scorecardresearch

स्कूल का फीस नहीं दे पाए मजदूर मां-बाप, बेटी ने कर ली आत्हमत्या; पिता का आरोप- स्कूल प्रबंधन फोन के जरिए बेटी पर बनाता था दबाव

लड़की के परिजनों का कहना है कि उनकी बेटी को इतना प्रताड़ित किया गया कि उसने तंग आकर मौत को गले लगा लिया।

स्कूल का फीस नहीं दे पाए मजदूर मां-बाप, बेटी ने कर ली आत्हमत्या; पिता का आरोप- स्कूल प्रबंधन फोन के जरिए बेटी पर बनाता था दबाव
सांकेतिक तस्वीर

इधर हैदराबाद में पेशे से मजदूर मां-बाप की बेटी ने आत्महत्या कर ली है। बताया जा रहा है कि गरीबी की वजह से लड़की के मां-बाप बच्ची के स्कूल की फीस नहीं जमा कर सके थे।  10वीं क्लास में पढ़ाई कर रही इस बच्ची को स्कूल प्रबंधन ने क्लास में उपस्थित रहने से रोक दिया। जिसके बाद इस लड़की ने सुसाइड कर लिया। पुलिस ने जानकारी दी है कि गुरुवार को लड़की का शव उसके घर में मिला है। परिजनों का कहना है कि इस दिन लड़की ने स्कूल जाने से इनकार कर दिया था।

मृतक लड़की के परिजनों का कहना है कि उन्होंने फीस के एक हिस्से के तौर पर 37,000 रुपए पहले स्कूल प्रबंधन को दिया था। उन्होंने स्कूल प्रबंधन से यह कहा था कि वो इस महीने के अंत तक स्कूल के बकाए पैसे का भुगतान कर देंगे। मजदूरी कर परिवार का पेट पालने वाले लड़की के पिता का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान उनकी नौकरी चली गई थी। इसके बावजूद उन्होंने स्कूल प्रबंधन को कुछ पैसे दिये थे और बाकी पैसे देने का वादा भी किया था।

उनका दावा है कि स्कूल प्रबंधन उनकी बेटी पर दबाव बना रहा था कि वो अपने पिता से पैसे मांगे। इतना ही नहीं स्कूल में उनकी बेटी के साथ अमानवीय व्यवहार भी किया जा रहा था। लड़की के पिता ने कहा कि ‘स्कूल प्रबंधन ने पिछले कुछ दिनों के अंदर 2-3 बार मेरी बेटी से मुझे फोन करवाया। गुरुवार को मेरी बेटी स्कूल नहीं जाना चाहती थी। उसने मुझसे कहा कि टीचर को बता दें कि वो अस्पताल में है और स्कूल नहीं जाना चाहती। फीस नहीं जमा कर पाने की वजह से मेरी बेटी को कई बार स्कूल में घुसने से भी रोका गया।’ लड़की के परिजनों का कहना है कि उनकी बेटी को इतना प्रताड़ित किया गया कि उसने तंग आकर मौत को गले लगा लिया।

बहरहाल अब इस मामले में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। पुलिस का कहना है कि परिजनों की शिकायत के बाद जांच शुरू कर दी गई। अब तक कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है और मामले में तफ्तीश जारी है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.