ताज़ा खबर
 

यूट्यूब चैनल के लिए दिल्ली पुलिस के जवान ने महिला हेड कॉन्स्टेबल के साथ थाने में बनाया वीडियो, वायरल होने पर मिला नोटिस

दिल्ली के मॉडल टाउन थाने में तैनात कॉन्स्टेबल विवेक माथुर साथी महिला हेड कॉन्स्टेबल शशि के साथ वीडियो बनाता है। वीडियो एक गाने पर फिल्माया गया है। डीसीपी की तरफ से अब दोनों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

दिल्ली पुलिस के जवान ने थाने में महिला हेड कॉन्स्टेबल के साथ बनाया वीडियो (Photo- Youtube Screen Grab)

दिल्ली पुलिस सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहती है। दिल्ली पुलिसकर्मी भी सोशल मीडिया का बखूबी इस्तेमाल कर रहे हैं। लेकिन अब एक कॉन्स्टेबल को यूट्यूब पर सक्रिय होना भारी पड़ गया है। दिल्ली के मॉडल टाउन थाने में तैनात महिला हेड कॉन्स्टेबल के साथ वीडियो बनाना एक पुलिसकर्मी को भारी पड़ गया है। इस मामले में पुलिसकर्मी को कारण बताओ नोटिस दिया गया है।

महिला हेड कॉन्स्टेबल शशि और कॉन्स्टेबल विवेक माथुर ने एक वीडियो शूट किया था। इस वीडियो को बाद में उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया था। अब ये वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो वायरल होने के बाद इस बात की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंची। उन्होंने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिसकर्मियों के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया है। दोनों पुलिसकर्मियों से 15 दिन के अंदर इस मामले में जवाब मांगा गया है।

डीसीपी ऊषा रंगनानी ने विवेक और शशि को कारण बताओ नोटिस भेजा है। नोटिस में कहा गया है कि उनका ये काम गैरपेशेवर रवैया प्रदर्शित करता है। सरकारी दायित्वों को निभाने में लापरवाही के तहत उन्हें ये नोटिस जारी किया गया है। उनसे इस नोटिस का जवाब 15 दिनों के अंदर देने के लिए कहा गया है। अगर पुलिसकर्मी नोटिस का जवाब तय समय में नहीं देते हैं तो उन्हें निंदा पत्र भी दिया जाएगा।

दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने इस मामले पर कहा, ‘वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि विवेक ने मास्क भी नहीं पहना हुआ है। इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं किया गया है। दोनों दिल्ली पुलिस का हिस्सा है और गंभीरता से काम करना ही फोर्स की जिम्मेदारी होती है। दोनों का रवैया बिल्कुल भी प्रोफेशनल नहीं है। उन्हें आधिकारिक ड्यूटी से फिलहाल हटा दिया गया है।’

इससे पहले दिल्ली के विवेक विहार थाने के एसएचओ की भी एक वीडियो सामने आई थी। वीडियो में एसएचओ संजय शर्मा ने विवादास्पद धर्मगुरु राधे मां को अपनी कुर्सी पर बैठा दिया था। इसके बाद दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों के पास इसकी सूचना पहुंची तो एसएचओ को सस्पेंड कर दिया गया था। ये घटना साल 2017 की थी।

Next Stories
1 जेल में पानी की बोतलों को भरकर हत्या के आरोपी सुशील कुमार ने बनाए डंबल, प्रोटीन शेक और स्पेशल डाइट मांग रहा है पहलवान
2 चार बार दी UPSC परीक्षा, तीन बार इंटरव्यू राउंड के बाद हुए बाहर, चौथी बार में किया टॉप और आज हैं IAS अधिकारी परितोष पंकज
3 UPSC के दो एग्जाम को क्लियर कर IAS अधिकारी बने थे जतिन किशोर, बोले- सीमित किताबें पढ़कर आसानी से कर सकते हैं तैयारी
ये पढ़ा क्या?
X