scorecardresearch

हिजाब विरोधी प्रदर्शन में मारे गए युवक की अंतिम यात्रा पर बहन ने बाल काटकर जताया विरोध, अब तक 41 मौतें

Iran Anti Hijab Protest: ईरान में महसा अमिनी की गिरफ्तारी और फिर हिरासत में मौत के बाद उठे देशव्यापी विरोध प्रदर्शन में अब तक 41 मौतें हो चुकी हैं।

हिजाब विरोधी प्रदर्शन में मारे गए युवक की अंतिम यात्रा पर बहन ने बाल काटकर जताया विरोध, अब तक 41 मौतें
ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन (Photo Credit – Reuters/Screenbgrab Video)

Iran Anti Hijab Protest: ईरान में 22 साल की युवती महसा अमिनी की गिरफ्तारी और फिर हिरासत में मौत के बाद उठे देशव्यापी विरोध प्रदर्शन में अब तक 41 मौतें हो चुकी हैं, जबकि 700 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। महसा अमिनी को तेहरान यात्रा के दौरान ड्रेस कोड के उल्लंघन के आरोप में मोरलिटी पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था।

महिलाएं बाल काटकर और हिजाब जलाकर कर रही विरोध

ईरान में 16 सितंबर को महसा अमिनी की मौत के बाद हुए विरोध प्रदर्शनों ने उग्र रूप ले लिया है। देश के अलग-अलग प्रांतों में जैसे-जैसे विरोध जारी है, वैसे ही इंटरनेट पर कई वीडियो सामने आए हैं, जिनमें महिलाओं को अपने बाल काटते हुए और सड़कों पर हिजाब जलाते देखा जा सकता है।

युवती ने भाई की अंतिम यात्रा के दौरान काटे बाल

इसी कड़ी में एक वीडियो सामने आया है, जिसमें दिखता है कि एक युवती अपने बाल काटकर किसी शव की अंतिम यात्रा पर डालते हुए दिखती है। वीडियो को ट्वीट करने वाली ईरानी पत्रकार और एक्टिविस्ट मसीह अलीनेजाद के मुताबिक युवती विरोध प्रदर्शन के दौरान मारे गए जावेद हैदरी नाम के युवक की बहन थी और वह अपने बाल काटकर अपना विरोध दर्ज करा रही थी।

ईरानी सरकार ने सोशल मीडिया पर लगाया बैन

विरोध प्रदर्शनों के साथ इंटरनेट पर बढ़ रहे रोष को देखते हुए ईरानी सरकार ने दमनात्मक रवैया अपनाते हुए सोशल मीडिया के अधिकतर प्लेटफॉर्म्स को प्रतिबंधित कर दिया है। एएफपी के अनुसार, ईरानी सरकार ने सोशल मीडिया के प्लेटफार्मों को प्रतिबंधित करने के साथ सैकड़ों सामाजिक कार्यकर्ताओं और पत्रकारों को भी गिरफ्तार किया है।

सरकार ने दी कड़ी कार्रवाई की चेतावनी

राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा कड़ी कार्रवाई की चेतावनी के बावजूद भी देश में विरोध प्रदर्शन उग्र हैं। सरकर ने देशव्यापी विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए कई सारे कदम उठाए हैं लेकिन उन्हें कोई माकूल फायदा नहीं मिल पा रहा है। वहीं, देश न्यायपालिका से संबंधित मिज़ान ऑनलाइन वेबसाइट ने कहा कि सरकार दंगों को भड़काने वालों के खिलाफ जरूरी कार्रवाई करने का विचार बना रहा है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 26-09-2022 at 05:47:18 pm