ताज़ा खबर
 

कमलेश तिवारी के हत्यारों को कतई बख्शा नहीं जाएगा, परिवार से मिलने के बाद बोले CM योगी; DGP को किया तलब

Kamlesh Tiwari Murder Case, UP CM Yogi Adityanath: योगी आदित्यनाथ ने कमलेश तिवारी परिवार को पूरी मदद का भरोसा देते हुए कहा कि सरकार इस हत्याकांड की गहराई से जांच कर रही है और दोषी लोगों को कतई बख्शा नहीं जाएगा।

Author लखनऊ | Updated: October 20, 2019 3:38 PM
CM योगी से मिले कमलेश तिवारी के परिजन फोटो सोर्स- एएनआई

Kamlesh Tiwari Murder Case, UP CM Yogi: उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में मारे गये ही हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी के परिजन से रविवार को मुलाकात की। सीएम ने अपने आवास पर तिवारी की मां कुसुमा, पत्नी किरण तिवारी और उनके बेटे से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने पीड़ित परिवार को पूरी मदद का भरोसा देते हुए कहा कि सरकार इस गंभीर मामले की गहराई से जांच कर रही है और दोषी लोगों को कतई बख्शा नहीं जाएगा।

सीएम योगी ने दिया यह भरोसा: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पीड़ित परिवार ने कमलेश तिवारी के बेटे को सरकारी नौकरी देने, परिवार को सुरक्षा देने, सुरक्षा के लिहाज से परिजन को असलहों के लाइसेंस देने, उनके मोहल्ले का नाम कमलेश तिवारी के नाम पर करने, लखनऊ में तिवारी की मूर्ति स्थापित करने और पूरे मामले की सुनवाई फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में करने की मांग की। सीएम ने उन्हें समुचित कार्रवाई का भरोसा दिया।

National Hindi News 20 October Live Updates: पढ़ें दिन भर की बड़ी खबरें

कमलेश तिवारी की मां ने कही यह बात: सीएम से मुलाकात के बाद तिवारी की पत्नी किरण ने बताया, ‘‘योगी ने हर सम्भव कार्रवाई का भरोसा दिया है। हम उनसे हुई मुलाकात से संतुष्ट हैं। हमारी मांग थी कि हत्यारों को फांसी की सजा दी जाए।’’ तिवारी की मां कुसुमा ने कहा कि उन्होंने सीएम से कहा कि उनके बेटे को न्याय चाहिये और दोषियों को कड़ी सजा दी जाए। योगी ने उन्हें इसका भरोसा दिलाया है। भरोसा देकर सीएम ने बहुत कुछ दे दिया।

हत्याकांड में हुआ यह खुलासा: इस बीच हत्याकांड की तफ्तीश में पता चला है कि संदिग्ध हत्यारोपी नाका हिंडोला क्षेत्र के ही एक होटल में ठहरे थे। डीजीपी ओम प्रकाश सिंह ने बताया कि होटल के कर्मियों के मुताबिक दोनों ने अपना नाम शेख अशफाकुल हुसैन और मुईनुद्दीन पठान बताया था। हत्याकांड वाले दिन दोनों भगवा कुर्ते पहनकर होटल से निकले थे और उनके हाथ में एक मिठाई का डिब्बा था। बताया जा रहा है कि वे लोग 17 अक्टूबर को होटल आये थे और 18 तारीख की दोपहर में वे चले गये थे। उनके कमरे के बेड पर भगवा रंग का कुर्ता पड़ा था, उस पर खून के निशान हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 चेन स्नैचर्स का निशाना बने Air Force ऑफिसर, कनॉट प्लेस पर बैग छीन भागे बाइक सवार बदमाश
2 PM मोदी के हेलिकॉप्टर की फोटो खींच रहे थे दो संदिग्ध, पकड़कर पूछताछ के लिए ले गई Maharashtra ATS
3 Kamlesh Tiwari Murder: मां ने कहा- ‘योगी सरकार ने धोखा दिया, बेटे की सुरक्षा घटाई, मुझे गाड़ी में बंद कर पोते-बहू को पीटा’