ताज़ा खबर
 

Modi की भतीजी से स्नैचिंग करने वाले 24 घंटे में पकड़े, लेकिन ठगी के बाद थाने के चक्कर काट रहे 3 पूर्व PM के ड्राइवर

मुंशी राम ने दुकान में लगे कैमरे की फुटेज चेक की तो उसमें चोरी करने वाले लड़के का चेहरा साफ नजर आ गया। उन्होंने पुलिस को फुटेज भी दे दी, लेकिन 7 दिन बाद भी आरोपी पकड़े नहीं गए हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: October 17, 2019 3:58 PM
तीन-तीन पीएम के ड्राइवर, 7 दिन से काट रहे थाने के चक्कर।

पीएम नरेंद्र मोदी की भतीजी दमयंती बेन से स्नैचिंग के आरोपियों को दिल्ली पुलिस ने महज 24 घंटे में पकड़ लिया था। वहीं, मेट्रोपोलिटन मैजिस्ट्रेट का मोबाइल सिर्फ 48 घंटे में तलाश लिया गया था। इसके बावजूद दिल्ली पुलिस की तारीफ नहीं हो रही है। लोगों का कहना है कि आम लोगों की शिकायतों पर पुलिस इतनी फुर्ती नहीं दिखाती है। इन्हीं आम लोगों में एक शख्स ऐसा भी है, जो 3-3 प्रधानमंत्री का ड्राइवर रह चुका है। उससे 50 हजार रुपए की ठगी हुई, लेकिन करीब 7 दिन बीतने के बाद भी आरोपियों को पकड़ नहीं पाई है। यह हाल तब है, जब पुलिस के पास सीसीटीवी फुटेज भी है और उसमें आरोपियों के चेहरे साफ-साफ नजर आ रहे हैं।

3 प्रधानमंत्रियों के ड्राइवर रहे बुजुर्ग मुंशी राम: गोल मार्केट एरिया में रहने वाले मुंशी राम करीब 74 साल के हैं। वह पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री, इंदिरा गांधी व राजीव गांधी के ड्राइवर रह चुके हैं। वहीं, रिटायरमेंट के बाद छोटी-सी दुकान चलाकर जीवन यापन कर रहे हैं।

Hindi News Today, 17 October 2019 LIVE Updates: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

9 अक्टूबर को हुई वारदात: एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़ित ने बताया, ‘‘9 अक्टूबर को मैं सेंट्रल स्कूल के पास स्थित अपनी दुकान में बैठा था। दोपहर करीब एक बजे 2 लड़के वहां आए और दुकान के आसपास घूमने लगे।’’ मुंशी राम ने बताया कि उस वक्त उनकी जेब में 50 हजार रुपए रखे थे।

ऐसे की गई ठगी: मुंशी राम के मुताबिक, एक लड़के ने उनकी कुर्सी पर च्विंगम चिपका दी, जो उनकी बनियान पर लग गई। ऐसे में एक आरोपी ने उन्हें बनियान साफ करने के लिए कहा। मुंशी राम ने अपनी जेब में रखे पैसे गल्ले में रखे और पब्लिक टॉयलेट में चले गए। उस दौरान शौचालय का इंचार्ज बाहर ही खड़ा था।

Karwa Chauth 2019 Live Updates

सीसीटीवी में कैद हुई वारदात: बताया जा रहा है कि इस बीच एक अन्य लड़के ने पता पूछने के बहाने इंचार्ज को बातों में लगा लिया। वहीं, दूसरा बदमाश दुकान में घुसा और पैसे लेकर निकल गया। इसके बाद तीनों बदमाश स्कूटर पर बैठकर फरार हो गए।

7 दिन बाद भी आरोपी फरार: मुंशी राम दुकान पर पहुंचे तो उन्हें मामले की जानकारी हुई। उन्होंने दुकान में लगे कैमरे की फुटेज चेक की तो उसमें चोरी करने वाले लड़के का चेहरा साफ नजर आ गया। उन्होंने पुलिस को फुटेज भी दे दी, लेकिन 7 दिन बाद भी आरोपी पकड़े नहीं गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 14 साल के 2 लड़कों का यौन शोषण कर शराब और गांजा दिया, धरी गई 47 साल की महिला
2 Bihar शराब ले जाने के लिए लगाया गजब जुगाड़, जेनरेटर की बॉडी में भर रखी थीं 1000 बोतलें
3 UP: घर में अकेली महिला को 4 बदमाशों ने मार दी गोली, पति का दावा- पुरानी दुश्मनी में अंजाम दी गई वारदात