scorecardresearch

दिल्ली: महिलाओं पर हमलों के मामलों में 19 फीसदी की बढ़ोतरी, रोज रिपोर्ट होते हैं छह रेप केस

Delhi: दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक, पहले महिलाओं को कानूनों के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी लेकिन अब वे अपने खिलाफ हो रही घटनाओं की रिपोर्ट करने के लिए आगे आ रही हैं।

दिल्ली: महिलाओं पर हमलों के मामलों में 19 फीसदी की बढ़ोतरी, रोज रिपोर्ट होते हैं छह रेप केस
तस्वीर का इस्तेमाल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (Photo Credit – Freepik)

Delhi Records 17% Rise In Crimes Against Women: दिल्ली में महिलाओं से जुड़े अपराध के सिलसिले में दिल्ली पुलिस ने आंकड़े जारी किए हैं। जिनमें यह देखा गया है कि राष्ट्रीय राजधानी में पिछले साल की पहली छमाही की तुलना में इस साल महिलाओं के खिलाफ अपराधों में 17 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है, जिसमें औसतन छह घटनाएं रेप से जुड़ी दर्ज की गई हैं।

Delhi Police ने जारी किए आंकड़े

दिल्ली पुलिस द्वारा जारी किये गए आंकड़ों के अनुसार, महिलाओं पर हमले के मामलों में करीब 19 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है और पति-ससुराल वालों द्वारा प्रताड़ना के मामलों में 29 फीसदी की वृद्धि हुई है। तुलनात्मक तौर पर देखा जाए तो दिल्ली में साल 2021 में 1 जनवरी से 15 जुलाई के बीच महिलाओं के खिलाफ अपराधों के 6,747 मामले दर्ज किए गए थे, जबकि साल 2022 में ऐसे मामलों की संख्या 7,887 तक जा पहुंची।

15 जुलाई तक दर्ज हुए रेप के 1100 मामले

इसी कड़ी में इस साल 15 जुलाई तक शहर में रेप के करीब 1,100 मामले दर्ज हुए, जबकि पिछले साल इसी समयावधि में 1,033 मामले दर्ज किए गए थे। वहीं, “महिलाओं पर शील भंग करने के इरादे से किए गए हमले” (Intent to outrage modesty) के मामले भी बढ़े हैं और कुल 1,480 ऐसे मामले सामने आए हैं; जबकि बीते साल यह संख्या 1,244 मामलों की थी।

Kidnapping के मामलों में 17% की वृद्धि

दिल्ली पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक, महिलाओं के अपहरण के मामलों में लगभग 17 फीसदी की बढोतरी हुई है। इस साल महिलाओं के अपहरण के कुल 2,197 मामले सामने आए हैं, जो पिछले साल की तुलना में 317 की अधिक संख्या में हैं। इसके अलावा, दिल्ली में साल 2022 में पति और ससुराल वालों के द्वारा प्रताड़ना के कुल 2,704 मामले दर्ज किए गए। जबकि 2021 में ऐसे मामलों की संख्या 2,096 थी।

बढ़ रही है जागरूकता

इसी कड़ी में पुलिस द्वारा बताया गया है कि उनके द्वारा इस साल की छमाही में दहेज हत्या के 69 मामले और दहेज निषेध अधिनियम के तहत सात मामले भी दर्ज किए गए हैं। इस मुद्दे पर एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि महिलाओं में जागरूकता बढ़ी है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट