ताज़ा खबर
 

विदेशी महिला को बंधक बना कई दिनों तक पीटता रहा, मुंबई के बड़े बिजनेसमैन का बेटा गिरफ्तार

जानकारी के मुताबिक उस रात सोसाइटी में पुलिस रात करीब 12.15 मिनट पर पुहंची। मोरारजी का फ्लैट तीसरे फ्लोर पर था और अपार्टमेंट में सीसीटीवी कैमरे भी लगे थे। जब मोरारजी ने कमरे के दरवाजा खोला तब पुलिस ने बताया कि उन्हें शिकायत मिली है कि यहां एक महिला को जबरन बंधक बना कर रखा गया है।

crime, crime newsइस तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

पुणे पुलिस ने जाने-माने टेक्सटाइल टाइकून अरविंद मोरारजी के बेटे धनराज मोरारजी को अपनी लिव इन पार्टनर को बेरहमी से पीटने, उन्हें बंधक बनाने और धोखा देने समेत कई आरोपों में गिरफ्तार किया है। धनराज राजनेता नगमा का दूर का रिश्तेदार भी है। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने उसे बीते सोमवार को गिरफ्तार किया है। इस मामले में शिकायत दर्ज कराने वाली पीड़ित युवती परवीन गेहलिची ने पुलिस को बताया कि वो धनराज मोरारजी के साथ लिव इन पार्टनर के तौर पर कोरेगांव पार्क स्थित एक अपार्टमेंट में पिछले एक महीने से रह रही थीं। पिछले कई दिनों से वो उन्हें टॉर्चर करता आ रहा था। पुलिस ने गेहलिची के शिकायत के बाद रविवार की देर रात उन्हें घर से निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया और सोमवार सुबह तक उन्हें अपार्टमेंट से सुरक्षित निकाल लिया गया।

पुलिस ने इस मामले में मोरारजी पर भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 342, 324, 370, 504 और 506 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने इस दौरान गेहलिची का पासपोर्ट, मोबाइल फोन और दूसरे कागजात भी बरामद कर लिए हैं। मुंबई मिरर के मुताबिक रेस्क्यू के दौरान मोरारजी पुलिस पर दवाब बना रहा था और रौब भी झाड़ रहा था कि वो राजनेता नगमा का भाई है। गेहलिची ने पुलिस को बताया कि वो तेहरान की रहने वाली है। वो इसी साल कम्प्यूटर टेक से डिप्लोमा करने पुणे आई थी। उसने पुलिस को बताया कि एक कॉमन फ्रेंड के जरिए उसकी मुलाकात मोरारजी से नवंबर के पहले हफ्ते में हुई थी। कुछ ही मुलाकातों के बाद दोनों के बीच प्यार की पींगें बढ़ीं और वो मोरारजी के अपार्टमेंट में रहने लगी। गेहलिची ने बताया कि शुरुआत में मोरारजी के संबंध उनके साथ अच्छे थे। लेकिन जल्दी ही दोनों के बीच काफी विवाद होने लगा।

गेहलिची ने पुलिस को मोरारजी के क्रूर व्यवहार के बारे में जब सिलसिलेवार बताना शुरू किया तो पुलिस के भी होश उड़ गए। उसने पुलिस को बताया कि ‘अक्सर मोरारजी छोटी-छोटी बातों पर उनके साथ मारपीट करता था। उसने पुलिस को बताया कि कई बार बिना किसी वजह के भी उसने उन्हें पीटा। हर बार वो मारपीट के बाद सुबह उठता और अपनी गलती के लिए उनसे माफी मांगता था।’ गेहलिची ने आगे बताया कि ‘मैंने कई बार वहां से निकलने की कोशिश की लेकिन उसने मेरा पासपोर्ट और अन्य कागजात अपने पास रख लिए थे। हर रात वो बेडरुम के बाहर कुत्तों को रखता था ताकि मैं वहां से निकल ना सकूं।’ गेहलिची ने बताया कि हफ्ते में कभी-कभी मोरारजी उनका फोन उन्हें दिया करता था। उन्होंने बताया कि यहां तक कि जब वो अपनी मां को मैसेज करती थीं तो उससे पहले उन्हें अपना फोन मोरारजी को दिखाना पड़ता था।

गेहलिची ने बताया कि एक रात मोरारजी ने उन्हें काफी पीटा था और वो उस रात काफी रो रही थीं। किस्मत से उस रात वो घर से बाहर आने में कामयाब हो गईं। उन्होंने अपने फोन से इंस्टाग्राम के जरिए अपनी दोस्त को मैसेज भेजा। उनकी दोस्त भी तेहरान की रहने वाली हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि उनकी दोस्त ने उसी वक्त ‘मुंबई मिरर’ की टीम से संपर्क किया। इसके बाद ‘मुंबई मिरर’ की टीम ने कोरेगांव पार्क पुलिस के साथ मिलकर उन्हें उस अपार्टमेंट से बाहर निकालने की योजना बनाई।

जानकारी के मुताबिक उस रात सोसाइटी में पुलिस रात करीब 12.15 मिनट पर पुहंची। मोरारजी का फ्लैट तीसरे फ्लोर पर था और अपार्टमेंट में सीसीटीवी कैमरे भी लगे थे। जब मोरारजी ने कमरे के दरवाजा खोला तब पुलिस ने बताया कि उन्हें शिकायत मिली है कि यहां एक महिला को जबरन बंधक बना कर रखा गया है। शुरुआत में वो पुलिस को भटकाने की कोशिश करता रहा लेकिन करीब 15 मिनट तक पुलिस से बातचीत के बाद आखिरकार गेहलिची को उसे सामने लाना पड़ा। हालांकि उस वक्त मोरारजी लगातार यह दावा कर रहा था गेहलिची उसकी पत्नी है। करीब घंटे भर चली बहस के बाद पुलिस ने गेहलिची को अपने कब्जे में लिया और उन्हें लेकर थाने पहुंची। पुलिस ने मोरारजी को गिरफ्तार भी कर लिया है और महिला के आरोपों के बाद आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

Next Stories
1 ज्‍योतिष की आड़ में ठगी का रैकेट, लड़की से रेप का भी आरोप, पुलिस ने किया गिरप्तार
2 जब मटन सूप ने खोल दिया नकली पति का राज, बेहद शातिर थी पत्नी
3 अंतिम संस्कार गृह में घुसकर शव के साथ शारीरिक संबंध बनाने का आरोप, केस दर्ज
ये पढ़ा क्या?
X