‘राका को पकड़कर दिखा वो वापस आ रहा है’ बदमाश ने SP को किया चैलेंज, पुलिस ने जाल बिछाकर ऐसे दबोचा

बिहार के भागलपुर जिले में एक बदमाश को पुलिस को चैलेंज करना भारी पड़ गया। 2017 के एक मामले में फरार चल रहे बदमाश को पुलिस ने जाल बिछाकर नागपुर से गिरफ्तार कर लिया।

Jail Generic
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक प्रस्तुतीकरण के लिए किया गया है। Source- Pixabay

बिहार के भागलपुर जिले में एक बदमाश को पुलिस को चैलेंज करना भारी पड़ गया। 2017 के एक मामले में फरार चल रहे बदमाश को पुलिस ने जाल बिछाकर नागपुर से गिरफ्तार कर लिया। अब इस मामले की चर्चा चारों तरफ हो रही है। तनवीर राका नाम का बदमाश साल 2017 में सूजागंज बाजार की मस्जिद गली में बम विस्फोट का आरोपी है, उसने सोशल मीडिया पर बकायदा एक पोस्ट लिखकर पुलिस को चैलेंज किया कि मुझे पकड़कर दिखाओ। तनवीर आलम ने अपने पोस्ट में लिखा, भागलपुर एसपी को चैलेंज… राका को पकड़ कर दिखा… राका वापस आ रहा है, हिसाब किताब के लिए… आईविटनेस तनवीर राका।

यह पोस्ट वायरल होते हुए भागलपुर की एसपी नताशा गुड़िया तक पहुंची। एसपी ने तुरंत इसकी लोकेशन निकालने के आदेश दिए तो पता चला कि नागपुर से यह पोस्ट किया गया है। इसके बाद नागपुर पुलिस से संपर्क किया गया और तनवीर के पोस्ट से जुड़ी जानकारी साझा की गई। भागलपुर से एक टीम नागपुर पहुंची और स्थानीय पुलिस के साथ कई इलाकों की दबिश दी गई। इसी दौरान राका का एक सबूत मिला। पुलिस को पता चला कि बदमाश मोमिनपुर इलाके में कपड़े बेचने और सिलने का काम करता है। इसके बाद मंगलवार (21 सितंबर) की रात पुलिस की टीम ने उसे पकड़ा।

राका तनवीर के ऊपर 5 मामले दर्ज हैं, जिसमें बमबाजी से लेकर डकैती और पत्रकारों पर गोली चलाना तथा थानेदार को धमकी देना शामिल है। स्थानीय समाचार पत्रों के अनुसार तनवीर राका ने अपने पिता मोहम्मद मंजूर की हत्या का बदला लेने का ऐलान किया था। इसके बाद उसके ऊपर पत्रकारों से मारपीट व लूट का आरोप लगा था। शिकायत के अनुसार लूट का विरोध करने पर उसने पत्रकारों पर गोली चला दी थी, जिसमें तीन पत्रकारों की जान बाल-बाल बची थी।

इस दौरान जब उसे पकड़कर थाने लाया गया तो उसने तत्कालीन थानेदार केके अकेला पर बंदूक तान दी थी और जेल से निकलने के बाद सूजागंज इलाके में बमबाजी की थी। इस घटना के बाद राका फरार था। पुलिस के अनुसार वह भागलपुर से भाग कर नागपुर जिले के मोमिनपुरा इलाके में रहने लगा था। चूंकि उसे दर्जी का काम आता था, लिहाजा वह यह काम करने लगा था।

राका को दबोचने का जाल तैयार करने वालीं एसपी नताशा गुड़िया की तारीफ इन दिनों जोरों-शोरो से हो रही है, उनको लेडी सिंघम के नाम से भी जाना जाता है। नताशा मूल रूप से दिल्ली की रहने वाली हैं, दिल्ली यूनिवर्सिटी से ग्रैजुएशन के बाद उन्होंने टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल स्टडीज से मास्टर की डिग्री हासिल की। साल 2008 में वह IPS के लिए चुनी गई थीं। उनके पति सत्यवीर सिंह भी 2008 बैच के IPS हैं।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट