ताज़ा खबर
 

Swami Chinmayanand Rape Case: पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को कोर्ट से मिली जमानत, लॉ छात्रा से रेप का है आरोप

Swami Chinmayanand Rape Case: चिन्मयानंद कानून की छात्रा से दुराचार के मामले में उत्तर प्रदेश की शाहजहांपुर जेल में बंद हैं।

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद स्वामी पर कानून की छात्रा से दुराचार का आरोप है। (file photo)

Swami Chinmayanand Rape Case: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को लॉ छात्रा से रेप के मामले में जमानत दे दी है। चिन्मयानंद कानून की छात्रा से दुराचार के मामले में उत्तर प्रदेश की शाहजहांपुर जेल में बंद हैं। पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद की जमानत याचिका पर करीब 2 महीने पहले सुनवाई हुई थी। जिसके बाद अदालत ने इसपर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। अब अदालत से चिन्मयानंद को बड़ी राहत मिल गई है।

 

यह है मामला:
गौरतलब है कि शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में एलएलएम की छात्रा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री व बीजेपी नेता पर 24 अगस्त, 2019 को एक वीडियो वायरल कर यौन शोषण करने का आरोप लगाया और साथ ही अपने परिवार को जान का खतरा होने की बात कही थी। पीड़िता के पिता ने कोतवाली शाहजहांपुर में अपहरण और जान से मारने के धमकी के आरोप में अलग-अलग धाराओं के तहत चिन्मयानंद के विरुद्ध मामला दर्ज कराया। मामला दर्ज होने के बाद चिन्मयानंद के पक्ष के वकील ने पीड़िता के पिता पर पांच करोड़ की रंगदारी मांगने का आरोप लगाया।

मामला दर्ज होने के कुछ दिन बाद से पीड़िता गायब हो गई। बाद में पीड़िता को राजस्थान से बरामद किया गया। बीते साल सितंबर महीने में यौन शोषण के आरोपी स्वामी चिन्मयानंद की गिरफ्तारी हुई थी। गिरफ्तारी स्वामी के ही मुमुक्ष आश्रम से हुई थी। एसआईटी टीम ने यूपी पुलिस के साथ मिलकर चिन्मयानंद को आश्रम से गिरफ्तार किया था। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट की दो सदस्यीय विशेष पीठ गठित करवा कर पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित करने का निर्देश दिया था।

पीड़ित छात्रा पर है रंगदारी मांगने का आरोप:

पूर्व केंद्रीय मंत्री से पांच करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने के आरोपी संजय सिंह की गुरुवार शाम जेल से रिहाई हुई थी। संजय की जमानत हाईकोर्ट से मंजूर हुई। इसके बाद हाईकोर्ट का ऑर्डर बुधवार शाम कोर्ट पहुंचा था। चिन्मयानंद से पांच करोड़ की रंगदारी मांगने के आरोप में अब तक सभी आरोपी जेल से रिहा हो चुके हैं। सबसे पहले छात्रा और सचिन की जमानत मंजूर हुई थी। पहले छात्रा की रिहाई हुई, उसके बाद विक्रम ठाकुर और फिर सचिन जेल से रिहा हुआ। सबसे अंत में आरोपी संजय सिंह गुरुवार को जेल से बाहर आया। संजय 25 सिंतबर को गिरफ्तार किया गया था।

बता दें कि चिन्मयानंद वाजपेयी सरकार में गृह राज्य मंत्री रह चुके हैं। उन्होंने उत्तर प्रदेश के जौनपुर से 1999 में चुनाव लड़ा था। चिन्मयानंद 1991 में बदायूं और 1998 में मछलीशहर से भी लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं ।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महाराष्ट्र: एकतरफा प्यार में नाकाम शादीशुदा शख्स ने महिला टीचर को जिंदा जलाया
2 VIDEO: ट्रैफिक नियम तोड़ भाग रहा था, पकड़ने के लिए 2 किलोमीटर तक बोनट पर लटका रहा स‍िपाही
3 ‘महिलाएं गंदी शक्ल वाले लोगों पर लगाती हैं रेप का आरोप’, राष्ट्रपति के बयान की यहां सभी कर रहे आलोचना
IPL 2020
X