ताज़ा खबर
 

दिल्ली मेट्रो के बाहर सरेआम 26 साल की महिला सब इंस्पेक्टर की गोली मारकर हत्या, सीसीटीवी में पीछा करता दिखा हत्यारा

पुलिस ने कहा कि एसआई प्रीति अहलावत पटपड़गंज औद्योगिक क्षेत्र थाने में तैनात थीं। वह 2018 में दिल्ली पुलिस में शामिल हुई थीं।

Edited By Sanjay Dubey नई दिल्ली | Updated: February 8, 2020 7:58 AM
जांच करने पहुंची पुलिस (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

दिल्ली के रोहिणी पूर्व मेट्रो स्टेशन के निकट शुक्रवार रात दिल्ली पुलिस की 26 वर्षीय महिला उप-निरीक्षक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने कहा कि एसआई प्रीति अहलावत पटपड़गंज औद्योगिक क्षेत्र थाने में तैनात थीं। वह 2018 में दिल्ली पुलिस में शामिल हुई थीं। उन्होंने कहा कि घटना को लेकर रात 9.40 बजे कॉल आई। बताया गया कि एक महिला की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। पहली नजर में यह आपसी दुश्मनी का मामला लग रहा है। उन्होंने जो जेवर पहने थे और उनके बैग चोरी नहीं हुए थे।

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (रोहिणी) एसडी मिश्रा ने कहा, “उनके सिर में गोली लगी थी। हमने संदिग्ध को पहचान लिया है और इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी एकत्रित कर ली है।” अधिकारी ने कहा कि घटनास्थल से तीन खाली कारतूस मिले हैं। मामला दर्ज कर लिया गया है और इसकी जांच जारी है। बताया कि जल्द ही हमलावर को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

सीसीटीवी फुटेज में एक संदिग्ध व्यक्ति एसआई प्रीति अहलावत का पीछा करता हुआ दिख रहा है। उस समय वह मेट्रो से बाहर निकल रही थीं। हमलावर ने उनको काफी पास से उनके सिर पर गोली मारी है। हमले के बाद वह मौके से तेजी से भाग निकला। उसके बाद आसपास के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और हमलावर का पता लगाने की कोशिश कर रही है।

सूत्रों के मुताबिक महिला एसआई प्रीति अहलावत एक रेप केस की जांच कर रही थी। और उन्हें कथित तौर पर धमकी भी मिली थी। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है और जहां वह तैनात थीं, वहां से जानकारी जुटाई जा रही है। घटना के बाद मौके पर क्राइम फॉरेंसिक टीम बुलाई गई और वहां से सबूत एकत्र किए गए। दिल्ली में चुनाव से ठीक पहले महिला सब इंस्पेक्टर की हत्या से हड़कंप मचा हुआ है।

Next Stories
1 राजस्थान: काम कर रात डेढ़ बजे लौट रहा था कश्मीरी युवक, 3 लोगों ने कर दी पिटाई, ऑपरेशन के बाद मौत
2 Delhi Election 2020: चुनाव से एक दिन पहले CAA के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन स्थल के नजदीक फायरिंग, लोगों में दहशत
3 2012 Delhi Gang Rape Case: तिहाड़ प्रशासन को नहीं मिला दोषियों का डेथ वारंट, कोर्ट ने कहा- कानून ने जिंदा रहने की इजाजत दी तो फांसी देना ‘पाप’
ये पढ़ा क्या?
X