scorecardresearch

अब कानपुर के गर्ल्स हॉस्टल से सामने आया वीडियो कांड, क्लिप शूट करते हुए धराया स्वीपर, FIR दर्ज

Kakadev: चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी लीक वीडियो के बाद अब कानपुर में भी ऐसा मामला सामने आया है। जहां लड़कियों ने एक सफाईकर्मी पर अश्लील वीडियो बनाने का आरोप लगाया है।

अब कानपुर के गर्ल्स हॉस्टल से सामने आया वीडियो कांड, क्लिप शूट करते हुए धराया स्वीपर, FIR दर्ज
चंडीगढ़ के बाद कानपुर में भी अश्लील वीडियो का मामला सामने आया है। (Photo Credit: Twitter/ChauhanArvind)

पंजाब की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी जैसा ही मामला अब यूपी के कानपुर से सामने आया है, जिसमें छात्राओं का आरोप है कि एक सफाईकर्मी उनके हॉस्टल में उनके वीडियो बना रहा था। बताया जा रहा है कि लड़कियों ने सफाईकर्मी को वीडियो बनाते हुए ही पकड़ लिया, जिसके बाद भारी हंगामा मच गया और लड़कियां सीधे पुलिस स्टेशन जा पहुंची।

काकादेव के एक प्राइवेट हॉस्टल की घटना

मामला कानपुर के काकादेव के एक प्राइवेट हॉस्टल का है, जहां कथित तौर पर एक सफाईकर्मी पर लड़कियों के वीडियो बनाने का आरोप है। घटना के समय पकड़ा गया आरोपित पुलिस की हिरासत में और मामला दर्ज कर लिया गया है। बता दें कि ऐसा ही मामला चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की एक छात्रा पर लगा था।

छात्राओं ने लगाए ये आरोप

रावतपुर थाना क्षेत्र के काकादेव के तुलसीनगर में स्थित एक प्राइवेट गर्ल्स हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों का आरोप है आरोपी सफाई कर्मचारी ने बाथरूम में नहाती हुई एक लड़की का वीडियो बनाया है। वहीं, जब उसे पकड़ा गया तो उसके मोबाइल में कई सारे वीडियो थे। लड़कियों का आरोप है कि जब तक आरोपी से फोन लिया गया, तब तक वह कई वीडियो डिलीट कर चुका है। हालांकि, अब मोबाइल पुलिस के पास है।

कल्याणपुर ACP ने कहा- आरोपी कस्टडी में, FIR हो चुकी है दर्ज

कल्याणपुर ACP दिनेश शुक्ला ने इस मामले में जानकारी देते हुए बताया कि कानपुर के एक हॉस्टल में लड़की का वीडियो बनाने का मामला हमारे संज्ञान में आया है। घटना में आरोपी शख्स से पूछताछ जारी है। साथ ही हमने तत्काल प्रभाव से मामले में FIR भी दर्ज की है।

फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया मोबाइल

एसीपी के मुताबिक, आरोपी का मोबाइल फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा जा रहा है। जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे, उनके ही आधार पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बताया जा रहा है तुलसीनगर में स्थित इस प्राइवेट गर्ल्स हॉस्टल का मालिकाना हक किसी पुलिस अधिकारी का है, जो किसी अन्य जिले में सेवा दे रहे हैं।

काकादेव को कहा जाता है कोचिंग हब

आपको बता दें कि कानपुर के काकादेव इलाके को कोचिंग हब कहा जाता है, जिस कारण यहां कई सारे जिलों से छात्र-छात्राएं कोचिंग के लिए आते हैं। छात्र-छात्राएं अपनी जरूरतों के हिसाब से अलग-अलग हॉस्टल में रहते हैं। वैसे ही इस हॉस्टल में विभिन्न जिलों की कई लड़कियां रहती हैं और मेडिकल परीक्षा की तैयारी कर रही हैं।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 29-09-2022 at 08:39:30 pm