ताज़ा खबर
 

भारतीय की हत्या के बाद लाश को घसीट कर ले गए थे नेपाली सैनिक, पिता ने सुनाई पूरी कहानी

India-Nepal Border, Nepal Police Drag Dead Body Of Indian: बॉर्डर पर नेपाली सैनिकों की ज्यादती के वक्त वहां मौजूद लोग नेपाल की सीमा पर तैनात सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के जवानों से भी नाराज हैं।

crime, crime news, india, nepalवहां मौजूद लोगों ने भारतीय की डेड बॉडी को घसीट कर ले जाने पर विरोध किया था। फोटो सोर्स – ANI

India-Nepal Border, Nepal Police Drag Dead Body Of Indian: सीमा पर पड़ोसी मुल्क नेपाल की हरकतों ने टेंशन बढ़ाया है। अब पता चला है कि बीते शुक्रवार को एक भारतीय की हत्या करने के बाद नेपाली सैनिकों ने उनकी लाश से बर्बरता भी की थी। नेपाली सैनिकों की अंधाधुंध फायरिंग में जान गंवाने वाले 21 साल के विकेश कि पिता नागेश्वर राय ने ‘आज तक’ से बातचीत करते हुए बताया कि ‘गोली मारने के बाद मेरे बेटे की लाश को घसीट कर वो नेपाल ले गए। हम लोगों ने काफी विरोध किया और अपने बेटे की लाश को लेकर वापस भारत की सीमा में आए।’

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सीमावर्ती गांव जानकी नगर के रहने वाले विकेश की अभी 2 साल पहले ही शादी हुई थी। विकेश के तीन भाई थे और विकेश दूसरे नंबर पर थे। विकेश पंजाब के लुधियाना में काम करते थे लेकिन लॉकडाउन के बाद वो अपने गांव आ गए थे। विकेश की पत्नी गर्भवती हैं और पति की हत्या के बाद उनका रो-रो कर बुरा हाल है।

बॉर्डर पर नेपाली सैनिकों की ज्यादती के वक्त वहां मौजूद लोग नेपाल की सीमा पर तैनात सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के जवानों से भी नाराज हैं। इनका कहना है कि एसएसबी के जवान घटना स्थल से कुछ ही दूरी पर तैनात थे। इनका आरोप है कि घटना के बारे में बताए जाने के बावजूद इन जवानों ने उस वक्त कुछ भी नहीं किया।

आपको बता दें कि शुक्रवार (12-06-2020) की सुबह करीब 8.40 मिनट पर नेपाली सैनिकों ने बिहार के सीतामढ़ी से लगती सीमा पर भारतीयों को निशाना बनाकर 15 राउंड फायरिंग की थी। इस फायरिंग में 1 हिन्दुस्तानी की मौत हो गई थी जबकि 3 जख्मी हो गए थे।

घायल और मृतक एक ही परिवार के थे। इस घटना के बाद सैन्य अधिकारियों की तरफ से बताया गया था कि इस दिन एक परिवार के सदस्य नेपाल जा रहे थे और इस बीच सीमा पर नेपाली सैनिकों ने उन्हें रोक लिया था। सैनिकों के साथ भारतीयों की बहस हो गई थी जिसके बाद नेपाल के हथियारबंद सिपाहियों ने भारतीयों पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई थी।

पिछले कुछ महीनों में भारत और नेपाल के संबंधों में खटास आई है। शायद यहीं वजह है कि बीते दो माह में कम से कम आठ बार नेपाल आर्म्ड पुलिस फोर्स और भारतीय नागरिकों के बीच तनातनी हो चुकी है। ये तनातनी बिहार के सीतामढ़ी, पूर्वी चंपारण, मधुबनी और किशनगंज जिलों से मिलती नेपाल सीमा पर हुई हैं।

भारत और नेपाल के बीच रिश्तों में उस वक्त तनाव दिखा जब रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आठ मई को उत्तराखंड में लिपुलेख दर्रे को धारचुला से जोड़ने वाली रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण 80 किलोमीटर लंबी सड़क का उद्घाटन किया था। नेपाल ने इस सड़क के उद्घाटन पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए दावा किया कि यह सड़क नेपाली क्षेत्र से होकर गुजरती है। भारत ने नेपाल के दावों को खारिज करते हुए दोहराया कि यह सड़क पूरी तरह उसके भू-भाग में स्थित है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी में सीएम योगी आदित्यनाथ के आवास को बम से उड़ाने की धमकी, ‘डायल 112’ के व्हाट्सऐप पर भेजा मैसेज
2 हरियाणा: दिनदहाड़े मां के साथ जा रही लड़की को सड़क से अगवा कर ले गए बदमाश, VIDEO सामने आने के बाद हड़कंप
3 मृत पिता को जिंदा बता लेता रहा पेंशन, सरकार को लगाया लाखों का चूना
ये पढ़ा क्या?
X