scorecardresearch

पंजाब और दिल्ली के विधायकों को भी आए एक्सटॉर्शन कॉल- अनिल विज, पुलिस की रडार पर 55 बैंक अकाउंट

Extortion calls: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि न केवल हरियाणा “पंजाब और दिल्ली” के कुछ राजनेताओं को भी एक्सटॉर्शन कॉल आईं और उन्हें भी धमकियां मिली थीं।

पंजाब और दिल्ली के विधायकों को भी आए एक्सटॉर्शन कॉल- अनिल विज, पुलिस की रडार पर 55 बैंक अकाउंट
हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज। (Photo Credit – ANI/File)

Haryana Home Minster Anil Vij On Extortion Calls: हरियाणा के विधायकों को जान से मारने की धमकी और एक्सटॉर्शन कॉल आने के मामले में गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि कुछ ऐसी ही कॉल्स दिल्ली और पंजाब के विधायकों को भी आई थी। गृह मंत्री अनिल विज ने सोमवार को कहा कि राज्य की पुलिस, धमकियों और रंगदारी की कॉलों से संबंधित मामले की हर परत को खंगालेगी और सुलझाएगी।

गृह मंत्री ने सदन में दी जानकारी

राज्य विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान कानून और व्यवस्था पर ध्यानाकर्षण प्रस्ताव (अटेंशन मोशन) का जवाब देते हुए विज ने सदन को बताया कि कैसे पुलिस ने बिहार और उत्तर प्रदेश के रहने वाले छह लोगों को गिरफ्तार किया था, जिनके पाकिस्तान और मिडिल ईस्ट के जालसाजों से संबंध थे। विज ने बताया कि ये सभी हत्याओं और मनी लॉन्ड्रिंग जैसी घटनाओं में शामिल थे।

पुलिस की रडार पर जालसाजों के 55 बैंक अकाउंट

गृह मंत्री के मुताबिक, पंजाब के तीन विधायकों और दिल्ली में आम आदमी पार्टी के दो विधायकों को भी इस तरह की धमकी भरे फोन आए थे। उन्होंने कहा कि जांच के दौरान संदिग्ध बैंक खातों की जांच की गई और पता चला कि 55 बैंक खातों से 2.77 करोड़ रुपये निकाले गए थे। गृह मंत्री ने कहा कि पुलिस जबरन वसूली के लिए इस्तेमाल किए गए जालसाजों के इन 55 बैंक खातों की जांच कर रही है।

Anil Vij ने बताए गिरोह के तौर-तरीके

अनिल विज ने सदन में गिरोह के तौर-तरीकों का जिक्र करते हुए कहा कि ये अपराधी खाता खोलकर लोगों को धमकाते थे। उन्होंने कहा कि जो कोई भी उनके जाल में फंसेगा वह पैसा भरता था, जिसे बाद में गिरोह द्वारा निकाल लिया जाता था। हालांकि, इस दौरान अनिल विज ने यह भी बताया कि कैसे राज्य पुलिस ने आरोपी द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे इंटरनेट प्रोटोकॉल (आईपी) नंबरों पर निगरानी रखी और गिरोह के सदस्यों को चकमा दिया।

गृहमंत्री विज ने की पुलिस की सराहना

सदन में गृह मंत्री विज ने कहा कि “हमारी राज्य पुलिस ने बहुत अच्छा काम किया है और उनकी तारीफ की जानी चाहिए।” राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति शांतिपूर्ण और नियंत्रण में है। गृह मंत्री ने कहा कि न केवल हरियाणा के विधायकों को बल्कि “पंजाब और दिल्ली” के कुछ राजनेता जिन्हें ऐसी धमकियां मिली थीं और उन्होंने कथित तौर पर जालसाजों द्वारा मांगे गए पैसे दे दिए थे। विज ने कहा, ‘जांच में ऐसे लोगों का पर्दाफाश किया जाएगा’।

मिडिल ईस्ट में रजिस्टर्ड थे नंबर, पाकिस्तान से होते थे ऑपरेट

गृह मंत्री विज ने बताया कि धमकियों में इस्तेमाल किये गए मोबाइल फोन की टेक्निकल जांच में सामने आया है कि यह नंबर मिडिल ईस्ट में रजिस्टर्ड किए गए और पाकिस्तान से ऑपरेट होते थे। यह सभी साइबर अपराधी हैं, जो किसी आतंकवादी संगठन से जुड़े नहीं हैं। विज ने कहा, “वे पंजाब में हाल ही में प्रकाशित/प्रचारित आपराधिक घटनाओं का उपयोग करके मौजूदा स्थिति का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे थे।”

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.