ताज़ा खबर
 

PM मोदी की भतीजी से स्नैचिंग, आननफानन में बनी 100 लोगों की टीम और 24 घंटे में केस सॉल्व

दमयंती के मुताबिक, सुबह करीब 7 बजे उनका ऑटो रिक्शा गुजराती समाज भवन के गेट पर पहुंचा। उस वक्त वह पीछे की सीट पर बैठी थीं और सामान उतारने में अपने पति की मदद कर रही थीं। बाइक सवार 2 बदमाश आए और उनका पर्स छीनकर फरार हो गए। पर्स में करीब 50 हजार रुपए व 2 मोबाइल फोन थे।

Author नई दिल्ली | Published on: October 13, 2019 11:14 AM
पीएम मोदी की भतीजी से दिल्ली में हुई थी स्नैचिंग। फोटो सोर्स: सोशल मीडिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी से स्नैचिंग के मामले में दिल्ली पुलिस ने बाइक सवार 2 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि इस केस की जांच के लिए 100 अफसरों को तैनात किया गया था और पुलिस ने महज 24 घंटे के अंदर इस केस का खुलासा कर दिया। जानकारी के मुताबिक, पीएम मोदी की भतीजी दमयंती बेन मोदी से शनिवार (12 अक्टूबर) को बाइक सवार 2 बदमाशों ने पर्स व 2 मोबाइल फोन छीन लिए थे।

ऐसे हुई थी घटना: बताया जा रहा है कि पीएम मोदी की भतीजी दमयंती बेन मोदी शनिवार को ऑटो रिक्शा से सिविल लाइंस में बाइक सवार बदमाशों ने लूटपाट की थी। यह घटना श्री दिल्ली गुजरात समाज गेस्ट हाउस के गेट के बाहर हुई थी, जो दिल्ली के राज्यपाल अनिल बैजल के आवास से महज 300 मीटर दूर स्थित है।

पीड़िता ने दी थी मामले की जानकारी: दमयंती ने बताया, ‘‘मैं अपने पति व 2 बच्चों के साथ अहमदाबाद से छुट्टियां मनाने दिल्ली आई थी। अमृतसर से ट्रेन लेकर मैं शनिवार सुबह करीब 6:30 बजे पुरानी दिल्ली पहुंची। इसके बाद ऑटो रिक्शा से हम श्री दिल्ली गुजराती समाज गेस्ट हाउस जा रहे थे, जहां हमें 6 घंटे रुकना था। शाम के वक्त हमारी अहमदाबाद लौटने की फ्लाइट थी।’’ बता दें कि दमयंती पीएम मोदी के छोटे भाई प्रह्लाद मोदी की बेटी हैं।

National Hindi News, 13 October 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

हैंडबैग छीनकर भाग गए बाइकर: दमयंती के मुताबिक, सुबह करीब 7 बजे उनका ऑटो रिक्शा गुजराती समाज भवन के गेट पर पहुंचा। उस वक्त वह पीछे की सीट पर बैठी थीं और सामान उतारने में अपने पति की मदद कर रही थीं। पर्स उनकी गोद में रखा था। अचानक बाइक सवार 2 बदमाश आए और पर्स छीनकर फरार हो गए। पर्स में करीब 50 हजार रुपए व 2 मोबाइल फोन थे।

2 आरोपी गिरफ्तार: डीसीपी नॉर्थ मोनिका भारद्वाज के मुताबिक, मामले की जानकारी मिलने के बाद आईपीसी की धारा 379 और 365 के तहत केस दर्ज कर लिया गया। साथ ही, जांच के लिए 100 अफसरों की टीम बनाई गई, जिन्होंने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पीएमओ से निर्देश मिलने के सवाल पर डीसीपी ने कहा कि इस मामले को लेकर पीएमओ को कोई जानकारी नहीं दी गई। साथ ही, वहां से किसी भी तरह के निर्देश भी नहीं मिले।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पश्चिम बंगाल: 89 पशुओं के सिर लेकर भारत में घुस रहे थे 16 बांग्लादेशी, बैन दवाओं की 1985 गोलियां भी बरामद
2 Delhi: ‘गांधी संकल्प यात्रा’ के दौरान BJP नेताओं पर पटाखे से हमला, बाल-बाल बचे Manoj Tiwari
3 उत्तर प्रदेश: हफ्ते भर में तीसरे BJP नेता की हत्या, पार्षद को बाइक सवारों ने मारी गोली, मौके पर ही मौत