ताज़ा खबर
 

Kamlesh Tiwari Murder: हत्यारों ने Google-Map से ढूंढी कमलेश तिवारी की लोकेशन, आधी रात को किया था कॉल

Kamlesh Tiwari Murder Case: हत्या में शामिल बदमाश गूगल मैप (Google Map) की मदद से कमलेश तिवारी के दफ्तर की लोकेशन तलाशते हुए खुर्शीदबाग पहुंचे थे। उन्होंने कमलेश तिवारी को फोन भी किया था।

Author लखनऊ | Updated: October 21, 2019 8:52 AM
हिंदू महासभा के पूर्व नेता कमलेश तिवारी की हत्या कर भागते बदमाश। फोटो सोर्स: सोशल मीडिया

Kamlesh Tiwari Murder, UP Police, CM Yogi: यूपी के लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी (Hindu Mahasabha) के नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kamlesh Tiwari Murder) में नया खुलासा होने का दावा किया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हत्या में शामिल बदमाश गूगल मैप (Google Map) की मदद से कमलेश तिवारी के दफ्तर की लोकेशन तलाशते हुए खुर्शीदबाग पहुंचे थे। यही नहीं हत्यारे वारदात को अंजाम देने के लिए ट्रेन से लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन फिर कमलेश के घर का पता पूछते हुए गणेशगंज पहुंचे थे।

गूगल मैप की मदद से पहुंचे घर: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कथित दोनों हत्यारे चारबाग रेलवे स्टेशन से हिंदू नेता कमलेश तिवारी के घर का पता पूछते हुए गणेशगंज पहुंचे थे। पुलिस की माने तो हत्यारों ने गूगल की मदद से कमलेश तिवारी के बारे में जानकारी जुटाई थी। उन्होंने कई वेबसाइट भी खंगाली। हत्या के बाद उनकी लोकेशन हरदोई, मुरादाबाद और अंत में गाजियाबाद में मिली है।

ट्रेन से आए थे लखनऊ: बताया जा रहा है कि हत्या को अंजाम देने के लिए आरोपी ट्रेन से लखनऊ आए थे। फिर वो चारबाग रेलवे स्टेशन से कमलेश तिवारी के घर का पता पूछते हुए गणेशगंज पहुंचे थे।

National Hindi News 20 October Live Updates: पढ़ें दिन भर की बड़ी खबरें

कमलेश तिवारी को रात में की कॉल: बताया जा रहा है कि पुलिस ने जब हत्यारों का पता लगाने के लिए मोबाइल नंबर खंगालने शुरू किये तो उन्हें एक अहम सुराग मिला। पुलिस की निगाह जिस मोबाइल नंबर पर टिकी थी वह 17 अक्टूबर को एक्टिवेट हुआ था और रात करीब 12 बजे कमलेश तिवारी को उसी से कॉल की गई थी। जांच में नंबर कानपुर देहात के एक टैक्सी चालक के नाम पर निकला।

जांच में जुटी पुलिस: कमलेश के हत्यारों को पकड़ने के लिए यूपी पुलिस की 10 टीमें लगी है। इसके आलावा गुजरात और महाराष्ट्र पुलिस की मदद भी ली जा रही है। इस मामले में यूपी के डीजीपी ने कल एक प्रेस वार्ता की थी। वहीं हत्याकांड पर सीएम योगी आदित्यनाथ की भी नजर है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘कमलेश तिवारी के हत्यारों का सिरकलम करने वालों को मिलेगा एक करोड़ रुपए’, शिवसेना नेता ने की घोषणा
2 Kamlesh Tiwari Murder: परिवार की सुरक्षा बढ़ी, 4 गनर्स के साथ UP पुलिस के जवान तैनात; PAC का भी रहेगा 24 घंटे पहरा
3 2018 से ही सुरक्षा की मांग कर रहे थे कमलेश तिवारी, CM और प्रमुख सचिव गृह को भी लिखे थे पत्र