ताज़ा खबर
 

Kanpur Encounter News: विकास दुबे की लोकेशन मिलने पर बिजनौर में हड़कंप, चौबेपुर थाने में 10 पुलिसकर्मियों का ट्रांसफर

Kanpur Encounter News: अब एनकाउंटर के दौरान शहीद हुए सीओ देवेंद्र मिश्र की एक चिट्ठी सामने आई है। देवेंद्र मिश्र ने यह चिट्ठी कानपुर के एसएसपी को लिखी थी। इसमें उन्होंने बड़े हमले की आशंका जताई थी।

कानपुर शूटआउट का मुख्यारोपी था विकास दुबे। (फाइल फोटो)

Kanpur Encounter News: कानपुर एनकाउंटर के 3 दिन बाद भी विकास दुबे की तलाश जारी है। इस बीच मामले में अहम खुलासा हुआ है। बदमाश विकास दुबे के संपर्क में चौबेपुर पुलिस थाने के दो दारोगा और एक सिपाही थे। इनकी कॉल डिटेल से खुलासा हुआ है। इसके बाद दारोगा कुंवर पाल और कृष्ण कुमार शर्मा समेत सिपाही राजीव को एसएसपी ने सस्पेंड कर दिया है और मामले की जांच शुरू हो गई है। वहीं कानपुर पुलिस लाइन से 10 पुलिसकर्मियों को चौबेपुर थाने में तैनाती दी गई है। दरअसल विकास को पुलिस की मुखबिरी करने पर थाने के 10 पुलिसकर्मियों से एसटीएफ पूछताछ कर रही है।

इस बीच, सोमवार को विकास दुबे की बिजनौर में लोकेशन मिली। बताया गया कि वह अपने 6 साथियों के साथ स्कॉर्पियो कार में सवार था। उसके साथ एक और स्कॉर्पियो थी। इसके बाद जिले भर में चेकिंग अभियान चलाया गया, लेकिन कहीं गाड़ी नहीं मिली। पुलिस को शक है कि विकास जिले में ही कहीं छिपा है। पुलिस उसका ठिकाना तलाशने में जुटी है। ऐसी भी चर्चा है कि वह साथियों के साथ उत्तराखंड में घुस गया है। हालांकि, ऐसी पुख्ता जानकारी नहीं मिली है।

बता दें कि रविवार को विकास दुबे का करीबी दयाशंकर अग्निहोत्री को पकड़ा गया था। उसने कबूल किया था कि विकास दुबे ने ही पुलिसवालों पर गोली चलाई थी। दयाशंकर ने बताया था कि रेड की खबर विकास को थाने से पता चली थी, जिसके बाद विकास ने 25-30 लोगों को बुलाया था।

एनकाउंटर के दौरान शहीद हुए सीओ देवेंद्र मिश्र की एक चिट्ठी सामने आई है। देवेंद्र मिश्र ने यह चिट्ठी कानपुर के एसएसपी को लिखी थी। इसमें उन्होंने बड़े हमले की आशंका जताई थी। मिश्र ने एसएसपी को लिखी चिट्ठी में कहा था कि उन्होंने थानाध्यक्ष विनय तिवारी को अपराधी विकास दुबे के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया, लेकिन थानाध्यक्ष ने कार्रवाई नहीं की। सीओ ने एसएसपी को यह भी चेताया था कि अगर जल्द कोई कार्रवाई न हुई तो गंभीर घटना हो सकती है।

Weather Forecast Today Live Updates

विकास दुबे को पकड़ने की कोशिशें जारी हैं। इस बीच हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर इनाम की राशि को बढ़ाकर ढाई लाख रुपया कर दिया गया है। पुलिस की कई टीमें इस वक्त विकास की तलाश कर रही है।

Live Blog

Highlights

    06:15 (IST)07 Jul 2020
    योगी राज में अपराध चरम पर : संजय 

    आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह आरोप लगाया, ‘‘योगी आदित्यनाथ के राज में उत्तर प्रदेश में अपराध चरम पर हैं। हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे अभी तक फरार है और योगी की पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर पा रही है।’’ ंिसह ने गत दो/तीन जुलाई की दरमियानी रात को दुबे के गुर्गों द्वारा घात लगाकर किए गए हमले में शहीद हुए पुलिस उपाधीक्षक देवेन्द्र मिश्रा द्वारा 14 मार्च को अपने अधिकारी को लिखे कथित पत्र का जिक्र भी किया जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।उन्होंने कहा कि मिश्रा ने उस पत्र में गम्भीर घटना घटित होने की आशंका जताई थी और चौबेपुर के थाना अध्यक्ष विनय तिवारी और अपराधी विकास दुबे का सच खोला था।

    05:15 (IST)07 Jul 2020
    अपराधी विकास दुबे को राजनीतिक संरक्षण की उच्च न्यायालय के न्यायाधीश से कराई जाए जांच : आप

    आम आदमी पार्टी (आप) ने कानपुर जिले के बिकरू गांव में पिछले हफ्ते आठ पुलिसर्किमयों की हत्या के मास्टरमाइंड विकास दुबे के 60 मुकदमों में वांछित होने के बावजूद खुलेआम घूमने के मामले की उच्च न्यायालय के किसी सेवारत न्यायाधीश से जांच करने की मांग की है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में सवाल उठाया कि दुबे पर 60 मुकदमे दर्ज थे और वह ढाई साल से बाहर घूम रहा था, आखिर उसकी गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई? इसकी उच्च न्यायालय के किसी सेवारत न्यायाधीश से जांच कराई जानी चाहिए ताकि खुलासा हो सके कि दुबे को किसका राजनीतिक संरक्षण प्राप्त था।

    04:47 (IST)07 Jul 2020
    मुठभेड़ में मारे गए पुलिसकर्मी की बेटी ने की मामले की गहराई से जांच की अपील

    कानपुर के बिकरू गांव में पिछले हफ्ते बदमाशों के साथ मुठभेड़ में जान गंवाने वाले पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र मिश्रा की बेटी ने इस मामले की गहराई से जांच कराए जाने की मांग की है। मिश्रा की बेटी वैष्णवी ने सोमवार को संवाददाताओं से कहा कि उसने और उसके चाचा ने देवेंद्र मिश्रा की निजी फाइलें, दस्तावेज और व्हाट्सएप संदेशों को खंगाला है और उन्हें मीडिया के सामने पेश किया है। इसमें वह पत्र भी शामिल है, जो मिश्रा ने तत्कालीन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव तिवारी को लिखा था, जिसमें उन्होंने चौबेपुर के थाना अध्यक्ष विनय तिवारी की शिकायत की थी।

    23:48 (IST)06 Jul 2020
    हिस्ट्रीशीटर की तलाश अब भी जारी

    कानपुर में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी विकास दुबे के सोमवार को बिजनौर में होने की सूचना मिली। इसके बाद पुलिस ने घेराबंदी की। आला अधिकारी और फोर्स सड़क पर उतर आई। बिजनौर की सीमाएं सील कर दी गईं। पुलिस कप्तान खुद दल-बल के साथ पहुंचे। हर वाहन की तलाशी ली गई। हालांकि, चार घंटे की मशक्कत के बाद भी विकास दुबे का पता नहीं चल सका।

    23:30 (IST)06 Jul 2020
    एसएसपी ने नजरअंदाज की सभी जानकारियां

    कानुपर एनकाउंटर में शहीद सीओ देवेंद्र मिश्रा द्वारा एसएसपी को लिखे पत्र के वायरल होने के बाद वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने तत्कालीन एसएसपी की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने डीजीपी को पत्र लिखकर घटना की जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि प्रकरण में तत्कालीन एसएसपी की भूमिका भी सही नहीं है। क्षेत्राधिकारी ने तत्कालीन थानाध्यक्ष विनय तिवारी और विकास दुबे को लेकर पूरी जानकारियां एसएसपी को दी थीं, लेकिन एसएसपी ने उन सभी को नजरअंदाज कर दिया था।

    22:36 (IST)06 Jul 2020
    पुलिस ने ही की थी रेड की मुखबिरी

    बता दें कि मामले में रविवार को विकास दुबे का करीबी दयाशंकर अग्निहोत्री पकड़ा गया था। उसने कबूल किया था कि विकास दुबे ने ही पुलिसवालों पर गोली चलाई थी। दयाशंकर ने बताया था कि छापेमारी की खबर विकास को थाने से पता चली थी। जिसके बाद विकास ने 25-30 लोगों को बुलाया था। वे सभी लोग हथियारों से लैस थे।

    21:48 (IST)06 Jul 2020
    हर दिन हो रहे नए खुलासे

    पुलिस बिकरू गांव स्थित विकास दुबे के घर के बगले में बने कुएं का पानी निकलवा रही है। पुलिस को शक है कि विकास दुबे और उसके गुर्गों ने कहीं इसी कुएं में तो हथियार और कुछ अन्य सबूत फेंक तो नहीं दिए हैं। विकास दुबे अभी फरार चल रहा है। उत्तर प्रदेश पुलिस उसकी तलाश में जुटी है। पुलिस ने विकास दुबे के सिर पर ढाई लाख का इनाम घोषित किया है। सूबे के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने पहले विकास दुबे पर 50 हजार का इनाम घोषित किया था। फिर इसे एक लाख किया गया। अब इसे बढ़ाकर ढाई लाख रुपये कर किया गया है। मामले में हर दिन नए-नए खुलासे हो रहे हैं।

    20:37 (IST)06 Jul 2020
    मध्य प्रदेश की पुलिस को किया गया सतर्क

    उत्तर प्रदेश के कानपुर में आठ पुलिस जवानों की हत्या करने वाले हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की तलाश में अब भी यूपी पुलिस छापेमारी कर रही है। विकास दुबे के कई करीबियों से पूछताछ और गिरफ्तारी के बाद भी पुलिस के हाथ अब तक खाली हैं। इस बीच सोमवार को उससे जुड़ी कुछ जानकारी पुलिस को मिली है। जानकारी के अनुसार, विकास दुबे मध्य प्रदेश के ग्वालियर-चंबल अंचल में होने की संभावना जताई जा रही हैं। इसके चलते इस क्षेत्र की पुलिस को सतर्क कर दिया गया है। अभियुक्त विकास दुबे पर यूपी सरकार ने ढाई लाख का इनाम घोषित किया है।

    20:12 (IST)06 Jul 2020
    पूर्व सांसद ने किया कटाक्ष

    कानपुर के चौबेपुर में हुई मुठभेड़ को 80 घंटे से ज्यादा हो चुके हैं, लेकिन अब तक पुलिस के हाथ हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। इस बीच, फतेहपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद रहे राकेश सचान ने पुलिस पर कटाक्ष किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, पहले जनता के ढूँढ़ने पर विकास नहीं मिल रहा था अब तो पुलिस के ढूंढ़ने पर भी नहीं मिल रहा।

    20:07 (IST)06 Jul 2020
    दाऊद इब्राहिम जैसा न हो हाल

    संपादकीय में लिखा गया है, मुख्य आरोपी विकास दुबे का एक सहयोगी गिरफ्तार हुआ है जबकि वह खुद फरार है। ऐसी खबरें हैं कि दुबे घटना के बाद नेपाल फरार हो गया है। मराठी मुखपत्र ‘सामना’ में कहा गया कि भारत का संबंध नेपाल के साथ अभी अच्छा नहीं है। संपादकीय में यह उम्मीद जताई गई है कि भारत के लिए दुबे नेपाल में दाऊद जैसा न साबित हो। मुखपत्र में प्रत्यक्ष तौर पर दाऊद का जिक्र उन खबरों के हवाले से किया गया जिनमें यह बताया गया है कि दाऊद इब्राहीम भारत से भागने के बाद पाकिस्तान में रह रहा है। शिवसेना ने कहा, ‘कानपुर में पुलिसकर्मियों की हत्या ने एनकाउंटर स्पेशलिस्ट उत्तर प्रदेश सरकार की पोल खोल दी।’

    19:42 (IST)06 Jul 2020
    मुुखपत्र में लिखा संपादकीय

    शिवसेना ने सोमवार को कहा कि कानपुर मुठभेड़ ने ‘एनकाउंटर स्पेशलिस्ट’ उत्तर प्रदेश सरकार की पोल खोल दी है। इस घटना से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के राज्य में गुंडई खत्म करने के दावे पर सवाल खड़े हो गए हैं। कानपुर में मुठभेड़ में छह पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी। शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में कहा गया कि ‘उत्तम प्रदेश’ अब पुलिसकर्मियों के खून से रक्तरंजित है और इस घटना ने देश को स्तब्ध कर दिया है। पिछले सप्ताह कानपुर के निकट एक गांव में एक पुलिस उपाधीक्षक समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या गैंगेस्टर विकास दुबे के गुंडों ने कर दी।

    19:16 (IST)06 Jul 2020
    पुुुलिस ने तेज किया वाहन चेकिंग अभियान

    कानपुर की चकेरी पुलिस ने कुख्यात अपराधी विकास दुबे की तलाश में उन्नाव के अजगैन थाना क्षेत्र में स्थित टोल प्लाजा पर पोस्टर लगाकर उसकी तलाश तेज कर दी है। इस संबध में उन्नाव पुलिस ने कहा कि चकेरी पुलिस द्वारा यह पोस्टर लगाए गया है। उन्नाव जिले की पुलिस कानपुर में घटे अपराध के बाद से ही चौकस है। लगातार क्षेत्राधिकारियों की मौजूदगी में विभिन्न थानों की पुलिस सीमा पर वाहन चेकिंग अभियान चला रही है। टोल प्लाजा पर जांच कर रहे अजगैन इंसपेक्टर अरविन्द सिंह ने बताया कि पोस्टर चकेरी पुलिस द्वारा लगाया गया है।

    18:32 (IST)06 Jul 2020
    शहीद सीओ ने की थी विनय तिवारी को हटाने की सिफारिश

    शहीद सीओ देवेंद्र मिश्रा की बेटी वैष्णवी ने कहा कि वह पुलिस में भर्ती होकर अपने पिता की हत्या का बदला जरूर लूंगी। उन्होंने कहा कि यह हत्याकांड एक बड़ी साजिश है। वैष्णवी ने मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की। जिससे साजिश का पर्दाफाश हो सके। सूत्रों के मुताबिक, देवेंद्र मिश्रा ने पहले ही उच्चाधिकारियों से चौबेपुर के निलंबित एसएचओ विनय तिवारी को हटाने की सिफारिश की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई थी।

    17:43 (IST)06 Jul 2020
    चौबेपुर थाना प्रभारी विनय तिवारी पहले ही हो चुके हैं सस्पेंड

    पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जांच में यह जानकारी सामने आई है कि विकास दुबे के खिलाफ कार्रवाई से पहले चौबेपुर थाने से इसकी जानकारी लीक गई थी। मामले में चौबेपुर थाना प्रभारी विनय तिवारी पहले सस्पेंड किए जा चुके हैं। सोमवार को शुरुआती जांच में ड्यूटी में लापरवाही बरतने के कारण थाने के एसआई कुंवर पाल सिंह, कृष्ण कुमार शर्मा और सिपाही राजीव को सस्पेंड कर दिया गया। बताया जा रहा है कि तीनों विकास के संपर्क में थे। हालांकि, विभाग की ओर से इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

    17:29 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News: एनकाउंटर से पहले विकास दुबे के पास थी करोड़ों की नगदी

    एक चर्चा ये भी है कि विकास दुबे के पास करोड़ों की नकदी और जेवरात थे। उसको वह ठिकाने लगाने का इंतजाम कर रहा था, तभी पुलिस के आने की सूचना मिली। यही वजह है कि उसने भागने के बजाए मोर्चा लेने की ठीन ली और वारदात को अंजाम दिया। 

    17:15 (IST)06 Jul 2020
    विकास के नाम पर कानपुर, लखनऊ में करोड़ों की संपत्तियां

    कानपुर पुलिस के मुताबिक शिवली के शोभन में विकास ने अपने भाई दीपू दुबे के नाम करीब 20 बीघा जमीन खरीदी थी। बिकरू, दिलीपनगर, कांशीराम निवादा, बिल्हौर, चौबेपुर कस्बा, बिठूर व कल्याणपुर में भी उसके व रिश्तेदारों के नाम पर प्लाट व खेत हैं। इन जमीनों की कीमत 50 करोड़ रुपये से अधिक बताई जा रही हैं। शहर के कल्याणपुर क्षेत्र में मकड़ीखेड़ा व काकादेव के साथ ही लखनऊ के इंदिरानगर में उसके मकान हैं। इन मकानों की कीमत भी करीब पांच से सात करोड़ रुपये बताई जा रही है। इसके अलावा विकास, उसकी पत्नी रिचा, बच्चों, भाइयों, पिता, मां और अन्य रिश्तेदारों के नाम पर भी कई संपत्तियां व जमीनें हैं।

    16:58 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News: विकास दुबे के मददगार थे बीजेपी नेता- पुराने VIDEO से खुले राज

    आरोपी विकास दुबे का 3 साल पुराना एक वीडियो वायरल सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। ये वीडियो 2017 का बताया जा रहा है। इस वीडियो में पुलिस विकास दुबे से पूछताछ कर रही है। इसमें विकास दुबे ने दो विधायकों समेत कई नेताओं का नाम लिया है जो उसकी मदद करते हैं। इन विधायकों के नाम भगवती सागर और अभिजीत सिंह सांगा है, ये दोनों बीजेपी के विधायक हैं। हालांकि अभी इस वीडियो की कोई पुष्टि हीं हुई है। जनसत्ता डॉट कॉम भी इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है। 

    16:40 (IST)06 Jul 2020
    विनय तिवारी को भी संस्पेंड किया जा चुका है

    हिस्ट्रीशीटर विकास को इस बात की जानकारी थी कि पुलिस की टीमें दबिश देने के लिए आ रही हैं। विकास ने अपने साथियों के साथ मिलकर पुलिस पर हमले का प्लान तैयार कर लिया था। विकास को पुलिस के हर मूवमेंट की जानकारी मिल रही थी। उस तक यह सूचना कौन पहुंचा रहा था, इसकी जांच चल रही है. इससे पहले चौबेपुर थानाध्यक्ष विनय तिवारी को भी संस्पेंड किया जा चुका है।

    16:29 (IST)06 Jul 2020
    सीओ की चिट्ठी पर कार्रवाई क्यों नहीं हुई?

    यूपी के कानपुर एनकाउंटर को लेकर एक बहुत बड़ा खुलासा हुआ है। अब एनकाउंटर के दौरान शहीद हुए सीओ देवेंद्र मिश्रा की एक चिट्ठी सामने आई है। देवेंद्र मिश्रा ने यह चिट्ठी कानपुर के एसएसपी को लिखी थी. इसमें उन्होंने बड़े हमले की आशंका जताई थी। मिश्रा ने एसएसपी को लिखी चिट्ठी में कहा था कि उन्होंने थानाध्यक्ष विनय तिवारी को अपराधी विकास दुबे के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया, लेकिन थानाध्यक्ष ने कार्रवाई नहीं की. सीओ ने एसएसपी को यह चेताया भी था कि अगर जल्द कोई कार्रवाई न हुई तो गंभीर घटना हो सकती है।

    16:01 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News: पहले सीओ को मारी गोली

    कानपुर एनकाउंटर को लेकर कई खुलासे हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि विकास को गिरफ्तार करने और एसओ विनय तिवारी की लापरवाहियों को सामने लाने के लिए गुरुवार रात ऑपरेशन के लिए सीओ ने एक टीम तैयार की थी। इसके लिए जिले के सीनियर अधिकारियों से अनुमति ली गई। हालांकि जोश के बीच बड़ी रणनीतिक चूक हुई। सीओ पुलिस टीम का नेतृत्व करते हुए सबसे आगे थे। विकास ने अपनी बंदूक से सबसे पहले सीओ को निशाना बनाकर गोली मारी। रविवार सुबह विकास के गुर्गे दयाशंकर ने भी कबूला कि विकास ने फायरिंग की थी।

    15:56 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News: धरा गया अनुपम दुबे, असलहे बरामद

    कानपुर के चौबेपुर क्षेत्र में स्थित बिकरू गांव में कुख्यात अपराधी विकास दुबे व उसके साथियों द्वारा 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद पूरी उत्तर प्रदेश की पुलिस उसकी तलाश में है। इसी क्रम में मिश्रिख इलाके के नैमिष में रविवार को चेकिंग के दौरान पुलिस ने दो लग्जरी गाड़ियों से 9 असलहे और 150 कारतूस बरामद किया। असलहों में 6 रायफल, एक बंदूक और दो पिस्टल हैं। दोनों गाड़ियों से 13 लोग हिरासत में लिए गए। सूत्रों के अनुसार इनमें विकास दुबे का रिश्तेदार अनुपम दुबे और उसके दोस्त हैं। उसके खिलाफ फर्रूखाबाद जिले समेत कई थानों में 30 संगीन मामले दर्ज हैं। इनमें हत्या तक के केस भी हैं। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि अनुपम दुबे BSP का नेता है और विकास दुबे का दूर का रिश्तेदार भी है।

    15:22 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live: तीन दिन बाद भी विकास दुबे का पता नहीं, तलाश जारी

    कानपुर एनकाउंटक के 3 दिन बाद भी विकास दुबे की तलाश जारी है। इस बीच कानपुर शूटआउट में अहम खुलासा हुआ है। बदमाश विकास दुबे के संपर्क में चौबेपुर पुलिस थाने के दो दारोगा और एक सिपाही थे। इनकी कॉल डिटेल से खुलासा हुआ है। इसके बाद दारोगा कुंवर पाल और कृष्ण कुमार शर्मा समेत सिपाही राजीव को एसएसपी ने सस्पेंड कर दिया है और मामले की जांच शुरू हो गई है। गौरतलब है कि कल यानी रविवार को विकास दुबे का करीबी दयाशंकर अग्निहोत्री पकड़ा गया था। उसने कबूल किया था कि विकास दुबे ने ही पुलिसवालों पर गोली चलाई थी। दयाशंकर ने बताया था कि रेड की खबर विकास को थाने से पता चली थी, जिसके बाद विकास ने 25-30 लोगों को बुलाया था।

    15:00 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: तीन पुलिसकर्मी निलंबित

    कानपुर एनकाउंटर मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए एसएसपी कानपुर दिनेश कुमार पी ने तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। चौबेपुर में तैनात दरोगा कुंवर पाल, दरोगा कृष्ण कुमार शर्मा और सिपाही राजीव को निलंबित किए गए हैं। इन तीनों की कॉल डिटेल्स में विकास दुबे का नंबर मिलने पर कार्रवाई हुई है।

    14:32 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: शहीद CO की चिट्ठी से खुलासा, पुलिस पर हमले का जताया था शक

    यूपी के कानपुर एनकाउंटर को लेकर एक बहुत बड़ा खुलासा हुआ है। अब एनकाउंटर के दौरान शहीद हुए सीओ देवेंद्र मिश्रा की एक चिट्ठी सामने आई है। देवेंद्र मिश्रा ने यह चिट्ठी कानपुर के एसएसपी को लिखी थी। इसमें उन्होंने बड़े हमले की आशंका जताई थी। मिश्रा ने एसएसपी को लिखी चिट्ठी में कहा था कि उन्होंने थानाध्यक्ष विनय तिवारी को अपराधी विकास दुबे के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया, लेकिन थानाध्यक्ष ने कार्रवाई नहीं की। सीओ ने एसएसपी को यह चेताया भी था कि अगर जल्द कोई कार्रवाई न हुई तो गंभीर घटना हो सकती है।

    14:19 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: यूपी बॉर्डर पर हाईअलर्ट

    यूपी की सीमाओं को सील कर दिया गया है। नेपाल बॉर्डर पर भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। विकास की अंतिम लोकेशन पुलिस ने औरैया में ट्रेस की थी। पुलिस अधिकारी ये बता रहे हैं कि वो यूपी की सीमाओं को सील करने से पहले ही यूपी छोड़ चुका था। 

    13:43 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: विकास दुबे ने घर की दीवारों में चुनवा रखे थे हथियार...

    पुलिस ने बिकरू गांव में विकास के मकान को जमींदोज कर दिया है। उसके घर से भारी मात्रा में असलहा बारूद मिला है। पुलिस ने उसके घर की दीवारों में चुने हुए हथियार भी बरामद किए है। पुलिस ने विकास के बैंक खातों को सीज कर उसके संपत्तियों की जांच शुरू कर दी है।

    13:29 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: खुलासा! लॉकडाउन में मोस्टवांटेड के घर में पुलिस के लिए बनता था खाना

    लॉकडाउन में शिवली बार्डर पर बिकरु गांव के मोड़ के पास सीमा सील की गई थी। जहां दरोगा केके शर्मा के साथ पुलिस बल तैनात था। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इन तीन महीनों के दौरान लॉकडाउन में बार्डर पर तैनात चौबेपुर पुलिस के लिए खाना मोस्टवांटेड विकास के घर में ही बनता था। हर फरमाइश पूरी होती थी। जो पुलिसकर्मी नॉनवेज के शौकीन थे उनके लिए विकास की टीम में शामिल मदारीपुरवा के राम सिंह के घर पर दावत होती थी। पुलिस टीम पर हमला करने वालो में रामसिंह भी नामजद हैं।

    13:06 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: विकास दुबे पर बढ़ाई गई इनाम की राशि

    विकास दुबे को पकड़ने की कोशिशें जारी हैं। इस बीच हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर इनाम की राशि को बढ़ाकर ढाई लाख रुपया कर दिया गया है। पुलिस की कई टीमें इस वक्त विकास की तलाश कर रही है।

    12:47 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: विकास दुबे के भाई के घर से मिली सरकारी एंबेसडर, केस दर्ज

    लखनऊ में विकास दुबे के भाई के घर से बरामद सरकारी एंबेसडर गाड़ी में नया मोड़ आया है। लखनऊ पुलिस ने विकास दुबे और भाई दीप प्रकाश दुबे पर एक और मुकदमा दर्ज किया है। दोनों पर रंगदारी और वसूली का एक और मुकदमा दर्ज हुआ है। आरोप है कि विकास दुबे और उसके भाई प्रकाश दुबे ने धमकाते हुए एंबेसडर गाड़ी को विनीत पांडेय नाम के व्यक्ति से जबरन छीन लिया था, जिसके बाद पीड़ित के द्वारा तहरीर देकर मुकदमा दर्ज किया गया है।

    12:34 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: विकास दुबे के सिर पर खून सवार था

    दयाशंकर ने पुलिस को बताया कि विकास के पास रात आठ बजे थाने से किसी का फोन आया था। फोन करने वाले ने विकास को बताया था कि देर रात पुलिस उसके यहां दबिश देकर उसे पकड़ने वाली है। इतना सुनते ही विकास के सिर पर खून सवार हो गया था।

    12:02 (IST)06 Jul 2020

    12:00 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: विकास दुबे के घर में कौन-कौन हैं? पढ़ें

    विकास दुबे के घर में कौन-कौन हैं? पढ़ेंस से पूछताछ में उसने बताया कि उसके परिवार को दो बेटियां और पत्नी है। पत्नी का नाम रेखा दो बेटियां मुस्कान और महक है। पूछताछ के दौरान दयाशंकर ने बताया कि 3 साल की उम्र में ही उसके माता-पिता का निधन हो गया था, जिसके बाद से उसे विकास दुबे के माता-पिता ने पाला और शादी विवाह कराया। वह उनके घर में रहकर खाना बनाने और पशुओं को चारा पानी करने का काम करता था। दयाशंकर ने बताया कि घटना के दिन चौबेपुर थाने से विकास के मोबाइल पर रात करीब 8:30 बजे एक फोन आया।

    11:36 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: वांछित अपराधियों की सूची हो रही अपडेट

    विकास दुबे और उसके सहयोगियों द्वारा पुलिस टीम पर किए गए दुस्साहसिक हमले के बाद अब अपराधियों का मनोबल तोड़ने पर फोकस किया जाएगा। डीजीपी मुख्यालय के निर्देश पर सभी जिलों में पुलिस चिह्नित अपराधियों की सूची को अपडेट करने में जुटी है। इसके साथ ही इन अपराधियों के काले कारोबार का भी ब्योरा खंगाला जा रहा है। बड़े शहरों में सक्रिय ज्यादातर माफिया और अपराधी जमीनों के कारोबार से जुड़े हैं।

    11:19 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: एनकाउंटर की रात थाने से आया था बिजली काटने का फऱमान? जांच जारी

    विकास को पकडऩे के लिए कानपुर पुलिस जब 3 जुलाई की रात के अंधेरे में चौबेपुर थाने के बिकरू गांव पहुंची, उससे ठीक पहले ही लाइनमैन ने बिकरू गांव की बिजली काट दी। घोर अंधेरे में पुलिस को लोकेशन समझ में नहीं आयी। इसी दौरान पुलिस गोलियों का शिकार हो गई। यूपी एसटीएफ की जांच में इस बात का भी खुलासा हुआ है। बताया जाता है कि चौबेपुर थाने से शिवली सब स्टेशन पर फोन कर गांव की लाइट काटने को कहा था। इसकी पुष्टि एक बिजली कर्मचारी ने की है। शिवली पॉवरहाउस के एक जेई और लाइन मैन को एसटीएफ ने हिरासत में लिया है। पता चला है कि फोन करने वाले ने खुद को पुलिसकर्मी बताकर कहा था कि गांव में बड़ा कांड हो गया है बिजली काट दो। इसके बाद लाइनमैन मोनू ने बिजली काट दी। एसटीएफ की जांच में यह नंबर चौबेपुर थाने का निकला है।

    11:00 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: बड़ी कार्रवाई! 2 दारोगा 1 सिपाही सस्पेंड, विकास दुबे के संपर्क में थे

    बदमाश विकास दुबे के संपर्क में चौबेपुर पुलिस थाने के दो दारोगा और एक सिपाही थे। इनकी कॉल डिटेल से इस बात का खुलासा हुआ है। इसके बाद दारोगा कुंवर पाल और कृष्ण कुमार शर्मा समेत सिपाही राजीव को एसएसपी ने सस्पेंड कर दिया है और मामले की जांच शुरू हो गई है। बता दें कि रविवार को विकास दुबे का करीबी दयाशंकर अग्निहोत्री पकड़ा गया था। उसने कबूल किया था कि विकास दुबे ने ही पुलिसवालों पर गोली चलाई थी। दयाशंकर ने बताया था कि रेड की खबर विकास को थाने से पता चली थी, जिसके बाद विकास ने 25-30 लोगों को बुलाया था। यह सभी लोग हथियारों से लैस थे।

    10:51 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: राहगीरों को विकास की तस्वीर दिखा पता पूछ रही पुलिस

    विकास दुबे पर 1 लाख रुपये के इनाम की घोषणा करने के बाद भी अब तक उसका कुछ पता नहीं चल सका है। विकास की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने धड़पकड़ तेज कर दिए। कानपुर में पुलिस राह चलते लोगों को विकास दुबे की तस्वीर दिखाकर पूछ रही है। विकास के परिवार के लोगों समेत करीब 500 करीबियों के मोबाइल फोन पुलिस ने सर्विलांस पर ले रखे हैं। उसके करीबी पुलिसकर्मियों की भी निगरानी की जा रही है। यूपी के सभी जिलों में विकास दुबे और उसके साथियों की गिरफ्तारी के लिए अलर्ट जारी कर दिया गया है।

    10:23 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: 'अवैध शराब का धंधा और सरकारी राशन पर कब्जा', विकास का गुर्गा उगल रहा राज़

    पुलिस के हत्थे गैंगस्टर विकास दुबे का गुर्गा चढ़ा है, जो कानपुर एनकाउंटर की रात उसके साथ था। गिरफ्तारी के बाद दयाशंकर अग्निहोत्री ने विकास दुबे के कई राज खोल दिए हैं। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दयाशंकर ने बताया कि कैसे राशन कोटे के आवंटन में विकास दुबे की मनमर्जी चलती थी और कैसे वह बाग में बदमाशों के साथ मीटिंग करता था? पुलिस पूछताछ में दयाशंकर अग्निहोत्री ने बताया कि विकास दुबे का अवैध शराब का काम था। पुलिस मुठभेड़ में मारा गया बदमाश अतुल दुबे इस काम को संभालता था। इसके साथ ही शिवराजपुर ब्लॉक के राशन कोटे का आवंटन भी विकास की मर्जी से ही होता था. राशन डीलर उसके हिसाब से काम करते थे। दयाशंकर अग्निहोत्री ने बताया कि अगर कोई कोटेदार आनाकानी करता तो विकास दुबे अपने रसूख से राशन डीलर का लाइसेंस निरस्त करवा देता था।

    10:13 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: हिस्ट्रीशीटर की तलाश! विकास दुबे का पोस्टर चिपकाया

    हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की तलाश में पुलिस चप्पे-चप्पे को खंगाल रही है। उन्नाव टॉल प्लाजा पर विकास दुबे का पोस्टर लगाया गया है ताकि उसकी पहचान की जा सके।

    09:49 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News Live Updates: पत्नी के नाम अकूत संपत्ति

    पुलिस अब विकास और उसके परिवार वालों की संपत्ति का ब्योरा जुटा रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक विकास की अधिकतर संपत्ति, घर, फ्लैट समेत अन्य जायदाद पत्नी के नाम है। ये संपत्ति कई करोड़ की है। पुलिस प्रशासन मिलकर इसका पूरा लेखाजोखा जुटा रहा है।

    09:25 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News: खुलासा! विकास दुबे की पत्नी का राजनीति में था दबदबा

    रिचा दुबे जिला पंचायत सदस्य है। कहा जा रहा है कि राजनीति में उसका दबदबा सिर्फ विकास के दम पर है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक वह विकास के अपराधों पर पर्दा डालती आई है। विकास कहां और किस घटना में शामिल है उसे पता रहता था। शक है कि राजनीति में आगे बढ़ने के लिए रिचा पति विकास का साथ देती थी। पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि बिकरू वाले घर में लगे कैमरे रिचा ने अपने मोबाइल से कनेक्ट कर रखे हैं। यहां की हर गतिविधि पर वो लखनऊ से नजर रखती थी। जब भी पुलिस घर से पकड़ती वह फुटेज वायरल कर देती थी। पुलिस इन सभी तथ्यों की बारीकी से जांच कर रही है।

    09:21 (IST)06 Jul 2020
    Kanpur Encounter News: विकास दुबे की पत्नी रिचा को लेकर हुआ बड़ा खुलासा

    दहशतगर्द विकास दुबे के काले कारनामों की जानकारी उसकी पत्नी रिचा दुबे को भी है। इसलिए वह बच्चों के साथ लखनऊ में अलग रहती थी ताकि उसे या बच्चों पर कोई आंच न आए। हालांकि पर्दे के पीछे रहकर वह विकास का साथ देती थी। जब भी पुलिस विकास को घर से गिरफ्तार करती, पत्नी सीसीटीवी कैमरे की रिकार्डिंग सोशल मीडिया पर वायरल कर देती। ऐसा वह एनकाउंटर के डर से करती थी। पुलिस को इस संबंध में कई साक्ष्य मिले हैं। रिचा भी अब पुलिस के रडार पर है।

    08:50 (IST)06 Jul 2020
    विकास दुबे के समर्थन में किया पोस्ट, गिफ्तार

    बागपत में विकास दुबे के पक्ष में सोशल साइट पर पोस्ट डालना एक युवक को महंगा पड़ गया। युवक ने एक समाज को भड़काने और मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के विरोध में भी पोस्ट डाला था, जो वायरल हो गया। इसके बाद पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

    08:12 (IST)06 Jul 2020
    लखनऊ में विकास दुबे और उसके भाई के खिलाफ केस दर्ज

    लखनऊ के कृष्णा नगर पुलिस स्टेशन में जबरन वसूली के आरोप में विकास दुबे और उसके भाई दीप प्रकाश दुबे के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

    07:15 (IST)06 Jul 2020
    चौबेपुर थाने से विकास दुबे को सूचना दी गई थी, उसने पहले से तैयारी कर ली थी

    पकड़े गये बदमाश दया शंकर अग्निहोत्री ने अस्पताल में संवाददाताओं के सामने कहा कि दो/तीन जुलाई की रात को बिकरू गांव में वारदात से पहले उसके आका विकास दुबे के पास चौबेपुर थाने से किसी का फोन आया था, जिसके बाद उसने पुलिस से सीधे टक्कर लेने के लिये उसे तथा अन्य साथियों को फोन करके अपने घर बुलाया था। उसका यह बयान ऐसे वक्त आया है, जब चौबेपुर के थानाध्यक्ष विनय तिवारी को मुखबिरी के आरोप में निलंबित कर दिया गया है।

    06:23 (IST)06 Jul 2020
    वारदात से पहले बिजली आपूर्ति बंद करने वाले से पुलिस कर रही है पूछताछ

    कानपुर पुलिस उस व्यक्ति से पूछताछ कर रही है जिसने वारदात से ऐन पहले बिकरू गांव की विद्युत आपूर्ति बंद की थी। सूत्रों के मुताबिक उस व्यक्ति ने स्वीकार किया है कि उसने चौबेपुर थाने से कॉल आने के बाद विद्युत आपूर्ति बंद की थी। पुलिस ने संबंधित विद्युत उपकेंद्र के उप मंडलीय अधिकारी तथा एक अन्य कर्मचारी को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है।

    04:38 (IST)06 Jul 2020
    पुलिस हत्याकांड के मास्टरमाइंड का गुर्गा गिरफ्तार : कहा ‘थाने से आये फोन के बाद हुई वारदात’

    कानपुर में आठ पुलिसर्किमयों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे के एक इनामी गुर्गे को रविवार को कल्याणपुर में मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया।अपर पुलिस अधीक्षक (पश्चिमी) अनिल कुमार ने बताया कि दुबे के गुर्गे दया शंकर अग्निहोत्री को कल्याणपुर में पुलिस से मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पैर में गोली लगी है। उसे लाला लाजपत राय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित था।

    22:37 (IST)05 Jul 2020
    विकास दुबे पर ईनामी रकम बढ़ा की गई 1 लाख रुपए

    कानपुर में हुए एनकाउंटर के बाद वांछित विकास दुबे की तलाश जारी है। पुलिस की 25 टीमें विकास को खोजने में जुटी हुई हैं। करीब 100 जगहों पर विकास को दबोचने के लिए छापेमारी की गई है। विकास के सिर पर पुलिस ने इनाम की राशि को बढ़ा दिया है। अब उसपर 1 लाख रुपए का इनाम घोषित कर दिया गया है। विकास की तलाश को लेकर जो सर्विलांस टीम बनाई गई है उसने करीब 500 मोबाइल फोन को स्कैन किया है। हालांकि इन तमाम प्रयासों के बावजूद विकास दुबे अब तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

    22:02 (IST)05 Jul 2020
    पुलिस वाले ने भी लीक की थी रेड की खबर- पुलिस

    पुलिस की जांच में सामने आया है कि चौबेपुर थाने के ही एक दारोगा ने विकास को पुलिस के आने की जानकारी पहले दी थी। शक के घेरे में एक दारोगा, एक सिपाही और एक होमगार्ड हैं। तीनों की कॉल डिटेल के आधार पर उनसे पूछताछ की जा रही है। अब यह भी खबर सामने आ रही है कि गुरुवार को पुलिस वालों की हत्या की खबर मिलने के बाद जब पुलिसकर्मी वहां पहुंचे तो पुलिस वालों के शव एक के ऊपर एक पड़े हुए थे। सभी शवों को जलाने के लिए घर में मौजूद ट्रैक्टर से तेल निकाला जा रहा था। तभी पुलिस की दूसरी टीम मौके पर पहुंच गई और बदमाश वहां से भाग निकले।

    20:02 (IST)05 Jul 2020
    उप्र पुलिस ने कुख्यात अपराधी हरीश बालियान की तलाश शुरू की

    कानपुर मुठभेड़ में आठ पुलिसकर्मियों के मारे जाने के बाद मुजफ्फरनगर जिला पुलिस ने कुख्यात अपराधी हरीश बालियान की तलाश शुरू कर दी है। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। अपराधी हरीश बालियान पर दो लाख रुपये का इनाम है। जिले के भौराकला थाने के पुलिस अधिकारियों की एक टीम उसकी तलाश में है। मुजफ्फरनगर के एसएसपी अभिषक यादव के अनुसार, इस अपराधी की, हत्या और लूट समेत 30 से अधिक मामलों में तलाश है और वह कई वर्षों से फरार चल रहा है।

    19:42 (IST)05 Jul 2020
    नक्सलियों जैसा था विकास दुबे का रवैया- कानपुर पुलिस
    Next Stories
    1 लखनऊ: थाने के अंदर हवालात में युवक ने लगाई फांसी, मचा हड़कंप; 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड
    2 UP Kanpur Encounter: नेताओं-अपराधियों संग गठजोड़ से पुलिस ने गंवाया इकबाल
    3 UP Kanpur Encounter: कानपुर ही नहीं इन जिलों में भी इसी रात चल रहा था एनकाउंटर, कहीं ढेर हुआ अपराधी तो कहीं शहीद हो गए पुलिसवाले
    ये पढ़ा क्या?
    X