ताज़ा खबर
 

कमलेश तिवारी हत्याकांड में Zomato का डिलीवरी ब्वॉय गिरफ्तार, कंपनी ने कहा- दोषी के खिलाफ हो कड़ी कार्रवाई, ऐसे लोग कतई बर्दाश्त नहीं

Kamlesh Tiwari Murder Case, Zomato dDelivery Boy: गुजरात एटीएस द्वारा राजस्थान के साथ लगी राज्य की सीमा के पास एक स्थान से कमलेश तिवारी के हत्यारे अशफाक हुसैन और मोइनुद्दीन पठान की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया पर जोमैटो ट्रोल किया गया।

Author लखनऊ | Updated: October 23, 2019 8:28 PM
हिंदू महासभा के पूर्व नेता कमलेश तिवारी की हत्या कर भागते बदमाश। फोटो सोर्स: सोशल मीडिया

Kamlesh Tiwari Murder Case, Zomato dDelivery Boy: हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्या मामले में अपने एक डिलिवरी ब्वाय की गिरफ्तारी के बाद ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो ने बुधवार को कहा कि कानून तोड़ने वाले किसी के लिए भी उसकी कंपनी में कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति है और दोषी के खिलाफ तेजी से कार्रवाई होनी चाहिए।

जोमैटो के डिलीवरी ब्यॉय निकले हत्यारे: गुजरात पुलिस के आतंक रोधी दस्ते (ATS) द्वारा राजस्थान के साथ लगी राज्य की सीमा के पास एक स्थान से दो कथित हत्यारे अशफाक हुसैन और मोइनुद्दीन पठान की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया पर जोमैटो ट्रोल किया गया। इंटरनेट यूजरों ने हिन्दू समाज पार्टी के नेता की हत्या के मामले में जोमैटो के एक कर्मचारी की भूमिका लेकर उस पर सवाल उठाए। कुछ महीने पहले भी जोमैटो तब चर्चा में आया था एक जब एक ग्राहक ने जोमैटो के डिलिवरी ब्यॉय से सिर्फ इसलिए खाना नहीं लिया क्योंकि वह मुस्लिम था। इस पर जोमैटो ने खाना लेने से इनकार करने वाले ग्राहक को करारा जवाब दिया था।

जोमैटो ने दी यह प्रतिक्रिया: सवाल पूछे जाने पर जोमैटो के एक प्रवक्ता ने कहा कि एक स्वतंत्र एजेंसी द्वारा पठान (हत्यारोपी) आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड और अतीत के रिकार्ड सहित ‘पृष्ठभूमि’ की जांच के बाद उसे सूरत में नौकरी पर रखा गया था। उसने आखिरी बार छह अक्टूबर को खाने की आपूर्ति की थी । इसके बाद वह खुद अपनी मर्जी से हमारे प्लेटफॉर्म पर काम से हट गया था।

Hindi News Today, 23 October 2019 LIVE Updates

कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति: जोमैटो के एक प्रवक्ता ने कहा कि जोमैटो कानून का पालन करने वाली और जिम्मेदार कंपनी है । हम संबंधित प्राधिकारों को पूरी मदद देते हैं और छानबीन में पूरी मदद करेंगे। जोमैटो ने कहा कि कानून तोड़ने वाले किसी के भी प्रति उसकी कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति है। हम चाहेंगे कि कानून के तहत जल्द से जल्द दोषी को सजा मिले।

ट्विटर पर छिड़ी बहस: जोमैटो की जुलाई की घटना को कमलेश तिवारी हत्या मामले में गिरफ्तार मोइनुद्दीन पठान से जोड़ा गया। एक यूजर ने लिखा, ‘‘हत्या का कारण धार्मिक नफरत था। कुछ दिन पहले आपने एक ऑर्डर रद्द कर दिया था क्योंकि खाना मंगाने वाला हिंदू लड़के से आपूर्ति चाहता था। क्या आप सुनिश्चित करेंगे कि आपके ग्राहक सुरक्षित हैं?’’ एक अन्य यूजर ने गिरफ्तारी मामले से जोड़कर कंपनी की खिंचाई करते हुए कहा कि ‘‘यही कारण है कि जोमैटो, स्विगी आदि पर भरोसा नहीं कर सकते।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 कमलेश तिवारी की पत्नी को योगी से मिली आर्थिक मदद: तिवारी पर चाकू से किये गये थे कई वार
2 बॉस की हत्या कर 3 टुकड़ों में काट दिया, पुलिस ने पकड़ा तो कहा – समलैंगिक संबंध बनाने का बना रहा था दबाव
3 West Bengal: कूचबिहार में भिड़े TMC व BJP के कार्यकर्ता, जमकर हुई तोड़फोड़; दोनों के ऑफिस तबाह