ताज़ा खबर
 

मर्डर मिस्ट्री: जासूसों ने जुटाए सबूत, प्रेमी के लिए पत्नी ने की थी इस अरबपति की हत्या

अब पुलिस इस मामले की तफ्तीश में जुटी लेकिन कई दिनों तक पुलिस इस केस में कुछ भी सुराग तलाश नहीं पाई। इसके बाद योगेश के पिता ने थक-हारकर प्राइवेट जासूस की मदद ली

महिला ने अपने प्रेमी को 32 लाख की गाड़ी गिफ्ट में दी। प्रतीकात्मक तस्वीर।

यह एक बेहद ही हाईप्रोफाइल मामला था, लिहाजा पुलिस हर कदम बेहद फूंक-फूंक कर रख रही थी। लेकिन जैसे-जैसे समय गुजर रहा था यह हाईप्रोफाइल मामला मिस्ट्री बनता जा रहा था। कैसे सुलझी यह मिस्ट्री ? क्या था यह पूरा मामला? केस को सुलझाने के लिए आखिर क्यों लेनी पड़ी जासूसों की मदद? इन सारे सवालों के जवाब जानकर आप हैरान रह जाएंगे। ये कहानी 27 मई, 2016 से शुरू होती है। इस दिन हरियाणा के यमुनानगर के अरबपति व्यापारी योगेश बत्रा की अचानक मौत हो जाती है। शुरू में ऐसा लगता है कि यह एक सामान्य मौत है क्योंकि 40 साल के योगेश की पत्नी ने उस वक्त कहा था कि ह्रदय गति रुकने की वजह से उनके पति की मौत हो गई है। इस घटना के 4 महीने बाद तक सबकुछ सामान्य रहा। लेकिन 4 महीने बाद योगेश के माता-पिता को अपनी बहू के रहन-सहन और उसकी गतिविधियों पर शक हुआ। आखिरकार योगेश के 70 साल के पिता ने करीब साढ़े चार महीने बाद थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई।

अब पुलिस इस मामले की तफ्तीश में जुटी लेकिन कई दिनों तक पुलिस इस केस में कुछ भी सुराग तलाश नहीं पाई। इसके बाद योगेश के पिता ने थक-हारकर प्राइवेट जासूसों की मदद ली। योगेश के पिता को अपनी बहू पर शक था लिहाजा उन्होंने जासूसों को अपनी बहू के पीछे लगा दिया। प्राइवेट जासूसों ने दिन-रात मेहनत कर इस मामले में कई अहम सबूत जुटाए। जासूसों ने बताया कि योगेश की पत्नी प्रियंका के अवैध संबंध रोहित नाम के एक शख्स से थे। रोहित पेशे से जिम ट्रेनर था। जासूसों ने प्रियंका और रोहित की कई तस्वीरें भी उपलब्ध कराई थी।

इसके बाद प्रियंका के ससुर ने तुरंत पुलिस से संपर्क कर पुलिस को सारी बातें बताई। पुलिस ने इसके बाद अपनी जांच शुरू की और यह पता लगा लिया कि योगेश की हत्या के दिन दोनों के मोबाइल लोकेशन भी एक जगह पर ही थे। इसके बाद पुलिस ने प्रियंका और उसके प्रेमी रोहित को दबोचने में जरा भी वक्त नहीं लगाया। पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद इस मर्डर मिस्ट्री का राज खुल गया।

पता चला कि योगेश की हत्या को अंजाम देने के लिए 10 लाख रुपये की सुपारी दी गई थी। योगेश की पत्नी प्रियंका और उसके ब्वॉयफ्रेंड रोहित ने उत्तर प्रदेश के रहने वाले दो शख्स को कत्ल के लिए तैयार किया। तय हुआ कि हत्या से पहले योगेश को बेहोशी का इंजेक्शन लगाया जाएगा। साजिश के तहत इसके बाद बेहोश होने पर बॉडी को नहर में ठिकाने लगा देंगे। लेकिन वारदात के वक्त योगेश को बेहोशी का इंजेक्शन लगाने की कोशिश नाकाम रही। जोर-जबरदस्ती की वजह से सूई टूट गई। योगेश को इंजेक्शन नहीं लगाया जा सका। इसके बाद प्रियंका, रोहित और दोनों युवकों ने योगेश के मुंह पर तकिया रखकर उसका दम घोंट दिया।

हत्या के अगले दिन बिना पोस्टमार्टम करवाए योगेश का अंतिम संस्कार तक कर दिया गया। इस मर्डर मिस्ट्री के सुलझने के बाद पुलिस ने इस मामले में कानून के मुताबिक कार्रवाई की। बता दें कि योगेश की हत्या के बाद उसकी पत्नी रातोंरात अपने पति के अरबों रुपए के कारोबार की मालकिन बन गई थी। इतना ही नहीं उसने अपने बॉयफ्रेंड को 32 लाख की गाड़ी भी गिफ्ट की थी। (और…CRIME NEWS)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X