scorecardresearch

FBI ने ‘क्रिप्टो क्वीन रुजा इग्नातोवा’ का टॉप 10 मोस्ट वांटेड की लिस्ट में डाला नाम, 4 बिलियन डॉलर की धोखाधड़ी का है आरोप

Crypto Queen Ruja Ignatova: कोर्ट के दस्तावेजों के मुताबिक, रुजा ने साल 2014 से 2017 के बीच वनकॉइन में कम से कम 4 अरब डॉलर जमा किए। रुजा को लिस्बन में अक्टूबर 2017 में एक कार्यक्रम में आना था, लेकिन वह वहां पहुंची ही नहीं और तब से गायब हैं।

Crypto Queen | Ruja Ignatova | FBI | FBI Top 10 Most Wanted List | Missing Ruja Ignatova | Onecoin
एफबीआई (FBI) ने रुजा इग्नातोवा का नाम टॉप 10 मोस्ट वांटेड लिस्ट में शामिल किया है। (Photo Credit – FBI/Official Website)

आज से कुछ सालों पहले एक महिला का दुनियाभर में नाम था। वह खुद को क्रिप्टो क्वीन बताती थी और महिला ने दावा किया था कि उसने एक क्रिप्टो करंसी बनाई है जिसका नाम ‘वनक्वाइन’ है। इस करंसी को उसने बिटक्वाइन किलर का नाम दिया था। इस महिला का नाम रुजा इग्नातोवा था। रुजा अब फिर से चर्चा में हैं क्योंकि एफबीआई ने उसका नाम अपनी टॉप 10 मोस्ट वांटेड लिस्ट में शामिल किया है।

रुजा इग्नातोवा वह साल 1980 में बुल्गारिया के सोफिया में जन्मी थी। जब रुजा दस साल की हुई तो उनका परिवार जर्मनी चला गया। फिर साल 2005 में रूजा ने कोंसटांज यूनिवर्सिटी से लॉ में पीएचडी की। इसके बाद रूजा मैकेंजे एंड कंपनी से जुड़कर मैनेजमेंट कंसलटेंट बन गई। बताया जाता है कि रुजा ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ी हैं लेकिन अब फरार रुजा पर अपने निवेशकों से 4 बिलियन डॉलर की धोखाधड़ी का आरोप है।

मैकेंजे एंड कंपनी में काम करते हुए ही साल 2014 में रुजा इग्नातोवा ने ‘वनक्वाइन’ नाम की क्रिप्टो करंसी बनाई, ऐसा निवेशकों को कई सेमिनार में बताया गया था। रुजा का दावा था कि उसकी क्रिप्टो करंसी बिटक्वाइन को भी पीछे छोड़ देगी। जिसके बाद रुजा की क्रिप्टो करंसी में कई सारे लोगों ने निवेश किया। हालांकि, अब फर्जी क्रिप्टो करंसी में अरबों डॉलर जुटाने के बाद फरार हुई रुजा का नाम एफबीआई की 10 मोस्ट वांटेड सूची में रखा गया है।

अक्टूबर 2017 में ग्रीस से गायब होने वाली रुजा पर फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) ने 100,000 डॉलर का इनाम भी रखा है। रुजा ने वनकॉइन लॉन्च करने के बाद निवेशकों से करीब 4 बिलियन डॉलर की धनराशि जुटाई थी। चौंकाने वाली बात यह है कि उसकी क्रिप्टो करंसी वनकॉइन किसी भी ब्लॉकचेन तकनीकी से जुड़ी नहीं थी, जैसे कि अन्य क्रिप्टो करंसी हैं।

एफबीआई के विशेष एजेंट रोनाल्ड शिमको ने एक बयान में कहा, “वनकॉइन ने निवेशकों से एक निजी ब्लॉकचेन होने का दावा किया था। जबकि ऐसा दूसरी क्रिप्टो करंसी के साथ नहीं है। एफबीआई का दावा है कि रुजा ने बड़े-बड़े विज्ञापनों और प्रभावशाली लोगों की मदद से वनक्वाइन को प्रमोट किया और खूब सारी धनराशि जुटाई। निवेशकों से कहा गया कि वह और लोगों को भी जोड़ें और कमीशन के पैसे अपने क्रिप्टो खाते में पाएं।

एफबीआई का एक दावा यह भी है कि, जब रुजा को मालूम हुआ कि निवेशकों को सच्चाई का पता चल गया है और अमेरिकी व अन्य जांच एजेंसियां उसके साथियों तक पहुंच चुकी है तो इग्नाटोवा 2017 में गायब हो गई। एफबीआई के मुताबिक, रुजा को आखिरी बार 25 अक्टूबर, 2017 को बुल्गारिया से एथेंस, ग्रीस का सफर करते हुए देखा गया। रुजा के बारे में कई बातें ऐसी भी जिसमें कहा गया कि शायद उसने प्लास्टिक सर्जरी करा ली है या फिर उसकी मौत हो चुकी है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X