ताज़ा खबर
 

नेता को VVIP ट्रीटमेंट देने से कर दिया था इनकार, चर्चित किडनी रैकेट का भंडाफोड़ करने वाले IPS की कहानी..

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में अब बताया जा रहा है कि कुंवर विजय प्रताप अब खाकी वर्दी उतार काला कोट पहनेंगे। पुलिस की नौकरी से निकलते ही वे वकालत करने की तैयारी में जुट गए हैं।

crime, crime newsकुंवर विजय प्रताप सिंह। फाइल फोटो। फोटो सोर्स- सोशल मीडिया

बात एक ऐसे पुलिस अफसर की जिनकी पहचान दबंग पुलिसवाले के तौर पर रही है। पुलिस सेवा के दौरान इन्होंने कई बड़े मामलों की जांच-पड़ताल की है। पंजाब के चर्चित किडनी रैकेट का भंडाफोड़ करने वाले आईपीएस अफसर कुंवर विजय प्रताप सिंह ने गैंगस्टर-पुलिस नेक्सस का भी पर्दाफाश किया था। जब वो लुधियाना के एसएसपी थे उन्होंने एक कांग्रेस नेता को वीवीआईपी ट्रीटमेंट देने से भी इनकार कर दिया था।

जब कुवंर प्रताप सिंह एसआईटी की एक टीम को लीड कर रहे थे तब वो पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल और अभिनेता अक्षय कुमार से पूछताछ करने भी गये थे। 1998 बैच के इस आईपीएस अधिकारी के बारे में कहा जाता है कि उनकी छवि एक इमानदार पुलिस अफसर की रही है। कुंवर विजय प्रताप सिंह पंजाब पुलिस की विशेष जांच टीम (एसआईटी) का नेतृत्व कर रहे थे, जो 2015 के कोटकपुरा और बेहबल कलां गोलीबारी मामलों की जांच कर रही थी। अपने पद से इस्तीफा देने के बाद कुंवर प्रताप सिंह फिर चर्चा में हैं।

दरअसल गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के मामले की जांच के लिए गठित स्पेशल इन्वेस्टीगेटिव टीम (SIT) के चीफ IG कुंवर विजय प्रताप सिंह ने कुछ दिनों पहले इस्तीफा दे दिया था। अदालत ने हाल ही में पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने कोटकपूरा व बहिबल कलां गोलीकांड मामले से संबंधित एसआईटी की जांच रिपोर्ट को रद्द कर दिया था और पंजाब सरकार को निर्देश दिया था कि इस मामले की जांच के लिए नई एसआईटी का गठन किया जाए, जिससे मौजूदा एसआईटी के प्रमुख (कुंवर विजय प्रताप सिंह) को अलग रखा जाए। जिसके बाद कुंवर विजय प्रताप सिंह ने अपना इस्तीफा DGP पंजाब को भेजा था। इस इस्तीफे पर तुरंत एक्शन लेते हुए कैप्टन सरकार ने इस्तीफे को नामंजूर कर दिया था। हालांकि बाद में उन्होंने उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया था।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में अब बताया जा रहा है कि कुंवर विजय प्रताप अब खाकी वर्दी उतार काला कोट पहनेंगे। पुलिस की नौकरी से निकलते ही वे वकालत करने की तैयारी में जुट गए हैं। वे चंडीगढ़ से लॉ ग्रेजुएट हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब श्री गुरु गोबिंद सिंह जी की धरती है। यहां पर बेअदबी व ड्रग का धंधा करने वाले कैसे रह सकते हैं? उनको खदेड़ा जाएगा और इसकी पूरी तैयारी है। वे काला कोट पहनकर जरूरतमंदों की सेवा करेंगे और उन लोगों की कानूनी सहायता करेंगे जिनके साथ धक्के हो रहे हैं या जिनकी सुनवाई नहीं हो रही है। जरूरत पड़ी तो बेअदबी व गोलीकांड के केस को भी लड़ेंगे।

 

Next Stories
1 नशा बेच कर की थी मोटी कमाई, लेडी डॉन सुनीता का हुआ था रोंगटे खड़े कर देने वाला अंजाम
2 पिता के साथ जूते की दुकान में करते थे काम, IAS शुभम गुप्ता के संघर्ष की कहानी…
3 दर्जी से बन गया डॉन दाऊद इब्राहिम का खासमखास, इश्क में मारा गया था बड़ा राजन
ये पढ़ा क्या?
X