ताज़ा खबर
 

प्रयागराज: तब्लीगी जमात को लेकर टिप्पणी करने पर युवक की गोली मारकर हत्या, आरोपी गिरफ्तार

राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपए मदद देने की घोषणा की है।

युवक ने निजामुद्दीन में जुटी भीड़ पर टिप्पणी की थी। प्रतीकात्मक तस्वीर।

तब्लीगी जमात पर टिप्पणी करने के बाद उत्तर प्रदेश में टिप्पणी करने वाले शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई। प्रयागराज में इस सनसीखेज हत्या को रविवार (5 अप्रैल, 2020) की सुबह अंजाम दिया गया है। इस सनसनीखेज वारदात से इलाके में सनसनी मच गई।

बताया जा रहा है कि यह घटना प्रयागराज के करेली इलाके के बक्शी मोढ़ा में हुई है। यहां स्थित एक चाय की दुकान पर सुबह कुछ लोगों के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के लोगों को लेकर बातचीत चल रही थी। लेकिन इस दौरान एक शख्स ने जमातियों पर कोरोना संक्रमण फैलाने को लेकर टिप्पणी कर दी। जिसके बाद यहां तीखी बहस शुरू हो गई। देखते ही देखते ही मोहम्मद सोना नाम के एक शख्स ने 22 साल के लोटन निषाद को गोली मार दी।

गोली लगने के बाद निषाद की मौक पर ही मौत हो गई। गोलीबारी की घटना से इलाके में हड़कंप मच गया। वहां मौजूद अन्य लोगों ने मोहम्मद सोना को तुरंत पकड़ लिया। हालांकि उसके साथ मौके से फरार हो गए।

इस वारदात के बाद इलाके में तनाव फैल गया। मामले की गंभीरता को समझते हुए यहां के एसएसपी समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी तुरंत मौके पर पहुंच गए। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वारदात के बाद इलाके में जबरदस्त तनाव है। कानून-व्यवस्था ना बिगड़े इसको मद्देनजर रखते हुए यहां भारी सुरक्षा बल की तैनाती की गई है।

इधर पुलिस ने इस मामले में आरोपी मोहम्मद सोना को गिरफ्तार कर लिया है। ‘NBT’ की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपए मदद देने की घोषणा की है। इसके अलावा उन्होंने प्रशासन को इस मामले में आरोपियों पर सख्त कार्रवाई करने का निर्देश भी दिया है।


मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद अब पुलिस इस मामले में आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है। इसके साथ ही यहां शांति-व्यवस्था के इंतजाम को लेकर भी पुलिस काफी सतर्कता बरत रही है।

आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले दिल्ली के निजामुद्दीन में एक धार्मिक आयोजन कराया था। इस आयोजन में भारी संख्या में तब्लीगी जमाती शामिल हुए थे जिनमें कई विदेशी भी थे। तब्लीगी जमातियों में से कई लोग कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं। जिसके बाद अब अलग-अलग राज्यों की पुलिस इस बात की पड़ताल कर रही है कि इन जमातियों के संपर्क में अब तक कितने लोग आए हैं।

तब्लीगी जमाती के प्रमुख मौलाना मुहम्मद साद पर आरोप है कि उन्होंने सरकारी आदेशों का उल्लंघन कर यह धार्मिक आयोजन किया तथा इसके बारे में प्रशासन को कोई सूचना नहीं दी।  मौलाना साद पर भी केस दर्ज है और उनकी तलाश की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 India Lockdown: सामान खरीदने के लिए दुकान के बाहर खड़े आदिवासी की मौत, परिवार का दावा- पुलिस ने पीटा; पुलिस ने बताया हार्ट अटैक
2 India Lockdwon: बिहार में 3 दिन से भूखी बहनों ने केंद्र सरकार के हेल्पलाइन नंबर पर मांगी मदद, पका हुआ खाना हुआ नसीब
3 जम्‍मू कश्‍मीर: सेना ने ढेर क‍िए नौ आतंकी, जनता की अपील- अनजान को न दें पनाह, करोना मरीज भी हो सकता है