महिलाओं के ‘मसीहा’ बने थे IPS शिवदीप लांडे, विदाई के समय रोने लगे थे लोग, फिर होगी बिहार में वापसी

पटना में पोस्टिंग के दौरान आईपीएस शिवदीप लांडे ने कहा था, ‘मैं जन्म से शायद महाराष्ट्र का हूं, लेकिन अपने कर्म और मन से पूरी तरह से बिहारी हूं। बिहार की शान को बढ़ाना ही मेरा सौभाग्य होगा।

Bihar IPS, UPSC, IPS Shivdip Lande
आईपीएस शिवदीप लांडे(फोटो सोर्स: इंस्टाग्राम/@shivdeeplande)।

सुपरकॉप शिवदीप लांडे उन आईपीएस अफसरों में शामिल हैं जिनके नाम से अपराधियों के पैर कांपते हैं। बिहार कैडर के आईपीएस शिवदीप लांडे मौजूदा समय में मुंबई में पुलिस क्राइम ब्रांच में डीआईजी के पद पर हैं। वहीं अब पांच साल के डेपुटेशन ड्यूटी के बाद बिहार में उनकी वापसी हो रही है। जानकारी के मुताबिक दिसंबर के पहले सप्ताह से वो राज्य में अपनी सेवा देने लगेंगे।

आम लोगों के लिए सरल और अपराधियों के लिए सख्त शिवदीप लांडे पटना में सिटी एसपी रहने के दौरान काफी सुर्खियों में रहे। उन्होंने ब्रांडेड कंपनियों के नाम पर नकली सामान बनाने वालों पर नकेल कसी थी। वहीं जाली नोट का कारोबार करने वालों, नकली दवा बेचने वालों के खिलाफ मुहिम चलाकर उन्होंने सनसनी पैदा कर दी थी।

इसके अलावा पीएमसीएच के पास अशोक राजपथ पर स्थित एक कपड़ा शोरूम व्यापारी की हत्या में शिवदीप लांडे की कार्यशैली ने लोगों के दिलों में जगह बना ली। दरअसल कपड़ा व्यापारी की हत्या के बाद बाकी व्यापारियों ने अपराधियों के भय से अपनी दुकानें नहीं खोली। ऐसे में भय दूर करने के लिए लांडे ने अपराधियों को पकड़कर पीएमसीएच गेट पर ही धुनाई कर दी थी। इसके बाद इलाके की सारी दुकानें खुल गई थी।

लड़कियों को दिया था अपना निजी फोन नंबर: बता दें कि पटना में पोस्टिंग के दौरान शिवदीप लांडे द्वारा महिलाओं के साथ छेड़खानी करने वाले मनचलों के खिलाफ चलाये गए अभियान को लेकर उनकी खूब तारीफ हुई थी। मनचलों को सबक सिखाने के लिए शिवदीप लांडे ने अपना निजी मोबाइल नंबर लड़कियों के बीच बांटा था और कहा था कि छेड़खानी की कोई भी शिकायत हो तो उन्हें सीधे फोन पर दें।

फोटो सोर्स: इंस्टाग्राम/@shivdeeplande

नंबर बांटने का असर भी दिखा: दरअसल पटना में एक लड़की के साथ 3 शराबियों ने छेड़खानी और जबर्दस्ती की। जिसकी जानकारी लड़की ने शिवदीप लांडे के निजी नंबर पर दी। कुछ ही मिनट में आईपीएस लांडे घटनास्थल पर पहुंच गए। हालांकि मौके से बदमाश भाग निकले थे लेकिन हफ्ते भर में उनकी टीम ने उन्हें धर दबोचा। इसके बाद से ही शिवदीप लांडे महिलाओं के मसीहा बन चुके थे। उनके निजी पर नंबर पर छेड़खानी की शिकायत के अलावा शादी प्रस्ताव के मैसेज भी आने लगे थे।

तबादले पर रोते दिखे लोग: लोगों के बीच उनकी लोकप्रियता ऐसी रही कि जब बिहार के पुलिस महानिदेशक ने जब शिवदीप लांडे का ट्रांसफर पटना सिटी एसपी से पुलिस हेड क्वॉर्टर में कर दिया था तो इसके विरोध में लोग सड़कों पर उतर गए थे। लोगों ने कैंडल मार्च भी निकाला था। इतना ही नहीं उनके ट्रांसफर की खबर से कई लोगों को रोते हुए भी देखा गया था।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।