IPL सट्टेबाजी में हार गया तो ज्वैलरी शॉप से चुरा लिया 25 किलो सोना, दूसरे सुनारों को बेच ऐसे कर रहा था कमाई

डीसीपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान सोनी ने खुलासा किया कि वह गहने मुख्य कार्यालय से शाखा कार्यालय ले जाता था और वह विभिन्न ज्वैलर्स को ये आभूषण बेच देता था।

arrest
प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

आईपीएल सट्टेबाजी में पैसा हारने के बाद अपने मालिक के यहां से 25 किलोग्राम सोना कथित रूप से चुराने को लेकर 30 वर्षीय एक व्यक्ति को उसके दो साथियों के साथ गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने सोमवार ( 7 अक्टूबर) को यह जानकारी दी। पुलिस के अनुसार आरोपियों की पहचान भरत नाथमल सोनी, सचिन शिंदे (39) और श्रवण (39) के रूप में हुई है। भरत और सचिन दिल्ली के पश्चिम विनोद नगर के बाशिंदे हैं जबकि श्रवण राजस्थान के सिरोही जिले का रहने वाला है।

कंपनी में प्रभारी पद पर काम करता है आरोपीः एक शिकायतकर्ता ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि सोनी करोल बाग में उसकी कंपनी के मुख्यालय के प्रभारी के तौर पर काम रहा था और वह मुख्यालय से चांदनी चौक शाखा कार्यालय में सोने के गहने ले जाता था लेकिन वह सारे गहने नहीं जमा कराता था। जब तक शिकायतकर्ता को इस बात की भनक लगी तब तक सोनी फरार हो गया।

National Hindi News, 8 October 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

देशभर में बदलता रहा ठिकानाः पुलिस उपायुक्त (मध्य) मनदीप सिंह रंधावा ने कहा, ‘‘ जांच के दौरान पता चला कि सोनी देशभर में अपना ठिकाना लगातार बदल रहा था। 25 सितंबर को उसे राजस्थान से गिरफ्तार किया गया और उससे मिली जानकारी के आधार पर शिंदे और श्रवण को भी दिल्ली और राजस्थान से गिरफ्तार किया गया।’’

जुआ खेलने का आदी था आरोपीः डीसीपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान सोनी ने खुलासा किया कि वह गहने मुख्य कार्यालय से शाखा कार्यालय ले जाता था और वह विभिन्न ज्वैलर्स को ये आभूषण बेच देता था। उसने बताया कि उसे जुआ खेलना पसंद है और आईपीएल के दौरान उसे काफी नुकसान हुआ था। इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर आईपीएल मैच में पैसा हारने के बाद दो युवक लूटेरे बन गए और कई लूट की घटनाओं को अंजाम दिया। हालांकि जल्दी ही पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाब रही।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।