scorecardresearch

मुस्लिम महिलाओं की तस्वीर इस्तेमाल करने वाले विवादित एप के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने दर्ज की FIR

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने गुरुवार को विवादित मोबाइल एप सुल्ली डील (Sulli Deal) के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है। इस एप पर मुस्लिम महिलाओं की फोटोज का इस्तेमाल बिना उनकी जानकारी के किया जा रहा था। अब दिल्ली पुलिस इस मामले की पड़ताल करेगी।

Sulli Deal, Muslim Lady, Delhi Police, Delhi News in Hindi
Sulli Deal एप पर मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों का गलत इस्तेमाल- प्रतीकात्मक तस्वीर: सोर्स- AP
दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुरुवार को विवादित मोबाइल एप ‘सुल्ली डील’ के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है। इस एप पर महिलाओं की फोटोज का इस्तेमाल बिना उनकी जानकारी के किया जा रहा था। अब दिल्ली पुलिस इस मामले की पड़ताल करेगी। इससे पहले दिल्ली महिला आयोग ने मामले में सख्त रुख अपनाते हुए दिल्ली पुलिस को एक नोटिस जारी किया था और इसे गंभीर साइबर अपराध करार दिया था। दिल्ली महिला आयोग के अनुसार महिला मुस्लिमों की तस्वीरें और अन्य जानकारियों का इस्तेमाल करना कानून का उल्लंघन है।

क्या है पूरा मामला: पिछले रविवार को ओपन सोर्स के माध्यम से एक मोबाइल एप ‘सुल्ली डील’ बनाया गया, जहां सोशल मीडिया से उठाई गई मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों का इस्तेमाल किया गया था। बताते चलें कि सुल्ली मुस्लिम महिलाओं के लिए इस्तेमाल होने वाले अपमानजनक शब्द माना जाता है। इस ऐप में 80 से ज्यादा मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें, उनके नाम और ट्विटर हैंडल की जानकारी साझा की गई, साथ ही शीर्षक दिया गया, ‘फाइंड योर सुल्ली’. जिस पर क्लिक करने के साथ ही महिला की तस्वीर, नाम और हैंडल की जानकारी यूजर के साथ साझा की जा रही थी।

इस एप को होस्टिंग प्लेटफॉर्म गिटहब पर बनाया गया था, जिसे सोमवार को हटा दिया गया। मामले पर गिटहब की सफाई भी सामने आई है।  मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, गिटहब ने मामले की जांच शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि गिटहब की पॉलिसी प्रताड़ना, भेदभाव और हिंसा के खिलाफ है।

इस एप पर जिन मुस्लिम महिलाओं की जानकारी को सार्वजनिक किया गया है, वह खासी आहत नजर आ रही हैं। उनका कहना है कि ऐप के हट जाने से राहत जरूर है लेकिन यह जांच का विषय है कि कौन हमारी तस्वीरों का इस्तेमाल कर रहा है।

मीडिया में छपी रिपोर्ट्स के अनुसार इस मामले की जांच में मुंबई पुलिस भी जुट गई है। मुंबई पुलिस ने ट्विटर इंडिया से ऐप बनाने वाले और इसे सोशल मीडिया पर शेयर करने वालों की जानकारी मांगी है। साथ ही गिटहब से आईपी एड्रेस, लोकेशन और एप की तारीख की जानकारी भी मांगी है। साथ ही एप बनाने वाले यूजर का इमेल एड्रेस और मोबाइल नंबर भी मांगा है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट