काला जठेड़ी के साथ लिव इन में रह रही थी राजस्थान की लेडी डॉन, चलाती थी पूरा गैंग, गिरफ्तार

अनुराधा पर लूट किडनैपिंग, रंगदारी मांगने सहित कई संगीन मामले दर्ज हैं। अनुराधा राजस्थान के सीकर की रहने वाली है। अनुराधा ने दिल्ली के एक कॉलेज से बीसीए में स्नातक किया है।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने वांटेड अपराधी काला जठेड़ी और उसकी सहयोगी वांटेड अपराधी अनुराधा को सहारनपुर के पास से गिरफ्तार किया। (फोटो – पीटीआई)

दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने कुख्यात अपराधी काला जठेड़ी को सहारनपुर के पास से धर दबोचा। साथ ही पुलिस ने राजस्थान की कुख्यात लेडी डॉन डॉ अनुराधा को भी गिरफ्तार कर लिया। अनुराधा काला जठेड़ी के साथ लिव इन में रह रही थी। अनुराधा ही पूरा गैंग चलाती थी और उसके इशारे पर काला जठेड़ी संगीन वारदातों को अंजाम दिया करता था। 

अनुराधा पहले राजस्थान के कुख्यात अपराधी आनंदपाल की गर्लफ्रेंड हुआ करती थी। अवैध हथियारों की हेराफेरी में वह आनंदपाल का सहयोग किया करती थी। लेकिन साल 2017 में आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद अनुराधा फरार हो गई थी। फरार रहने के दौरान ही अनुराधा की मुलाकात पहले लॉरेंस बिश्नोई के साथ हुई। बिश्नोई की मदद से ही वह काला जठेड़ी के संपर्क में आई। पिछले करीब 9 महीने से वह काला जठेड़ी के साथ लिव इन में रह रही थी।

अनुराधा पर लूट किडनैपिंग, रंगदारी मांगने सहित कई संगीन मामले दर्ज हैं। अनुराधा राजस्थान के सीकर की रहने वाली है। अनुराधा ने दिल्ली के एक कॉलेज से बीसीए में स्नातक किया है। बीसीए करने के बाद अनुराधा ने अपने पति के साथ शेयर बाजार का कारोबार करना शुरू किया। लेकिन शेयर बाजार में घाटा होने की वजह से वह कर्ज के बोझ तले दब गई। इसी कर्ज से निकलने के लिए अनुराधा ने अपराध का सहारा लिया और अपने पति को छोड़ कुख्यात अपराधी आनंदपाल के संपर्क में आ गई।

इसके बाद अनुराधा अपराध की दुनिया में काफी आगे निकल गई। अनुराधा कितनी खूंखार अपराधी थीं इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि जब उसे कोर्ट में पेश किया जाता था तो वहां हाई लेवल की सुरक्षा व्यवस्था होती थी ताकि उसके गिरोह के लोग हमला कर कोई गड़बड़ी ना करें। साल 2016 में अनुराधा को नागौर जिले की एक अदालत ने सजा सुनाई थी। उसे 2 साल की सजा और 20,000 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया था। 

अनुराधा के साथ गिरफ्तार हुआ काला जठेड़ी पर सात लाख रुपए का इनाम है। दिल्ली के साथ-साथ जठेड़ी पर पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में भी कई मामले दर्ज हैं। कुख्यात लॉरेंस बिश्नोई गिरोह को काला जठेड़ी ही चलाता था। साल 2020 में फरीदाबाद पुलिस की गिरफ्त से फरार होने के बाद से ही काला जठेड़ी अलग अलग जगहों पर छिपकर रह रहा था। कुछ दिनों से वह उत्तराखंड में अपनी गर्लफ्रेंड अनुराधा के साथ रह रहा था। 

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल की इंटेलिजेंस यूनिट के डीसीपी मनीष चंद्रा ने दोनों की गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने एक बड़े ऑपरेशन में वांटेड अपराधी काला जठेड़ी और उसकी सहयोगी वांटेड अपराधी अनुराधा को सहारनपुर के पास से गिरफ्तार किया। साथ ही उन्होंने कहा कि यह एक महत्वपूर्ण कामयाबी है क्योंकि इस गैंग ने दिल्ली एनसीआर, पंजाब, चंडीगढ़, राजस्थान और हरियाणा में काफी आतंक मचा रखा था।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट