ताज़ा खबर
 

हरियाणाः शरीर पर गुदा था ‘786’ वाला टैटू, भड़के हमलावरों ने इखलाक सलमानी को डंडों से पीटा, आरा मशीन से हाथ काटने का भी आरोप

इकराम का दावा है कि अखलाख ने उन्हें बताया कि घर में चार पुरुष और दो महिलाएं थीं। जब उनलोगों ने उनके हाथ पर 786 गुदा देखा तो उन्होंने कहा कि हम इसे यहां नहीं देख सकते। इसके बाद लकड़ी काटने वाले आरा से उनके हाथ को काटने की कोशिश की गई।

crime, crime news, haryanaघायल युवक के भाई ने कई गंभीर आरोप लगाए हैं। फोटो सोर्स – सोशल मीडिया

हरियाणा के पानीपत में 28 साल के एक मुस्लिम युवक की डंडों से पिटाई की गई। आरोप यह भी है कि आरा मशीन से युवक की हाथ काटने की कोशिश की गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह युवक नौकरी की तलाश में पानीपत आया था। ‘TwoCircles.net’ ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि अखलाख के भाई इकराम ने कहा कि 23 अगस्त को उनके भाई अपने घर से पानीपत के लिए निकले थे। अखलाख, नानौता के रहने वाले हैं। नानौता, सहारनपुर से 23 किलोमीटर दूर है। उनका कहना है कि उनके हाथ पर ‘786’ का टैटू गुदा हुआ था और यहीं देखकर कुछ लोग भड़क गए और उनकी पिटाई कर दी।

हालांकि इकराम के आरोपों से अलग पानीपत के एसीपी सतीश कुमार वत्स ने ‘The Indian Express’ से बातचीत करते हुए कहा कि शुरुआती जांच में यह पता चला है कि अखलाख ने एक बच्चे का यौन शोषण किया और भागने के दौरान उसे चोट लगी है। वहीं कुछ अन्य मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्थानीय थाने में युवक के खिलाफ 7 साल के बच्चे को अगवा कर उसका यौन शोषण करने के मामले में केस दर्ज कराया गया है। परिजनों का दावा है कि उन्होंने आरोपी को पकड़ लिया हालांकि बाद में वो भागने में कामयाब हो गया।

हालांकि अखलाख के भाई ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस इस केस को बदलना चाहती है। उनका दावा है कि परिवार की आर्थिक स्थिति खऱाब होने की वजह से उनके भाई पानीपत में काम की तलाश में गए थे। पानीपत पहुंचने के बाद वो किशनपुरा इलाके में कुछ देर तक आराम करने के लिए बैठ गए। यहां दो लोगों ने उनसे उनका नाम पूछा और जवाब- अखलाख, मिलने पर उन्होंने उनकी पिटाई शुरू कर दी। इसके बाद अखलाख घायल अवस्था में सड़क की तरफ भागे।

घायल अखलाख ने एक घर के दरवाजे पर दस्तक दी और मदद मांगी। लेकिन आरोप है कि यहां उन्हें घर के अंदर खींच लिया गया और लकड़ी के डंडे से उनकी पिटाई की गई। इकराम का दावा है कि अखलाख ने उन्हें बताया कि घर में चार पुरुष और दो महिलाएं थीं। जब उनलोगों ने उनके हाथ पर 786 का टैटू गुदा देखा तो उन्होंने कहा कि हम इसे यहां नहीं देख सकते। इसके बाद लकड़ी काटने वाले आरा से उनके हाथ को काटने की कोशिश की गई।

इकराम का कहना है कि जब अखलाख को होश आया तब वो रेलवे स्टेशन पर पड़े हुए थे। उनका आरोप है कि उनके भाई को रेल की पटरी पर फेंक दिया गया था ताकि यह अपराध, हादसे में तब्दील हो जाए। उन्होंने कहा कि जब उनके भाई 15 साल के थें तब ही से उनके हाथ पर 786 लिखा हुआ था और अल्लाह पर विश्वास करते हैं। बहरहाल इस मामले में पुलिसिया तफ्तीश जारी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मुंबई की इस इमारत में रहता था डॉन दाऊद इब्राहिम, जर्जर हालत देख कोर्ट ने भी फटकारा पर नहीं गई BMC
2 कर्नाटक: Arkeshwara Swamy मंदिर में 3 पुजारियों की हत्या, CM ने कहा – दोषियों पर जल्द होगी कार्रवाई
3 ट्रंप ने कहा- खशोगी की हत्या के बाद मैंने मोहम्मद बिन सलमान को बचाया, पत्रकार की किताब में दावा
यह पढ़ा क्या?
X