ताज़ा खबर
 

Kamlesh Tiwari Murder: दिनदहाड़े गला रेतकर हत्या के मामले में पकड़े गए 3 संदिग्ध, UP DGP ने खुद दी जानकारी

Lucknow Kamlesh Tiwari Murder Case: मौलाना अनवारुल हक ने ही कुछ साल पहले कमलेश तिवारी की हत्या करने वाले को 51 लाख रुपए का इनाम देने के ऐलान किया था।

Author लखनऊ | Updated: October 20, 2019 5:31 PM
हिन्दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी और उसके परिजन (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस, ANI)

Lucknow Kamlesh Tiwari Murder Case: यूपी के लखनऊ में हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। मामले में गुजरात एटीएस ने सूरत से तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया है। जबकि यूपी पुलिस ने बताया कि बिजनौर से मौलाना अनवारुल हक की अभी गिरफ्तारी नहीं हुई है। बता दें कि इसके पहले खबर आई थी कि पुलिस की टीम ने नामजद आरोपी मौलाना अनवारुल हक को बिजनौर से गिरफ्तार किया है। अनवारुल ने ही कुछ साल पहले कमलेश तिवारी की हत्या करने वाले को 51 लाख रुपए का इनाम देने के ऐलान किया था। शुक्रवार को तिवारी की दो लोगों ने दिनदहाड़े गला रेतकर हत्या की थी। लेकिन इस बीच अविनाश चंद्र, एडीजी बरेली ज़ोन ने बताया है कि  मौलाना अनवारुल हक को गिरफ्तार नहीं किया गया है, जांच अभी भी जारी है।

National Hindi News, 19 October 2019 Live Updates: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां करें क्लिक

पत्नी ने दर्ज कराई थी एफआईआर: बता दें कि कमलेश की हत्या के बाद उनकी किरण की तहरीर पर इस मामले में मुफ्ती नईम काजमी और अनवारुल हक तथा एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। किरण का आरोप है कि काजमी और हक ने वर्ष 2015-16 में कमलेश का सिर कलम करने पर 51 लाख और डेढ़ करोड़ रुपए का इनाम घोषित किया था। इन्हीं लोगों ने साजिश कर उनके पति की हत्या कराई है। मामले में पुलिस को घटनास्थल से एक मिठाई का डिब्बा मिला था, जिस पर सूरत की एक दुकान का नाम छपा था। बता दें कि इस मामले में गुजरात एटीएस ने सूरत से तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया है। वहीं पुलिस संदिग्धों से पूछताछ भी कर रही है।

मामले की जांच SIT के हाथ: सीएम योगी ने कमलेश तिवारी हत्याकांड में शुक्रवार को ही एसआईटी के गठन का आदेश दिया था। इस एसआईटी की टीम में में लखनऊ के आईजी एसके भगत, एसपी क्राइम दिनेश पूरी और एसटीएफ के डिप्टी एसपी पीके मिश्रा शामिल बताए जा रहे हैं। सीएम ने मामले में प्रमुख सचिव (गृह) और डीजीपी से भी रिपोर्ट मांगी है।

आईएसआईएस का हाथ होने की आशंका: कमलेश के कुछ साथियों ने इस मामले में आतंकवादी संगठन आईएसआईएस का हाथ होने की आशंका भी जताई। इस बारे में पूछे जाने पर अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) पीवी राम शास्त्री ने बताया कि पुलिस हर कोण से मामले की जांच कर रही है और अभी किसी निष्कर्ष पर पहुंच जाना जल्दबाजी होगी। इस बीच, पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह ने कहा कि यह विशुद्ध आपराधिक घटना है और पुलिस इसकी जांच कर रही है। जिन लोगों ने कमलेश की हत्या की वह उनकी जान पहचान के बताए जाते हैं। वारदात से पहले उन लोगों ने उसके साथ करीब आधा घंटा गुजारा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Maharshtra Election: पुलिस और EC की बड़ी कार्रवाई, एनसीपी MLA के सहयोगी के फ्लैट से 53 लाख कैश किए बरामद, दोनों गिरफ्तार
2 Kamlesh Tiwari की पत्नी ने दी आत्मदाह की चेतावनी, कहा- CM योगी के आने पर ही होगा अंतिम संस्कार
3 Kamlesh Tiwari Murder Case: सीएम से मिलने के बाद बोलीं कमलेश तिवारी की पत्नी- योगी ने कहा दोषी बख्शे नहीं जाएंगे