ताज़ा खबर
 
  • राजस्थान

    Cong+ 95
    BJP+ 81
    RLM+ 0
    OTH+ 23
  • मध्य प्रदेश

    Cong+ 114
    BJP+ 103
    BSP+ 5
    OTH+ 8
  • छत्तीसगढ़

    Cong+ 65
    BJP+ 17
    JCC+ 8
    OTH+ 0
  • तेलांगना

    TRS-AIMIM+ 87
    TDP-Cong+ 22
    BJP+ 2
    OTH+ 8
  • मिजोरम

    MNF+ 29
    Cong+ 6
    BJP+ 1
    OTH+ 4

* Total Tally Reflects Leads + Wins

‘भूत’ बनकर गर्ल्स हॉस्टल में लड़कियों का यौन शोषण, वार्डन पर लगे गंभीर आरोप

उत्तर प्रदेश में मेरठ स्थित कस्तूरबा गांधी स्कूल के गर्ल्स हॉस्टल से जुड़ी सनसनीखेज घटना सामने आई है।यहां लड़कियों से छेड़खानी की घटना हो रही है, इसका आरोप किसी और पर नहीं बल्कि हॉस्टल की वार्डन पर ही लग रहे।

Author नई दिल्ली | May 22, 2018 12:17 PM
प्रतीकात्मक फोटो।

उत्तर प्रदेश में मेरठ स्थित कस्तूरबा गांधी स्कूल के गर्ल्स हॉस्टल से जुड़ी सनसनीखेज घटना सामने आई है।यहां लड़कियों से छेड़खानी की घटना हो रही है, इसका आरोप किसी और पर नहीं बल्कि हॉस्टल की वार्डन पर ही लग रहे। लड़कियों ने आरोप लगाया है कि भूत की शक्ल में वार्डन लड़कियों को डराती हैं। इस आवासीय विद्यालय में कुल सौ से अधिक लड़कियां पढ़तीं हैं।जिसमें से आठ लड़कियों और दो शिक्षकों ने जिलाअधिकारी से शिकायत करते हुए कहा है कि स्कूल में हर रात छेड़खानी की घटना होती है। लड़कियों ने पेसिंल से लिखे पत्र में अपनी आपबीती बताते हुए कहा है कि किस तरह भूत की शक्ल में एक महिला उनके साथ छेड़खानी करती है। लड़कियों के मुताबिक वार्डन अपना चेहरा ढंक लेती हैं और उन्हें डराने के लिए भूत की तरह पूरे परिसर में चहलकदमी करतीं हैं।वह अपने पास परफ्यूम की तरह का तरल पदार्थ रखतीं हैं, जिसे कुछ लड़कियों पर छिड़कतीं हैं।वार्डन फुसफुसती हैं और किसी अदृश्य लड़की से बात करने की नाटक करतीं हैं।

कक्षा पांच में पढ़ने वाली एक लड़की ने पत्र में कहा है-वार्डन भूत की तरह आकर हमारे कपड़े उतार देती हैं, मगर डर के मारे हम आंख खोलने की हिम्मत नहीं जुटा पाते। स्कूल में कुल तीन बडे़ कमरे हैं, जिसमें 20-20 बेड हैं। हर बेड पर दो लड़कियां सोती हैं। नियम के मुताबिक हर कमरे में एक शिक्षिका को लड़कियों के साथ सोना चाहिए मगर ऐसा नहीं होता।रात में यौन उत्पीड़न का शिकार होने वाली लड़कियां कक्षा पांच, सात और आठवीं क्लास में पढ़ती हैं।

कक्षा सातवीं की एक छात्रा ने बताया कि वार्डन रात के समय कुछ लड़कियों को हॉस्टल के बाहर भी ले जाती हैं। सूत्रों के मुताबिक कुछ लड़कियों के अभिभावकों ने स्थानीय पुलिस को भी शिकायत भेजी मगर कोई केस दर्ज नहीं हुआ। मेरठ के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सत्येंद्र कुमार ने कहा-खंड शिक्षाधिकारी और कस्तूरबा गांधी विद्यालय के जिला संयोजक की कमेटी जांच कर रही है। प्रथम दृष्टया जांच में पता चला है कि पूर्णकालिक शिक्षक और वार्डन के बीच मनमुटाव के बीच बच्चों में डर बैठाने की कोशिश हो रही है। छेड़छाड़ के लिए स्कूल के स्टाफ पर संदे है। जांच रिपोर्ट आते ही कार्रवाई होगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App