scorecardresearch

बैंक मैनेजर को चढ़ा इश्क का भूत, अनदेखी प्रेमिका को भेज दिए ग्राहकों के इतने करोड़

Karnataka: कर्नाटक के एक बैंक मैनेजर को इश्क का ऐसा भूत चढ़ा कि उसने बैंक ग्राहकों की जमा पूंजी के नाम पर करोड़ो रुपए उस प्रेमिका को भेज दिए, जिसे उसने कभी देखा ही नहीं था।

Karnataka, Money Fraud, Fraud Case, Bengaluru crime
तस्वीर का इस्तेमाल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (Photo Credit – Freepik)

कर्नाटक से सामने आए एक अजीबो-गरीब मामले में एक बैंक मैनेजर को गिरफ्तार किया गया है। मैनेजर पर आरोप है कि उसने अपनी ‘अनदेखी प्रेमिका’ को खुश करने के लिए बैंक ग्राहकों के खाते से पैसे उसे (प्रेमिका) भेज दिए लेकिन मैनेजर दंग तब रह गया, जब पता चला कि वह खुद ठगी का शिकार हुआ है। बैंक मैनेजर ने अपने खाते से भी प्रेमिका को पैसे भेजे थे, हालांकि उसे अब गिरफ्तार कर लिया गया है।

जोनल मैनेजर ने दर्ज कराया मामला: कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में पुलिस ने एक बैंक मैनेजर को कथित तौर पर ग्राहकों द्वारा जमा किए गए 5.7 करोड़ रुपए को एक महिला को भेजने के आरोप में गिरफ्तार किया है, जिसे वह केवल एक डेटिंग ऐप के माध्यम से जानता था। पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी की पहचान हरि शंकर के रूप में हुई है, जो इंडियन बैंक की हनुमंतनगर शाखा के प्रबंधक के रूप में काम कर रहा था। इंडियन बैंक के जोनल मैनेजर डीएस मूर्ति द्वारा दर्ज कराए मामले में आरोपी के दो सहयोगियों, सहायक शाखा प्रबंधक कौशल्या जेरई और क्लर्क मुनीराजू को भी संदिग्ध के रूप में नामित किया गया है।

इंटरनल ऑडिट में हुआ खुलासा: इस पूरे मामले का खुलासा एक इंटरनल ऑडिट में हुआ, जो कि 13 से 19 मई के बीच हुआ था। इंडियन बैंक में एक महिला ने हाल ही में एक सावधि जमा (फिक्स्ड डिपाजिट) खोली थी और 1.3 करोड़ रुपए जमा किए थे और इसी रकम पर कर्ज के रूप में 75 लाख रुपए लिए थे। शंकर ने ग्राहक द्वारा जमा किए गए दस्तावेजों का इस्तेमाल कई खातों से 5.7 करोड़ रुपए जारी करने के लिए किया।

कर्नाटक और पश्चिम बंगाल में बैंक खाते: जांच में यह भी सामने आया कि कर्नाटक के दो बैंक खातों से 136 लेन-देन हुए और पश्चिम बंगाल के अलग-अलग बैंकों के 28 खाते इस्तेमाल में लाए गए थे। शंकर ने बैंक से 5.7 करोड़ रुपए भेजे ही बल्कि अपने खाते से भी अनदेखी प्रेमिका को 12.5 लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए। इस मामले में अभी तक इंडियन बैंक केवल एक ही खाते को फ्रीज कर पाया है, जिसमें 7 लाख रुपए ट्रांसफर किए गए थे।

जालसाजों ने बैंक मैनेजर को ठगा: गिरफ्तारी के बाद शंकर ने अपना जुर्म कबूल किया और पुलिस से कहा कि वह खुद साइबर अपराधियों का शिकार हुआ है। शंकर के मुताबिक उसकी युवती से मुलाकात एक डेटिंग ऐप के जरिए हुई थी। वह ‘प्रेमिका’ से कभी मिला नहीं था, केवल कॉल पर ही बात होती थी।

पुलिस के मुताबिक, आरोपी का मोबाइल फोन जब्त कर जांच की जा रही है। आरोपी हरिशंकर को धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश के आरोप में 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X