ताज़ा खबर
 

ATM कार्ड हैक कर बैंकों को लगाया एक करोड़ का चूना, पैसे निकासी की जगह उंगली लगा निकाल लेते थे रुपए

आरोपी पैसे की निकासी के लिए अमाउंट डालते थे और जैसे ही मशीन काउंट करना शुरू करती थे, वे ट्रांजेक्शन कैंसल का बटन दबा देते थे और पैसे निकासी की जगह उंगली लगाकर रूपए निकाल लेते थे।

Author रूद्रपुर | Published on: September 17, 2019 3:51 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

उत्तराखंड के उधम सिंह नगर जिले के रुद्रपुर में पुलिस ने बैंकों के एटीएम हैक करके नैनीताल और उधम सिंह नगर जिले की विभिन्न बैंकों को लगभग एक करोड़ रुपये का चूना लगाने वाले अन्तरराज्यीय गिरोह के आठ सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके पास से 1.36 लाख रुपये नकद, एक कार, दो मोटरसाइकिलें और विभिन्न बैंकों के 61 एटीएम बरामद किए हैं । यह गिरोह इससे पहले कानपुर में भी गिरफ्तार हो चुका है। जिले के अपर पुलिस अधीक्षक देवेंद्र पीचा ने बताया कि उत्तराखंड में एटीएम कार्डों के जरिये बैंक फ्रॉड का यह अपनी तरह का पहला मामला सामने आया है।

खाते से पैसा कटने की करते थे झूठी शिकायतः उन्होंने बताया कि यह गिरोह अपने परिचितों और दूसरे लोगों से किराए पर एटीएम कार्ड लाकर बैंकों के एटीएम से पैसा निकालते थे। आरोपी पैसे की निकासी के लिए अमाउंट डालते थे और जैसे ही मशीन काउंट करना शुरू करती थे, वे ट्रांजेक्शन कैंसिल का बटन दबा देते थे और पैसे निकासी की जगह उंगली लगाकर रूपए निकाल लेते थे। बाद में वह बैंक में ट्रांजेक्शन कैंसिल होने के बावजूद खाते से पैसा कटने की झूठी शिकायत करते थे जिसके 24 घंटे बाद खातों में पैसा रिफंड आ जाता था।

पूछताछ किए जाने पर सकपकाएः पीचा ने बताया कि कल देर रात जब पुलिस गश्त पर थी तो उत्तर प्रदेश के रजिस्ट्रेशन नंबर वाली एक कार में बैठे छह युवक संदिगध दिखाई दिए। पूछताछ किए जाने पर वे सकपका गए जिस पर शक गहरा गया और पुलिस ने उनकी तलाशी ली जिसमें उनके पास से कई एटीएम कार्ड बरामद हुए। सख्ती करने पर उन्होंने बताया कि वे लोग कानपुर के थाना चकेरी के रहने वाले हैं और उनके दो साथी एटीएम से पैसा निकालने गये हैं जिन्हें टीम द्वारा काशीपुर रोड ओवरब्रिज से गिरफ्तार किया गया । पूछताछ में उन्होंने बताया कि वह अपने जानने वालों से एटीएम कार्ड लाते हैं और उससे पैसे निकालते हैं।

अलग-अलग एटीएम से निकाले एक करोड़ रुपएः आरोपियों ने बताया कि पिछले 15 दिनों में उनका गिरोह विभिन्न एटीएम से एक करोड़ रुपये निकाल चुका है। आरोपियों की पहचान किशन कश्यप, राहुल कनौजिया, जीतू यादव, रवि कुमार, आशीष उर्फ अमन, रोहित, रविकांत और शिवम के रूप में की गयी है । आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि इस फ्रॉड को रोकने के लिये पुलिस ने भारतीय रिजर्व बैंक को भी सूचित कर दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राजस्थान: अलार्म सिस्टम के तार काट पीएनबी की ब्रांच में घुसे हथियारबंद 5 बदमाश, दिनदहाड़े 19 लाख लूटकर भागे
2 दिल्ली: कारोबारी को घर के बाहर लूटा, विरोध जताया तो मार दी गोली, हार्ट अटैक समझ कंफ्यूज हुए घरवाले
3 ‘दोनों को साथ देख लिया तो गोली मार दूंगा’, बहन की लव मैरिज पर चचेरे भाई ने दी थी धमकी, कर डाला डबल मर्डर