ताज़ा खबर
 

घर बैठे कमाई का ऑफर दे लगाया 25 करोड़ का चूना, भड़के पीड़ितों ने पुलिस के सामने तोड़ा ताला और उठा गए सामान

घर बैठे कमाई के ऑफर की जानकारी मिलते ही लोग कंपनी के दफ्तर में पहुंचने लगे। जब वे वहां पहुंचे तो उनसे 2500 रुपए सिक्योरिटी के रूप में लिए जाते थे। फिर उनसे कहा जाता था कि यदि वे तीन और लोगों को जोड़ें तो उन्हें 500 रुपए वापस कर दिए जाएंगे।

Author रांची | Published on: August 21, 2019 11:44 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर (इंडियन एक्सप्रेस)

झारखंड की राजधानी रांची में लोगों को घर बैठे कमाने का लालच देकर एक कंपनी ने करीब 25 करोड़ रुपए की ठगी को अंजाम दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राजधानी के मेन रोड पर स्मोक मल्टी प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड नाम की एक कंपनी ने अपना दफ्तर खोला था। इसके बाद उसने लोगों को घर बैठे ही हर महीने तीन हजार रुपए और हर हफ्ते एक हजार रुपए कमाने का लालच दिया। इसके साथ ही लोगों से नए लोगों को जोड़ने के लिए भी कहा। इस तरह सिलसिलेवार कई लोग ठगी के शिकार हो गए।

यूं जाल में फंसे लोगः घर बैठे कमाई के ऑफर की जानकारी मिलते ही लोग कंपनी के दफ्तर में पहुंचने लगे। जब वे वहां पहुंचे तो उनसे 2500 रुपए सिक्योरिटी के रूप में लिए जाते थे। फिर उनसे कहा जाता था कि यदि वे तीन और लोगों को जोड़ें तो उन्हें 500 रुपए वापस कर दिए जाएंगे। 500 रुपए के चक्कर में लोग नए आवेदकों को जोड़ते गए। आवेदन करने वालों को कंपनी ने दो तरह की स्कीम बताई। पहली स्कीम में लोगों को 150 पन्नों का फॉर्म दिया जाता था, जिसे एक महीने में पूरा करके देने पर तीन हजार रुपए देने का वादा किया था। इसके बाद दूसरी स्कीम में 50 पन्नों का एक फॉर्म दिया गया, जिसे एक हफ्ते में भरकर देने पर एक हजार रुपए देने का वादा किया जाता था। बाद में ज्यादातर लोगों के फॉर्म में गलती बताकर कंपनी ने पैसा देने से इनकार कर दिया। इसके बाद मामला बढ़ा तो कंपनी पर ताला लगा दिया गया।

पुलिस के सामने ताला तोड़ सामान उठा गए लोगः लोगों को जब ठगे जाने का अहसास हुआ तो वो कंपनी के दफ्तर पहुंचे। वहां ताला लगा देखकर लोग भड़क गए और पुलिस के सामने ही ताला तोड़ दिया और सामान उठाकर चलते बने। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की लेकिन किसी ने नहीं सुनी।

National Hindi News, 21 August 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

Bihar News Today, 21 August 2019: बिहार से जुड़ीं सभी खास खबरों के लिए क्लिक करें

पुलिस ने नहीं की कार्रवाईः यह कंपनी चार सालों से संचालित हो रही थी। लोगों ने कई बार पुलिस से शिकायत की लेकिन पुलिस पूछताछ करके वापस लौट आई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डीएसपी अजीत कुमार विमल ने कंपनी को बंद कराने का भी आदेश दिया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। वहीं अब पुलिस ने लिखित शिकायत नहीं मिलने पर कार्रवाई नहीं करने की बात कही।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बाइक के लिए गर्भवती बीवी को जुए में दांव पर लगाया, हारा तो दूसरे शख्स को सौंप दिया
2 उत्तर प्रदेश: मेडिकल कॉलेज में 150 छात्रों के मुंडवा दिए सिर, कुलपति की सफाई- यह रैगिंग नहीं, संस्कार है
3 MP: लोकायुक्त पुलिस ने नगर पालिका अधिकारी के ठिकानों पर मारे छापे, बेहिसाब संपत्ति मिली