ताज़ा खबर
 

Delhi Violence: नाम पूछा; जवाब मिला- अशफाक, दाग दी 5 गोलियां, भाई ने बताई कहानी

मुदस्सिर के मुताबिक उस वक्त अशफाक के दोस्तों ने यह भयानक मंजर कुछ ही दूर पर खड़े होकर देखा था लेकिन वो चाह कर भी कुछ ना कर सके।

दिल्ली में हुई हिंसा में कई परिवारों ने अपनों को खोया है। (express)

‘दिल्ली के दंगाईयों ने नाम पूछा, जवाब मिला- अशफाक, फिर उसके सीने में ताबड़तोड़ गोलियां डाल दी गईं।’ दिल्ली में हिंसा के दौरान हुए खूनी कोहराम की कई कहानियां अब धीरे-धीरे उजागर हो रही हैं। मुस्तफबाद में अशफाक भीड़ की गोली का शिकार हो गया और उनके भाई ने इस गोलीकांड की जो कहानी सुनाई है वो दहला देने वाली है।

दिल्ली के एक अस्पताल में अपने भाई का शव लेने पहुंचे मुदस्सिर ने ‘नवभारत टाइम्स’ से बातचीत करते हुए बताया कि 22 फरवरी की उनके भाई अशफाक अपने दोस्तों के साथ कार्यालय से लौट रहे थे। बृजपुरी पुलिया पर पहुंचते ही अशफाक और उनके दोस्तों को हथियार से लैस भीड़ ने चारों तरफ से घेर लिया। किसी तरह अशफाक के दोस्त इस भीड़ से खुद को बचाकर भाग गए। भीड़ ने इसके बाद मुदस्सिर से भाई से उनका नाम पूछा। जवाब मिला- अशफाक। इसके बाद भीड़ में शामिल किसी शख्स ने अशफाक के सीने में 5 गोलियां दाग दी। इतना ही नहीं उनके सीने पर धारदार हथियार से कई हमले भी किये गये।

मुदस्सिर के मुताबिक उस वक्त अशफाक के दोस्तों ने यह भयानक मंजर कुछ ही दूर पर खड़े होकर देखा था लेकिन वो चाह कर भी कुछ ना कर सके। सड़क पर निढाल पड़े अशफाक को उनके दोस्तों ने तुरंत जीटीबी अस्पताल ले जाने की कोशिश की। लेकिन यहां भी अशफाक की किस्मत उन्हें दगा दे गई।

दिल्ली हिंसा: ‘परीक्षा देने गई बेटी 3 दिन से लापता’, भीड़ से जान बचाकर लौटे पिता की दास्तान

रास्ता बंद होने और अत्यधिक भीड़भाड़ होने की वजह से उन्हें जीटीबी अस्पताल नहीं ले जाया जा सका। आनन-फानन में उन्हें पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल में 2 घंटे तक जिंदगी की जंग लड़ने के बाद अशफाक यह लड़ाई हार गए।

बताया जा रहा है कि मरने से 10 दिन पहले ही अशफाक की शादी हुई थी। उनके मौत की खबर ने उनकी पत्नी और अन्य परिजनों को दहला कर रखा दिया है। इस मामले में अशफाक के परिजनों ने सीसीटीवी के जरिए दंगाइयों की पहचान कर उनपर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

द‍िल्‍ली दंगा: जान‍िए मानवता को शर्मसार करने और इंसान‍ियत को ज‍िंंदा रखने वाली ये कहान‍ियां

आपको बता दें कि दिल्ली में हुई 3 दिनों तक भयानक हिंसा में तीन दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। हिंसा पीड़ित एक पिता ने बताया है कि उनकी बेटी भी इस दौरान लापता हो गई हैं।

दिल्ली हिंसा से जुड़ी सभी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

Next Stories
1 दिल्ली हिंसा: ‘परीक्षा देने गई बेटी 3 दिन से लापता’, भीड़ से जान बचाकर लौटे पिता की दास्तान
2 द‍िल्‍ली दंगा: जान‍िए मानवता को शर्मसार करने और इंसान‍ियत को ज‍िंंदा रखने वाली ये कहान‍ियां
3 पटना में प्रशांत किशोर के खिलाफ 420 का FIR, चुनावी कैम्पेन में कॉपी चोरी करने के आरोप
ये पढ़ा क्या?
X