ताज़ा खबर
 

बच्ची को गोद में ले देखती रही पति का लाइव मर्डर, दौलत और प्रेमी के लिए पत्नी ने रईस पति के मर्डर का बनाया था प्लान

पुलिस अपनी लाख कोशिशों के बावजूद असली हत्यारे तक पहुंच नहीं पा रही थी। लेकिन अचानक पुलिस को इस केस में कुछ ऐसी बातें नजर आईं जिसने इस पूरे मामले की जांच की दिशा ही बदल दी।

शुरू में वेल्सी ने पुलिस को कुछ और ही कहानी सुनाई थी। प्रतीकात्मक तस्वीर।

दौलत के लिए पत्नी ने एक ऐसी साजिश रची कि उसे सुनकर हर कोई हैरान है। उसका सुहाग उसकी आंखों के सामने दम तोड़ता रहा और यह महिला उसे यूं ही घूरती रही। इस महिला ने शायद सोचा था कि उसका यह भयानक जुर्म कभी सामने नहीं आ पाएगा लेकिन दूसरे गुनाहों की तरह यह गुनाह भी बेपर्दा हो गया और गुनाहगारों के चेहरे से नकाब हट गया। साल 2016 और जून का महिना। 28 जून को गुजरात के सूरत शहर के पॉश इलाके के पार्ले प्वाइंट स्थित एक आलीशान घर में सुबह से ही मातम पसरा हुआ था। यह घर मशहूर कपड़ा कारोबारी दिशित ज़रीवाला का था। किसी को समझ नहीं आ रहा था कि 27 जून की रात दिशित ज़रीवाला का कत्ल आखिर किसने किया? दिशित के घर में उनकी पत्नी वेल्सी और डेढ़ साल की बेटी थी और सभी उनके जाने से काफी दुखी थे। उस वक्त वेल्सी ने पुलिस को बताया था कि देर रात घर में तीन नकाबपोश लुटेरे आए थे और लूटपाट के दौरान उन्होंने उनके पति की बेरहमी से हत्या कर दी।

जाहिर है पुलिस के पास उस वक्त वेल्सी की बात पर यकीन ना करने की कोई वजह नहीं थी। लेकिन पुलिस अपनी लाख कोशिशों के बावजूद असली हत्यारे तक पहुंच नहीं पा रही थी। लेकिन अचानक पुलिस को इस केस में कुछ ऐसी बातें नजर आईं जिसने इस पूरे मामले की जांच की दिशा ही बदल दी। रईस कारोबारी दिशित ज़रीवाला के ऊंगली में सोने की अंगूठी थी और मौत के बाद उनका पर्स भी उनके पास ही था। तो सवाल यह है कि अगर हत्या का मकसद लूटपाट था तो फिर लुटेरे दिशित के पास पड़े यह सामान लेना कैसे भूल गए? दूसरी बात यह कि लुटेरों को कैसे पता चला कि दिशित के परिवार के अन्य सदस्य इस दिन गुजरात से बाहर गए हैं। तीसरी और अहम बात यह है कि वेल्सी ने पुलिस को बताया कि दिशित को लुटेरों ने उस वक्त चाकू की नोंक पर अपने कब्जे में ले लिया था जब वो बेसमेट की लाइट बंद करने गए थे। पुलिस ने अंदाजा लगाया कि अगर लुटेरों को दिशित को मारने ही था तो बेसमेट में ही क्यों नहीं मारा उनकी हत्या बेडरूम में क्यों की गई?

इन सारे सवालों के जवाब तलाश रही पुलिस ने अब वेल्सी से सख्ती से पूछताछ की तो सारे राज बेपर्दा हो गए। खुलासा हुआ कि वेल्सी शादी से पहले सुकेतू नाम के एक शख्स से प्यार करती थी। दोनों की शादी अलग-अलग हो गई थी लेकिन दोनों एक-दूसरे को भूल नहीं सके थे और दोनों का एक-दूसरे से मिलना जुलना जारी था। दोनों अब एक-दूसरे से शादी करना चाहते थे। वेल्सी को पता था कि अगर वो तलाक लेकर दिशित से अलग हो जाएगी तो उसके हिस्से में दिशित की बेशुमार दौलत में से कुछ भी हाथ नहीं आएगा। लिहाजा वेल्सी ने अलग होने के बजाए प्रेमी को पाने की खातिर पति दिशित को ही रास्ते से हटाने का खतरनाक प्लान बना लिया।

वेल्सी ने बताया कि प्लान के तहत सुकेतू और उसके ड्राइवर की एंट्री के लिए ही उसने जानबूझ कर घर का दरवाज़ा खुला छोड़ दिया था। दोनों नकाब, रेनकोट, चाकू, मिर्ची पावडर और दूसरी चीज़ों के साथ घर में घुसे और उन्होंने घुसते ही बिस्तर पर सो रहे दिशित को मार डाला। जब दोनों दिशित का क़त्ल कर रहे थे तब वेल्सी वहीं बेडरूम में खड़ी हो कर अपने पति का क़त्ल होते देख रही थी। उसकी गोद में उसकी ढाई साल की बेटी भी थी। वेल्सी ने 27 जून का दिन इसलिए चुना क्योंकि इस दिन घर के सारे रिश्तेदार बाहर गए थे। इस मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस ने सभी आरोपियों को पकड़ा और मामले की कानून के मुताबिक कार्रवाई की। (औऱ…CRIME NEWS)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App