदालत को बताया गया कि केरल सरकार ने 15 सितंबर को स्थानीय स्वशासन विभाग के मंत्री की अध्यक्षता में हुई हाई लेवल बैठक हुई थी।

याचिका में कहा गया है कि बैठकों में आवारा कुत्ते के काटने पर नियंत्रण, काटने वाले पीड़ितों को रेबीज से संक्रमित होने से रोकने के बारे में विस्तृत चर्चा हुई और पहले हो चुकी बैठकों की रिपोर्ट के बारे में भी बात की गई।

केरल सरकार की तरफ से दायर याचिका में हिंसक और आवारा कुत्तों को कैसे जनता से दूर रखा जाए और उन्हें किस तरह अलग-थलग रखा जा सकता है, इन बिन्दुओं के बारे में भी जानकारी दी गई। कुत्तों के काटने के मामले में केरल सरकार की तरफ से याचिका दायर की गई है।

याचिका दायर करने वाले वकील ने सीके ससी ने कहा कि ” यह मामला आवारा और हिंसक कुत्तों से जुड़ा है। इसलिए यह अनुरोध किया जाता है कि माननीय न्यायालय कृपया इच्छामृत्यु या हिंसक और आवारा कुत्तों को मारने की अनुमति दें। विशेष रूप से उन कुत्तों को जिन्हें रेबीज होने का संदेह है।” हालांकि, पागल कुत्तों के मामले में उन्हें केवल तब तक अलग रखा जाता है जब तक कि वे मर नहीं जाते।”

इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर करते हुए स्थानीय स्वशासन मंत्री एमबी राजेश ने कहा था कि इस साल अगस्त तक केरल में 1.2 लाख लोगों को आवारा कुत्तों ने काटा है। जबकि पांच सालों में यह संख्या 10 लाख तक की है। मंत्री ने यह भी कहा था कि 20 सितंबर से 20 अक्टूबर तक कुत्तों का टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा, जो कि अब प्रदेश में केरल में पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय के सहयोग से चल रहा है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 27-09-2022 at 10:27:06 pm
अपडेट