scorecardresearch

UK में नौकरी का लालच, स्काइप पर फर्जी इंटरव्यू; फिर इंजीनियर को लगाई को ऐसे लगाई 9 लाख रुपये की चपत

Cyber Crime: इस साइबर धोखधड़ी के मामले में साकीनाका पुलिस ने शुक्रवार को अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। इंजीनियर को जालसाजों ने करीब 9.09 लाख रुपये की चपत लगाई है।

Mumbai, Juhu police, Mumbai fraud cases, Google, fake courier service number
तस्वीर का इस्तेमाल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (Photo Credit – Pixabay)

मुंबई से साइबर धोखाधड़ी का हैरान करने वाला मामला सामने आया है। इस घटना में एक निजी कंपनी के 56 वर्षीय सिविल इंजीनियर को जालसाजों ने यूनाइटेड किंगडम (यूके) में नौकरी की पेशकश की। यहां तक ​​कि उसका स्काइप पर एक फर्जी वीडियो इंटरव्यू भी किया। इस प्रक्रिया के बाद जालसाजों ने इंजीनियर को वीजा दिलाने और अन्य सुविधाओं के नाम पर 9 लाख रुपये ट्रांसफर करवा कर धोखाधड़ी को अंजाम दे दिया।

इस साइबर धोखाधड़ी के मामले में साकीनाका पुलिस ने शुक्रवार को अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की। शिकायत के मुताबिक 13 अप्रैल को शिकायतकर्ता के दोस्त ने उसे नौकरी खोलने से संबंधित ईमेल भेजा था। शिकायतकर्ता ने इसे पढ़ा और अपना बायोडाटा ‘recruiter/maxiconstruction.org’ पर भेज दिया। फिर कुछ दिनों बाद जवाब आया कि उसे नौकरी के लिए स्काइप पर इंटरव्यू देना होगा।

बीते महीने 15 अप्रैल को, सिविल इंजीनियर को स्काइप वीडियो कॉल के दौरान लिखित परीक्षा देने को कहा गया था। लिखित परीक्षा के चार दिन बाद, उसे एक ईमेल प्राप्त हुआ; जिसमें बताया गया कि उसका चयन हो गया है। शिकायत में बताया गया है कि इतना सब होने के बाद उनसे कहा गया कि वह तीन साल के लिए दिए जाने वाले वीजा प्रक्रिया के लिए सारे दस्तावेज ईमेल पर भेज दें।

इसी क्रम में जालसाजों ने इंजीनियर को बैंक विवरण और नई दिल्ली में ब्रिटिश दूतावास के कार्यकारी सहायक के रूप में तैनात जेम्स मूर का मोबाइल नंबर भी दिया। पीड़ित इंजीनियर को कहा गया कि वह यात्रा, वर्क परमिट, दस्तावेज सत्यापन व अन्य सुविधा से जुड़े शुल्क का भुगतान कर दें, जिसे बाद में वापस कर दिया जाएगा। इस तरह जालसाजों ने उससे कुल मिलाकर 9.09 लाख रुपये का भुगतान करवाया।

शिकायतकर्ता ने कहा कि जब उसे एहसास हुआ कि ठगी हुई है तो आरोपी के संबंधित नंबर पर संपर्क किया। एक बार तो उन्होंने फोन उठाया भी तब उसने अपने पैसे वापस करने का अनुरोध किया। हालांकि, जालसाजों ने बाद में उसका फोन उठाना बंद कर दिया, जिसके बाद इंजीनियर के पास पुलिस से संपर्क करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट