ताज़ा खबर
 

गन पॉइंट पर बनाया Cab ड्राइवर को बंधक, App चालू रख 24 घंटे तक सवारियों को लूटते रहे; सामने आई ये सच्चाई

लुटेरे कैब को दिल्ली-एनसीआर की सड़कों पर घुमाते रहे। इस दौरान उन्होंने कई सवारियों के साथ लूट की वारदात को अंजाम दिया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

Author नई दिल्ली | Updated: November 14, 2019 5:21 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

देश की राजधानी दिल्ली में लुटेरों के एक गैंग ने आनंद विहार के पास एक कैब को लूट लिया। कैब के ड्राइवर को बंधक बनाकर उसका मोबाइल और पर्स भी लूट लिया। लूटने के बाद कैब ड्राइवर के पीछे दूसरी कार में बैठाकर खुद कैब ड्राइवर बन गए। कैब के असली ड्राइवर के फोन पर जो भी कैब की बुकिंग आ रही थी। उन्हें वह कैब में बिठाकर लूट रहे थे। इसी दौरान उन्होंने एक पुणे के बिजनेसमैन को अपहरण कर लूट लिया, जिसके बाद इस सनसनीखेज वारदात का खुलासा हुआ।

आनंद विहार बस अड्डे पर हुई यह घटना: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लगभग 24 घंटे तक कैब लुटेरों के हाथों में रही। इस दौरान वह कैब को दिल्ली-एनसीआर की सड़कों पर घुमाते रहे। इस दौरान उन्होंने कई सवारियों के साथ लूट की वारदात को अंजाम दिया। फिलहाल अभी एक ही लूट का ही खुलासा हो सका है। बताया जा रहा है कि लुटेरों ने सवारी को लूटने के साथ-साथ गलत कृत्य भी किया। इस वारदात की शुरुआत 1 नवंबर की रात करीब 10 बजे आनंद विहार बस अड्डे के पास से हुई थी।

Hindi News Today, 14 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

पुणे के बिजसनेसमैन को लूटा:  दरअसल 1 नवंबर की करीब 11:30 बजे रात को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर एक बुकिंग मिली जो पुणे के एक बिजनेसमैन ने की थी। वह आगरा से आए थे। उन्हें अपने बेटे के साथ पुणे के लिए फ्लाइट पकड़ने दिल्ली एयरपोर्ट जाना था। चार लुटेरों में से एक ने कैब का ड्राइवर बन कर उन्हें कार में बैठा लिया। बाकि के तीन लूटरे कैब के असली ड्राइवर के साथ पीछे दूसरी कार में आ रहे थे। कैब साउथ दिल्ली की रोड पर पहुंची तो लुटेरों ने सुनसान जगह देखकर कैब रोक दी। इतनी देर में पीछ चल रहे उसके तीन साथी भी कैब में आ गए और दोनों बाप-बेटे को गन प्वाइंट पर रखकर डेढ़ लाख रुपये लूटे, फिर उनका लैपटाप फोन भी छीन लिया।

लुटेरे पुलिस की गिरफ्त से बाहर: इस वारदात के बाद बिजनेसमैन ने नई दिल्ली रेलवे पुलिस को जाकर सारी बात बताई। इसके बाद पुलिस ने ऐप बेस्ड कंपनी से बात कर बुकिंग तुरंत रुकवाई दी। इसके अगले दिन कैब के असली ड्राइवर को मेरठ हाइवे पर गाजियाबाद के पास बेहोश पड़ा मिला। तीसरे दिन कैब मिली। इस पूरे मामले में जांच की जा रही है। लुटेरे अभी भी पुलिस के गिरफ्त से बाहर है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पति ने मारते-मारते मुंह सुजा दिया, महिला ने वायरल किया वीडियो, पुलिस आई हरकत में
2 महाराष्ट्र: स्‍कूल में मूक-बधिर छात्रों से मालिश करवाती थी महिला टीचर, हुई 5 साल की जेल
3 ‘एक लाख रुपए दो, नहीं तो बेटे की किडनी निकालकर बेच देंगे’, वाराणसी में छात्र का अपहरण कर बदमाशों ने मांगी फिरौती
जस्‍ट नाउ
X