ताज़ा खबर
 

पिता पर बच्चे ने कर दिया पेशाब, हैवान बाप ने गुस्से में 9 साल के मासूम को काट डाला

अहले सुबह बच्चे की लाश मिलते ही गांव में हड़कंप मच गया। पहले तो इस हत्या को लेकर तरह-तरह की कहानी बनाई जा रही थी लेकिन पुलिस ने इस मामले की गुत्थी जल्दी ही सुलझा ली।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

क्या कोई पिता इतना भी क्रूर हो सकता है कि वो गुस्से में आकर अपने ही कलेजे के टुकड़े का कत्ल कर दे? आप यकीन करें या ना करें लेकिन एक मासूम के कत्ल का इल्जाम उसके पिता पर लगा है। यह मामला झारखंड के पश्चिम सिंहभूम जिले का है। बीते 22 जनवरी को इस निर्मम हत्याकांड को अंजाम दिया गया है। जब पुलिस ने इस बच्चे की लाश को बरामद किया था तो उसके पास कातिल तक पहुंचने के लिए काफी कम साक्ष्य थे लेकिन आखिरकार कानून के लंबे हाथ खूनी तक पहुंच ही गए। पुलिस ने 9 साल के मासूम की हत्या के जुर्म में सुखलाल बानरा नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है।

जानकारी के मुताबिक घटना के दिन गांव में एक श्राद्ध कार्यक्रम में था। 9 साल का मासूम जितेन कौरी अपने दोस्तों के साथ इस श्राद्ध में पहुंचा था। वहां से लौटने के दौरान उसे रास्ते में पेशाब लगी। जितेन रात के अंधेरे में एक पेड़ के नीचे पेशाब करने गया। लेकिन इत्तिफाक से इसी पेड़ के नीचे सुखलाल बानरा सोया हुआ था। सुखलाल ने अत्यधिक शराब पी ली थी और नशे की हालत में वो यहां सो गया था। अंधेरा होने की वजह से जितेन अपने पिता को वहां देख नहीं पाया।

शरीर पर टॉयलेट गिरने से सुखलाल की अचानक नींद खुल गई। गुस्से से लाल सुखलाल ने अचाक जितेन पर हमला किया। जितेन वहां से भागने लगा, लेकिन सुखलाल बानरा ने उसे दौड़ा कर पकड़ लिया। सुखलाल के इस रुप को देख कर जितेन के दोस्त वहां से भाग गए। सुखलाल ने जितेन को पकड़ने के बाद उसकी जमकर पिटाई कर दी। इस पिटाई से जितेन बेसुध हो गया। लेकिन इससे भी सुखलाल का जी नहीं भरा। उसने भुजाली से जितेन का गला रेत दिया और उसकी लाश को गांव से 2 किलोमीटर दूर एक सुनसान जगह पर फेंक आया।

अहले सुबह बच्चे की लाश मिलते ही गांव में हड़कंप मच गया। पहले तो इस हत्या को लेकर तरह-तरह की कहानी बनाई जा रही थी लेकिन पुलिस ने इस मामले की गुत्थी जल्दी ही सुलझा ली। चाईबासा पुलिस के मुताबिक सुखलाल बानरा ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस अब सुखलाल के खिलाफ कानूनी कार्रवाई में जुटी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App