ताज़ा खबर
 

आइसोलेशन में रखे गए तब्लीगी जमात के लोग बिना पैंट घूम रहे और नर्सों से कर रहे अश्लील इशारे, शिकायत दर्ज

India Lockdown Tablighi Jamaat: इस खत में कहा गया है कि 'इस चिकित्सालय में आईसोलेशन वार्ड में कोरोना वायरस से संभावित जमाती वार्ड में बिना पैंट के नंगे घूम रहे हैं...वार्ड में वो अश्लील गाने सुन रहे हैं।

जमात के लोग अस्पताल में गंदे गाने सुन रहे हैं।

India Lockdown Tablighi Jamaat: अस्पताल में आईसोलेशन पर रखे गए तब्लीगी जमात के लोगों पर गंभीर आरोप लगे हैं। आरोप है कि तब्लीगी जमात के लोग अस्पताल में ना सिर्फ बिना पैंट पहने घूम रहे हैं बल्कि अस्पताल की नर्सों के साथ अश्लील हरकत भी कर रहे हैं। दरअसल उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के अस्पताल में जमात के लोगों को आइसोलेशन में रखा गया है। अब अस्पताल के मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी ने स्थानीय पुलिस को खत लिखकर इस बारे में सूचित किया है तथा उचित कार्रवाई करने की मांग भी की है।

इस खत में कहा गया है कि ‘इस चिकित्सालय में आईसोलेशन वार्ड में कोरोना वायरस से संभावित जमाती वार्ड में बिना पैंट के नंगे घूम रहे हैं…वार्ड में वो अश्लील गाने सुन रहे हैं। यह जमाती नर्सों एवं कर्मचारियों से बीड़ी तथा सिगरेट की मांग कर रहे हैं। इतना ही नहीं वो महिला कर्मियों से अश्लील इशारे भी कर रहे हैं।’ इस मामले में सीएमओ ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, गाजियाबाद से कार्रवाई की मांग की है।

तब्लीगी जमात के लोगों के खिलाफ नर्स और कर्मचारियों ने शिकायत मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी को की थी। आपको बता दें कि यह वहीं जमाती हैं जिन्होंने दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए मरकज में हिस्सा लिया था। इस मरकज में विदेश से आए कई लोग शामिल हुए थे। जिनमें से कई लोगों कोरोना पॉजीटिव मिले हैं।

गाजियाबाद जिला अस्पताल में 6 मरीजों को क्वारनटीन में रखा गया है। इनपर यह भी आरोप है कि यह लोग अस्पताल द्वारा दी जा रही दवाइयां भी नहीं ले रहे हैं। इतना ही नहीं वो सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन भी नहीं कर हैं और झुंड बनाकर एक साथ बैठ जा रहे हैं।

आपको बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन सभी जमातियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया था जो सरकारी नियमों की अनदेखी कर रहे हैं। इतना ही नहीं सीएम ने सभी जिलों के उच्च अधिकारियों को सख्त हिदायत दी है कि मरकज से लौटे सभी लोगों की जल्द से जल्द पहचान की जाए और उन्हें अस्पताल ले जाया जाए।

दरअसल, निजामुद्दीन स्थित मरकज की इमारत से 2000 से ज्यादा जमातियों को बाहर निकाला गया था। इससे पहले, तब्लीगी जमात के 167 लोगों को बसों के जरिए मंगलवार रात तुगलकाबाद क्वारन्टीन सेंटर ले जाया गया था। इन्हें दो जगहों पर रखा गया है। दिल्ली सरकार के अधिकारी ने बताया था कि ये लोग क्वारन्टीन सेंटर में जगह-जगह थूक रहे हैं।

डॉक्टरों और देखरेख में जुटे स्टाफ को गालियां दे रहे हैं। अस्पताल में भर्ती जमात के एक व्यक्ति ने तो खुदकुशी की भी कोशिश की थी। मरकज से निकले लोगों की तलाश में 22 से ज्यादा राज्यों में अभियान छेड़ा गया है। इससे पहले स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव लव अग्रवाल ने बुधवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया था कि तब्लीगी जमात के लोगों के देशभर के अलग-अलग हिस्सों में जाने की वजह से संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हुई है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: जानें-कोरोना वायरस से जुड़ी हर खबर । जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेलकोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी: लॉकडाउन में पलायन कर आ रहे लोगों की सूची बना रहा था कर्मचारी, नाराज दबंग ने घर में घुसकर बरसाई गोलियां
2 VIDEO: पुलिस वाले ने लॉकडाउन के दौरान सब्जी से लदे ठेलों को सड़क पर फेंक दिया, इंस्पेक्टर सस्पेंड
3 बिहार: तबलीगी जमात की तलाश में गई पुलिस पर फायरिंग और पथराव, बीडीओ, थानेदार जान बचा कर भागे; केस दर्ज