ताज़ा खबर
 

पहले BJP विधायक के पास महिला को भेजा, फिर अश्लील वीडियो बना करने लगे ब्लैकमेल, 8 बदमाश गिरफ्तार

पुलिस सूत्रों ने कहा कि पुलिस अब इम मामले में यह जांच कर रही है कि कही विधायक और अन्य लोगों को राजनीतिक साजिश के तहत निशाना तो नहीं बनाया गया है। सूत्रों ने कहा कि ऐसा लगता है कि यह एक राजनीतिक साजिश है।

Author बेंगलुरु | Published on: December 6, 2019 4:12 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

कर्नाटक की बेंगलुरु पुलिस ने एक ऐसे गैंग का खुलासा किया है, जिसने पहले बीजेपी विधायक के पास एक महिला को भेजा और उसके बाद अश्लील वीडियो बना लिया। इस हरकत को अंजाम देने के बाद आरोपी बदमाश पीड़ित विधायक को ब्लैकमेल करने लगे। इस गैंग के 8 बदमाश पुलिस के हत्थे चढ़े हैं। पुलिस ने यह कार्रवाई विधायक द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर की थी। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि इस गिरोह ने राजनेता और अधिकारियों समेत कम से कम 12 अन्य लोगों को अपना निशाना बनाया।

पुलिस को राजनीतिक साजिश का शक: पुलिस सूत्रों ने कहा कि पुलिस अब इम मामले में यह जांच कर रही है कि कही विधायक और अन्य लोगों को राजनीतिक साजिश के तहत निशाना तो नहीं बनाया गया है। सूत्रों ने कहा कि ऐसा लगता है कि यह एक राजनीतिक साजिश है लेकिन हम इसके आपराधिक पहलुओं पर ही ध्यान केंद्रित कर जांच को आगे बढ़ा रहे है। पुलिस सूत्रों ने कहा कि ऐसे मामलों में शिकायत दर्ज कराने के लिए हिम्मत चाहिए होती है, इसलिए अभी तक एक ही मामला दर्ज किया गया है और 12 अन्य ऐसे लोग है जो अभी तक सामने नहीं आए है। सूत्रों ने कहा कि राज्य की राजनीति में हो रहे उलट फेर में कथित विधायक शामिल हैं, इनमें कुछ विधायको ने हाल ही में भाजपा ज्वाइन किया है।

Hindi News Today, 06 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

विधायक से 10 करोड़ की मांग की गई थी: बता दें कि  23 नवंबर को दर्ज शिकायत के आधार पर पुलिस ने राघवेंद्र उर्फ रॉकी (35) नाम के एक युवक को गिरफ्तार किया है, जो एक महिला ब्यूटीशियन और छह अन्य लोगों के साथ मिलकर ब्लैकमेल रैकेट चलाता था। पुलिस सूत्रों ने बताया कि विधायक 2017 में इनके चंगुल में फंस गया था। इस दौरान गिरोह ने गुप्त रूप से विधायक का वीडियो बना लिया। लेकिन इस वीडियो का इस्तेमाल कर कुछ दिनों पहले ही विधायक से 10 करोड़ रुपये निकालने की कोशिश की गई थी।

जासूसी कैमरे से रिकॉर्ड किया वीडियो: दरअसल बेंगलुरु के छात्रों के एक समूह से विधायक अपने आवास पर मिलने वाले थे। उसी दौरान गिरोह की महिला इस समूह में शामिल होकर विधायक से मिली और उसे अपने झांसे में ले लिया। विधायक से मिलने के बाद महिला देर रात फोन कॉल, सोशल मीडिया पर चैट के माध्यम से विधायक से बातें करने लगी। पुलिस सूत्रों ने बताया कि महिला ने विधायक से यौन संबंध बनाने से पहले होटल के कमरे में खुफिया कैमरे लगाए थे। महिला ने अपने हैंडबैग और धूप के चश्मे में स्पाई कैमरा भी लगाया था, जिससे विधायक का वीडियो रिकॉर्ड किया गया। वीडियो रिकॉर्ड होने के बाद महिला द्वारा इसे राघवेंद्र को ट्रांसफर कर दिया था।

एक दर्जन लोगों के आपत्तिजनक वीडियो मिले: विधायक ने गिरोह पर 18 नवंबर को जबरन वसूली करने का आरोप लगाया था। पुलिस ने गिरोह को पकड़ने लिए अपने एक साथी राकेश कुमार के द्वारा गिरोह को यह विश्वास दिलाया कि विधायक उनकी मांग को पूरा करने के लिए तैयार है। लेकिन राघवेंद्र को जबरन वसूली की रकम लेने आना होगा। राघवेंद्र की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने लगभग एक दर्जन लोगों के आपत्तिजनक वीडियो के साथ मेमोरी कार्ड और पेन ड्राइव के रूप में डिजिटल रिकॉर्ड जब्त किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पत्नी की बीमारी से तंग था, पति ने जिंदा दफन कर मार डाला; चढ़ा पुलिस के हत्थे
2 संतरी को झांसा देकर सेना की दो राइफल ले उड़े बदमाश, आर्मी पोस्ट पर आधी रात मचा हड़कंप
3 VIDEO: ग्राम प्रधान की बेटी की शादी में नाचना बंद किया तो सरेआम मार दी गोली, स्टेज पर ही गिर पड़ी डांसर
ये पढ़ा क्या?
X