ताज़ा खबर
 

Gujarat: दलित युवक ने बनाया TikTok Video तो भड़क उठे दबंग, पहले की पिटाई फिर मुंडवाई मूंछ, कहा- जान से मार देंगे

मोटा कोठासाना गांव के संजयभाई रांछोदभाई परमार का आरोप है कि दबंगों ने उसको जान से मारने की धमकी दी, उसकी मूंछ उड़वाने के लिए विवश किया, उसकी पिटाई की और माफी मंगवाई।

Author अहमदाबाद | Updated: December 8, 2019 8:55 AM
ओडिशा में आयुर्वेद डॉक्टर को पीटा, प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

गुजरात के मेहसाणा निवासी 20 वर्षीय एक दलित ने आरोप लगाया कि शनिवार को उसके गांव के कुछ दबंगों ने जबरन उसकी मूंछ उड़वा दी। मोटा कोठासाना गांव के संजयभाई रांछोदभाई परमार का आरोप है कि दबंगों ने उसको जान से मारने की धमकी दी, उसकी मूंछ उड़वाने के लिए विवश किया, उसकी पिटाई की और माफी मंगवाई। परमार ने दावा किया कि दबंग युवकों से उसके माफी मांगने का एक वीडियो वायरल हुआ है।

आईपीसी की कई धाराओं में केस दर्ज : मेहसाणा के पुलिस अधीक्षक मनीष सिंह ने कहा कि आईपीसी की कई धाराओं, आईटी एक्ट की धारा 67 (इलेक्ट्रॉनिक रूप में अश्लील सामग्री को प्रकाशित या प्रसारित करने के लिए सजा) और एससी / एसटी (अत्याचार निवारण) के कई धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। शनिवार देर रात तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

Hindi News Today, 08 December 2019 LIVE Updates: बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

आरोपियों ने सुबह फोन करके बुलाया : एसपी के मुताबिक, “पीड़ित और आरोपी एक ही गांव के हैं। पीड़ित को दबंगों ने मूंछ मुंडवाने के लिए विवश किया था।” शनिवार शाम तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी थी। एफआईआर के मुताबिक परमार को सुबह 8.42 बजे गांव के संजय सिंह जेठूसिंह ने फोन किया और कोठासाणा स्वास्थ्य उपकेंद्र आने के लिए कहा। रास्ते में मोटा कोठासाणा गांव के परमार संग्राम सिंह, प्रह्लाद सिंह चौहान और राजदीप सिंह चौहान मिले।

बाद में पिटाई की और गालियां दीं : पीड़ित ने बताया, “मैं राजदीप सिंह के साथ गाड़ी में पीछे बैठ गया। उसने मुझे स्वास्थ्य उपकेंद्र पर छोड़ा। संजय सिंह वहां नहीं था। संग्राम सिंह और कुछ दूसरे मुझसे टिकटॉक वीडियो के बारे में पूछा, जिसे मैंने कुछ समय पहले बनाया था। उन लोगों ने मुझे जातिसूचक गालियां दीं। उन्होंने मुझसे मूंछ मुंडवाने को कहते हुए जान से मारने की धमकी दी। मैं घर आया और अपनी मूंछ मुंडवा दी। मैं वापस उपकेंद्र गया, जहां संग्राम सिंह और दूसरों ने मुझे गालियां दीं। मुझे जबरन माफी मांगने के लिए विवश किया। फिर जयेंद्रसिंह वेलसिंह चौहान, राजपालसिंह अर्जुनसिंह चौहान, स्वराजसिंह जगतसिंह चौहान और एक अज्ञात व्यक्ति ने मेरे साथ मारपीट की। मेरे पिता रणछोड़भाई, परिवार के सदस्य और पड़ोसी मेरे बचाव में आए।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पंजाब: बीमा की रकम पाने के लिए भिखारी को जलाकर मार डाला, फिर लिखवा दी अपनी ही गुमशुदगी की रिपोर्ट
2 पैसों के लेन-देन में युवक की बेरहमी से हत्या, पहले पत्थर से कूचकर मार डाला; फिर छाती व पेट फाड़ शव नदी में फेंका
3 आम आदमी पार्टी की MLA का आरोप- कार सवार लोगों ने दौड़ाकर की टक्कर मारने की कोशिश, थाने में घुसकर बचाई जान
ये पढ़ा क्या?
X