ताज़ा खबर
 

‘लात-घूंसे व डंडे से पीटा, करंट लगा पेचकस से गोदकर मार डाला’ 7 पुलिसकर्मियों पर कस्टडी में मौत का केस दर्ज

रविवार को पुलिस ने सबसे पहले प्रदीप के भाई तेजपाल को लकी कूपन देने का झांसा देकर बुलाया था। तेजपाल अपनी पत्नी कविता के साथ मौके पर पहुंचा तो पुलिसवालों ने उसे पकड़ लिया। उन्होंने तेजपाल से कहा कि वह झूठी सूचना देकर अपने भाई को बुलाए।

Author हापुड़ | Updated: October 18, 2019 4:58 PM
एफआईआर में डीएसपी हापुड़ संतोष कुमार, एसएचओ पिलखुआ योगेश बालियान और सब-इंस्पेक्टर अजब सिंह के नाम हैं। फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में पुलिस हिरासत में प्रदीप तोमर नाम के युवक की मौत के मामले में 7 पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है। बता दें कि यह मामला रविवार (13 अक्टूबर) को सामने आया था, जिसके 4 दिन बाद केस दर्ज किया गया। सातों पुलिसकर्मियों पर कस्टडी में मौत का आरोप लगाया गया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

परिजनों ने लगाया था हत्या का आरोप: जानकारी के मुताबिक, एफआईआर में डीएसपी हापुड़ संतोष कुमार, एसएचओ पिलखुआ योगेश बालियान और सब-इंस्पेक्टर अजब सिंह का नाम शामिल है। वहीं, 4 पुलिसकर्मी अज्ञात बताए जा रहे हैं। हापुड़ की छिजारसी पुलिस चौकी में रविवार को संदिग्ध हालात में प्रदीप तोमर की मौत हो गई थी। इस मामले में प्रदीप के परिजनों ने पुलिस पर हत्या करने का आरोप लगाया था।

National Hindi News 18 October 2019 LIVE Updates: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

बेटे ने सुनाई थी आंखों देखी दास्तां: प्रदीप तोमर के बेटे ने अपने पिता पर हुए अत्याचार का गवाह होने का दावा किया था। उसने बताया था, ‘‘पुलिस वालों ने पापा को लात-घूंसों से मारा। लकड़ी के डंडों से पीटा और बिजली के झटके दिए। साथ ही, बार-बार पेचकस से गोदते रहे। पुलिसवालों ने पापा के मुंह में बंदूक डालकर चेतावनी दी थी कि वह इस बारे में किसी को नहीं बताएंगे।

भाई ने कहा- प्रदीप को फंसाने के लिए पुलिस ने मुझे बनाया चारा: एफआईआर के मुताबिक, रविवार को पुलिस ने सबसे पहले प्रदीप के भाई तेजपाल को लकी कूपन देने का झांसा देकर बुलाया था। तेजपाल अपनी पत्नी कविता के साथ मौके पर पहुंचा तो पुलिसवालों ने उसे पकड़ लिया। उन्होंने तेजपाल से कहा कि वह झूठी सूचना देकर अपने भाई को बुलाए।

पैसे की जरूरत बता प्रदीप को बुलाया: तेजपाल ने एफआईआर में बताया, ‘‘पुलिस के कहने पर मैंने प्रदीप को कॉल किया। मैंने उससे कहा कि मेरी बाइक खराब हो गई और मुझे पैसों की जरूरत है। वह अपने बेटे के साथ पैसे लेकर छिजारसी टोल के पास पहुंचा तो पुलिस ने मुझसे उसकी पहचान कराई। जैसे ही मैंने ऐसा किया, पुलिस उसे थाने ले गई।’’ एफआईआर के मुताबिक, पुलिस ने प्रदीप को बेल्ट से पीटा था। साथ ही, उसके बेटे के सामने करंट भी लगाया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 हिंदू समाज पार्टी के नेता की हत्याः जानें कौन थे कमलेश तिवारी? विवादों से रहा है पुराना नाता
2 पत्नी का रेप करते देखा तो रेपिस्ट का गुप्तांग काट डाला, पति को दुष्कर्म के आरोपी से ज्यादा मिली सकती है सजा
3 Lucknow: हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की दिनदहाड़े हत्या, पैगंबर पर विवादित बयान को लेकर आए थे चर्चा में
India vs New Zealand 3rd T20:
X