ताज़ा खबर
 

हाथरस कांड: योगी सरकार को बदनाम कर दंगा भड़काने की कोशिश, लखनऊ में Facebook यूजर पर केस दर्ज

इस मामले में मुन्ना यादव के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उसके फेसबुक पोस्ट से पता चलता है कि उसने राज्य में कानून-व्यवस्था को बिगाड़ने और सांप्रदायिक तथा सामाजिक शांति को भंग कर दंगा भड़काने की कोशिश की है।

hathras case, uttar pradeshआरोप है कि युवक ने सीएम के बयान को एडिट कर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। फाइल फोटो

उत्तर प्रदेश में लखनऊ पुलिस ने एक फेसबुक यूजर पर केस दर्ज किया है। युवक पर आऱोप है कि उसने हाथरस में 19 साल की लड़की से कथित गैंगरेप के मामले को लेकर सोशल मीडिया पर राज्य सरकार की छवि को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की है। लखनऊ डीसीपी (सेंट्रल) सोमेन बार्मा ने बताया कि ‘इस मामले में मुन्ना यादव के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उसके फेसबुक पोस्ट से पता चलता है कि उसने राज्य में कानून-व्यवस्था को बिगाड़ने और सांप्रदायिक तथा सामाजिक शांति को भंग कर दंगा भड़काने की कोशिश की है।’

इस मामले में धारा 153 A, 153 B, 420, 465, 468, 469, 500, 505 के तहत केस दर्ज किया गया है। इसके अलावा आईटी एक्ट के तहत भी इस मामले में केस दर्ज किया गया है।

‘The Indian Express’ से बातचीत करते हुए डीसीपी ने कहा कि इस मामले में स्थानीय पुलिस स्टेशन के एक सब-इंस्पेक्टर की शिकायत पर केस दर्ज किया गया है। जिनके संज्ञान में युवक का यह विवादित फेसबुक पोस्ट आया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक मुन्ना यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के एक बयान को एडिट कर फेसबुक पर डाला। इसमें एक न्यूज चैनल का लोगो और नाम भी नजर आ रहा है।

पुलिस का कहना है कि इस मामले में युवक को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। स्क्रीन शॉट में ब्रेकिंग न्यूज लिखकर मुख्यमंत्री की फोटो के साथ बाकायदा उनका फर्जी बयान जारी किया गया। ये स्क्रीन शॉट वाट्सएप समेत अन्य सोशल मीडिया के अकाउंट पर तेजी से वायरल किया गया। इस पर नरही चौकी प्रभारी भूपेंद्र सिंह की नजर गई तो उन्होंने अपने अफसरों को सूचना दी।

बताया जा रहा है कि फेसबुक यूजर को पकड़े के लिए पुलिस और साइबर क्राइम सेल की टीमों को लगाया गया है। स्क्रीन शॉट की खबर को सबंधित चैनल की वेबसाइट पर चेक किया गया। न्यूज चैनल ने भी इसका खंडन किया। पुलिस जांच में भी यह पाया गया कि संबंधित स्क्रीन शॉट वाला मैसेज सिर्फ मुख्यमंत्री की छवि धूमिल करने के इरादे से किया गया था, जो पुलिस जांच में भी फर्जी पाया गया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 हाथरस कांड: पूर्व BJP विधायक ने आरोपियों के समर्थन में बुलाई बैठक, CBI जांच और नारको टेस्ट का किया स्वागत
2 रेप की एफ़आईआर कराने लखनऊ से भाग नागपुर गई नेपाली महिला; गुजरात में बेटे के सामने लूटी अस्मत
3 यूपी: मथुरा में 5 साल के बच्चे का अपहरण, किडनैपरों ने मांगी 5 लाख रुपए की फिरौती
ये पढ़ा क्या?
X