ताज़ा खबर
 

ऑनलाइन क्लास में शामिल नहीं हो सकी तो छात्रा ने खुद को लगाई आग, पिता ने कहा- घर में इंटरनेट कनेक्शन वाला मोबाइल नहीं है

Coronavirus (COVID-19), Girl Committed Suicide After Missed Online Class : लड़की की दादी ने कहा कि 'देविका काफी होनहार थी। उसे डर था कि अगर वो क्लास नहीं करेगी तो वो पिछड़ जाएगी इसलिए उसने ऐसा कदम उठा लिया।

CRIME, CRIME NEWSलड़की की दादी ने बताया कि वो काफी होनहार थी और ऑनलाइन क्लास में शामिल नहीं होने पर दुखी थी। सांकेतिक तस्वीर। फोटो सोर्स – Indian Express

Coronavirus (COVID-19), Girl Committed Suicide After Missed Online Class: कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को देखते हुए अभी स्कूल-कॉलेजों को नहीं खोल गया है। स्कूल में ऑनलाइन क्लास के जरिए पढ़ाई को जारी रखने की बात कही जा रही है। इस बीच केरल में एक छात्रा ने खुद को इसलिए आग लगा लिया क्योंकि वो ऑनलाइन क्लास में शामिल नहीं हो पा रही थी। लड़की के पिता ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि घर में इंटरनेट कनेक्शन वाला लैपटॉप या स्मार्टफोन नहीं है और बच्ची इस बात से उदास थी।

यह मामला मालापुर्रम जिले का है। इस मामले में शिक्षा मंत्री C Raveendranath ने जिला शिक्षा अधिकारी से रिपोर्ट मांगी है। बताया जा रहा है कि पुलिस को नाबालिग छात्रा का जला हुआ शव उसके घर से थोड़ी ही दूरी पर मिला है। लड़की दलित परिवार से ताल्लुक रखती है और उसके पिता दैनिक मजदूर हैं।

वलानचेरी के नजदीक मानगेरी की रहने वाली 14 साल की देविका के बारे में कहा जा रहा है कि ऑनलाइन क्लास में शामिल नहीं होने की वजह से वो काफी परेशान थी। यहां के सर्किल इंस्पेक्टर ने जानकारी दी है कि ‘शुरुआती जांच में ऐसा लगता है कि यह मामला सुसाइड का है। लेकिन हत्या की वजहों की अभी जांच चल रही है।’

मृतक छात्रा के परिवार के सदस्यों का कहना है कि सोमवार को पहली क्लास थी और उनकी बच्ची इस क्लास में शामिल नहीं हो सकी थी। बच्ची के पिता बालाकृष्णन ने ‘Asianet News’ से बातचीत करते हुए कहा कि कक्षा 1 से लेकर 12वीं तक के छात्रों को वर्चुअल क्लास के लिए कहा गया था।

यह क्लास KiTE Victers Television Channel और इसके वेबसाइट तथा सोशल मीडिया पर होना था। घर में टीवी खराब पड़ा है और उसे अभी रिपेयर कराया जाना बाकी था। इसके अलावा घर में लैपटॉप और इंटरनेट वाला स्मार्टफोन नहीं है।

लड़की के पिता ने कहा कि ‘मैंने उससे कहा था कि हम टेलीविजन को ठीक कर सकते हैं या स्कूल हमें फिलहाल टैबलेट मुहैया करा देगा या फिर वो अपने पड़ोसी के घर जाकर भी पढ़ सकती है। पता नहीं उसने ऐसा क्यों किया।’

लड़की की दादी ने कहा कि ‘देविका काफी होनहार थी। उसे डर था कि अगर वो क्लास नहीं करेगी तो वो पिछड़ जाएगी इसलिए उसने ऐसा कदम उठा लिया।’

इस पूरे मामले पर राज्य के शिक्षा मंत्री ने साफ किया है कि वर्चुअल क्लासेज के दौरान किसी भी छात्र को परेशान होने की जरुरत नहीं है। इसे सिर्फ एक ट्रायल बेसिस पर शुरू किया गया है। जिस भी छात्र के पास क्लास में शामिल होने की सुविधा नहीं है कुछ हफ्तों के अंदर उन्हें सुविधाएं मुहैया करा दी जाएंगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Unlock1.0 के दूसरे दिन अयोध्या में कूड़े के ढेर में मिली जली लाश, पुलिस महकमे में हड़कंप
2 AIIMS से बेटे का शव लेने के लिए 3 दिन तक इंतजार करते रहे पिता, नहीं मिला तो घर लौट आए और कहा- आप ही कर दें अंतिम संस्कार
3 Pakistan Spy Case: खुद को ‘गौतम’ बताता था आबिद हुसैन, रेलवे से सैनिकों, साझो-सामान की आवाजाही पर रखता था नजर- रिपोर्ट