scorecardresearch

गैंगस्टर से नेता बने लखा सिधाना व लखबीर ​​लांडा पर एक्शन, पाक से ड्रग्स और हथियार तस्करी के आरोप में दर्ज हुआ केस

Punjab: गैंगस्टर से नेता बने लखा सिधाना और मोस्टवांटेड गैंगस्टर लखबीर सिंह उर्फ ​​लांडा के खिलाफ जबरन वसूली, सीमा पार से ड्रग्स और हथियारों की तस्करी का मामला दर्ज किया गया है।

गैंगस्टर से नेता बने लखा सिधाना व लखबीर ​​लांडा पर एक्शन, पाक से ड्रग्स और हथियार तस्करी के आरोप में दर्ज हुआ केस
गैंगस्टर से नेता बने लखा सिधाना (बाएं) और लखबीर सिंह लांडा (फोटो सोर्स – Facebook/landaharike/lakhasidhana)

Lakhbir singh Landa And Lakha Sidhana News: पंजाब में तरनतारन की हरिके पुलिस ने गैंगस्टर से नेता बने लखा सिधाना और कनाडा में रहने वाले मोस्टवांटेड गैंगस्टर लखबीर सिंह उर्फ ​​लांडा हरिके के खिलाफ जबरन वसूली, सीमा पार से ड्रग्स और हथियारों की तस्करी का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने इस मामले में 9 और लोगों को आरोपी बनाया है।

तरनतारन के हरिके पुलिस स्टेशन में इस संबंध में दो सितंबर को ही मामला दर्ज किया गया था लेकिन मामला तब सामने आया जब सिधाना के कुछ प्रशंसकों ने सोशल मीडिया पर दावा किया कि लखा सिधाना को पंजाब पुलिस द्वारा एक “फर्जी” मामले में आरोपी बनाया गया है।

सीमा पार से ड्रग्स और हथियारों की तस्करी का मामला

एचटी की रिपोर्ट के मुताबिक, एफआईआर में एक गिरोह के लोगों पर यह मामला दर्ज किया है, जिसमें लांडा हरिके को मास्टरमाइंड बताया गया है। लांडा फिलहाल कनाडा में है और वह ISI के संरक्षण में रह रहे गैंगस्टर रिंदा की मदद से पाकिस्तान से ड्रोन का इस्तेमाल कर हथियारों, गोला-बारूद और ड्रग्स की तस्करी का काम करता रहा है। एफआईआर में जिस कथित गिरोह के नाम मामला दर्ज हुआ है उसमें अन्य सभी आरोपी तरनतारन जिले के विभिन्न गांवों के रहने वाले हैं।

रिपोर्ट में बताया गया है कि हरिके पुलिस में खुफिया सूचना के आधार पर मामला दर्ज किया गया था। एफआईआर में कहा गया है कि “लांडा अपने गुर्गों के जरिए बड़े कारोबारियों और अमीरों से पैसे मांगता है और पैसे देने से मना करने पर धमकाता है। हालांकि, जो लोग उसे पैसा दे देते हैं वह पैसा हवाला के जरिए लांडा को भेज दिया जाता है।

इन धाराओं में मामला दर्ज, अब तक अरेस्ट नहीं हुआ सिधाना

एफआईआर में कहा गया है कि “लांडा कई बार पाकिस्तान को फिरौती के पैसे भेजता रहा है ताकि ड्रोन के जरिए हेरोइन और अवैध हथियारों की तस्करी की जा सके।” इस मामले में आईपीसी की धारा 386, 387, 388, 389 (जबरन वसूली) और 120-बी (आपराधिक साजिश), आर्म्स एक्ट और एनडीपीएस एक्ट की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। हालांकि, FIR दर्ज होने के एक महीने बाद भी सिधाना को अरेस्ट नहीं किया गया है।

कौन है लखबीर लांडा?

तरनतारन जिले के हरिके पट्टन गांव के रहने वाला लांडा पिछले 11 साल से पंजाब पुलिस के गले की फांस बना हुआ है। गैंगस्टर से आतंकी बने हरविंदर सिंह उर्फ ​​रिंदा का एक करीबी सहयोगी लांडा साल 2017 में कनाडा भाग गया और खालिस्तान समर्थक आतंकवादी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल (बीकेआई) के साथ हाथ मिला लिया था। लांडा पर करीब 18 मामले दर्ज हैं। इसके अलावा, लांडा अमृतसर में एक सब-इंस्पेक्टर की कार के नीचे IED लगाने और मोहाली में सीआईए दफ्तर में रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड (RPG) हमले का मास्टरमाइंड है।

लखा सिधाना: कभी रहा कबड्डी खिलाड़ी, फिर लड़ा चुनाव

लखा सिधाना उर्फ ​​लखबीर सिंह पंजाब के बठिंडा जिले के सिधाना गांव का रहने वाला है। एक जमाने में पंजाब के सबसे खूंखार गैंगस्टरों में से एक लखा सिधाना बूथ कैप्चरिंग, हत्या के प्रयास, हत्या, लूट के अलावा आर्म्स एक्ट के उल्लंघन समेत दो दर्जन से ज्यादा मामलों में आरोपी है। किसान आंदोलन के दौरान दिल्ली के लाल किले पर गणतंत्र दिवस की हिंसा में भी सिधाना का नाम सामने आया था। सिधाना ने रामपुर फूल विधानसभा से (पीपीपी) के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा लेकिन उनकी जमानत जब्त हो गई। सिधाना के फरार होने के दौरान पुलिस ने जब परिजनों को हिरासत में लिया तो उसने अपराध की दुनिया को अलविदा कहने का फैसला किया था।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 02-10-2022 at 04:42:46 pm
अपडेट