ताज़ा खबर
 

पहले ही हो चुकी थीं दो शादियां, फिर भी महिला को दिया झांसा, बाद में बना दिया देवदासी

कर्नाटक की रहने वाली महिला ने आरोप लगाया है कि उसके परिवार और प्रेमी ने मिलकर उसे धोखा दिया और देवदासी प्रथा के दलदल में ढकेल दिया है।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

कर्नाटक की रहने वाली महिला ने आरोप लगाया है कि उसके परिवार और प्रेमी ने मिलकर उसे धोखा दिया और देवदासी प्रथा के दलदल में ढकेल दिया है। बीते सोमवार (20 अगस्त) को ​महिला ने प्रेमी के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करवाया है। द न्यूज मिनट में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, महिला ने उन्हें बताया कि प्रेमी उसके गांव का ही रहने वाला है। छह महीने पहले दोनों में बातें शुरू हुईं थी। जल्दी ही दोनों प्यार में पड़ गए और उन्होंने शारीरिक संबंध भी बना लिए। दो महीने चले प्रेमप्रसंग के बाद महिला को पता चला कि प्रेमी ने पहले से दो शादियां कर रखी हैं और उसके चार बच्चे भी हैं।

महिला का आरोप है कि प्रेमी ने उससे अपनी उम्र के बारे में भी झूठ बोला था। काफी समय बीतने के बाद भी प्रेमी ने शादी के लिए कोई कदम नहीं उठाया। नाराज महिला ने साफ कर दिया कि वह अब उसके साथ और नहीं रह सकेगी क्योंकि गांव में हर शख्स उनके रिश्ते पर सवाल उठा रहा था। इसके बाद प्रेमी ने कथित तौर पर महिला से शादी का प्रस्ताव रखा और उसकी मां से मुलाकात की। उसने प्रेमिका की मां से कहा कि उन्हें येलम्मा मंदिर में शादी की रस्में निभानी होंगी। हालांकि महिला का आरोप है कि बाद में प्रेमी ने उसके घर वालों को उसे देवदासी प्रथा में ढकेलने के लिए राजी कर लिया।

महिला ने बताया कि दो साल पहले उसके चार में से दो भाइयों की मौत बीमारी के कारण छह महीने के अंतराल में हो गई थी। प्रेमी ने महिला की मां को समझाया कि उसके जीवित बचे दोनों बच्चों की भी मौत हो जाएगी अगर महिला और उसकी शादी करवा दी गई। महिला की घबराई मां ने अपने दोनों बेटों की उम्र की सलामती के लिए बेटी को देवदासी बनाना स्वीकार कर लिया। महिला के मामा को बुलवाकर उसके गले में कंठी बांध दी गई और उसे देवदासी बनाकर मंदिर में बैठा दिया गया।

जब वह घर लौटी और उसे एहसास हुआ कि उसके साथ गलत हुआ है तो उसने प्रेमी पर शादी के लिए दबाव डाला। इसके बाद प्रेमी ने उससे साफ कह दिया कि वह दलित समुदाय से है, इसी कारण से वह उससे शादी नहीं कर सकता है। वह चाहें तो पैसा या फिर जमीन ले सकती है। जबकि तालुका के अधिकारी महिला की मां और मामा को देवदासी बनाने का षडयंत्र रचने के आरोप में गिरफ्तार करके ले गए।

बाद में पीड़िता महिला ने कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर रविवार (19 अगस्त) को प्रेमी के घर के सामने धरना दिया। लेकिन वह उससे मिलने के लिए नहीं आया। इसके बाद महिला ने अपनी मां, मामा और अपने प्रेमी के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करवा दिया। पुलिस ने कर्नाटक देवदासी निरोधक अधिनियम, 1982 के तहत महिला की मां, मामा और प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App