ताज़ा खबर
 

बोतल में पेट्रोल लेकर महिला डॉक्टर को जलाया, गैंगरेप के बाद हत्या मामले में पेट्रोल पंप पर होगी कार्रवाई?

राजीव अमराम ने कहा कि पेट्रोल पांच लीटर तक और डीजल 200 लीटर तक बेचा जा सकता है। वहीं हाल की घटनाओं के मद्देनजर राज्य सरकार ने पेट्रोल बोतलों में नहीं बेचने का निर्देश दिया है।

Author हैदराबाद | Updated: December 4, 2019 4:51 PM
प्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

तेलंगाना पुलिस इस बात पर विचार कर रही है कि क्या जिन्होंने आरोपियों को बोतल में पेट्रोल बेचा था उन पेट्रोल पंप कर्मचारियों पर कोई कार्रवाई कि जाए…? बोतल में पेट्रोल बेचने के लिए उस ईंधन स्टेशन के कर्मचारियों के खिलाफ क्या कोई मामला दर्ज किया जाए, इसको लेकर कानूनी सलाह पुलिस ले रही है। बता दें कि 27 वर्षीय महिला डॉक्टर की चार ट्रक चालकों ने शहर के बाहरी इलाके में बलात्कार के बाद हत्या कर दी थी। बाद में उन्होंने शव पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी थी। पुलिस अब उन पेट्रोल पंप कर्मचारियों पर भी कार्रवाई करने की सोच रही है।

क्या कहा पुलिस आयुक्त नेः मामले में पुलिस आयुक्त वी सी सज्जनार ने कहा, ‘हम ईंधन स्टेशन पर कार्यरत व्यक्तियों से यह पता लगा रहे हैं कि उन्होंने किन परिस्थितियों में बोतल में पेट्रोल भरा था। हम विधिक सलाह ले रहे हैं और मामले में आगे की कार्रवाई करेंगे।’ बता दें कि आरोपी पहले एक पेट्रोल स्टेशन पर ईंधन खरीदने के लिए गए थे। चूंकि वहां कर्मचारियों ने बोतल भरने से इनकार कर दिया इसलिए वे दूसरे पेट्रोल स्टेशन गए और वहां से पेट्रोल खरीदा था। इस बीच ‘कान्सोर्टियम आफ पेट्रोलियम डीलर्स फॉर साउथ इंडिया’ के संयुक्त सचिव राजीव अमराम ने कहा कि ईंधन स्टेशन सीमित मात्रा में ईंधन बेचने के लिए अधिकृत हैं।

बोतल में पेट्रोल नहीं बेचने की कोशिश करते है डीलरः राजीव अमराम ने कहा कि पेट्रोल पांच लीटर तक और डीजल 200 लीटर तक बेचा जा सकता है। वहीं हाल की घटनाओं के मद्देनजर राज्य सरकार ने पेट्रोल बोतलों में नहीं बेचने का निर्देश दिया है। उन्होंने उस भीषण घटना का उल्लेख किया जिसमें पास में एक महिला तहसीलदार को किसी भूमि विवाद को लेकर दिनदहाड़े कथित रूप से आग लगा दी गई थी। इस घटना में पीड़िता की मौके पर ही मौत हो गई थी और उसे बचाने के चक्कर में दो अन्य कर्मचारी झुलस गए थे। बाद में आरोपी और महिला को बचाने का प्रयास करने वाले एक अन्य कर्मचारी ने भी दम तोड़ दिया था।

पेट्रोल पंप डीलर्स एसोसिएशन भी मना करता है बोतलों में पेट्रोल देनाः मामले में अमराम ने कहा, ‘तब से कई ईंधन स्टेशन बोतलों में पेट्रोल नहीं भर रहे थे। पेट्रोल पंप डीलर्स एसोसिएशन भी इसे हतोत्साहित कर रहा था क्योंकि यदि कुछ भी गलत घटित होता है तो हमें जांच के लिए पुलिस थाने बुलाया जाता है।’ ऐसे ही मामले से बचने के लिए पेट्रोल पंप कर्मचारी खुले में पेट्रोल बेचने से डरते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Karnataka: 7 दिन की पोती को गला घोंटकर मार डाला, फिर दफना दिया शव; जानें क्यों
2 Tamil Nadu: बर्थडे मनाने गई छात्रा को अगवा कर 6 लोगों ने किया दुष्कर्म; पुलिस के हत्थे चढ़े चार आरोपी
3 गैर बिरादरी में शादी करने से मना किया तो कपल ने लगाई फांसी, कुमार विश्वास बोले- घरवालों अब जाति धर्म लेकर चाटो
ये पढ़ा क्या?
X