ताज़ा खबर
 

दिल्ली: AAP विधायक के काफिले पर गोली गैंगवार में चली! पढ़िए ‘जश्न’ में खून की पूरी स्टोरी

इस वारदात के कुछ ही घंटों बाद दिल्ली पुलिस ने फायरिंग के एक आरोपी को गिरफ्तार किया। इस आरोपी ने पूछताछ में कई अहम राज उगले हैं।

फायरिंग क्यों की गई? इस बात का खुलासा हो गया है।

आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक नरेश यादव कल ही दिल्ली का चुनाव जीत कर विधायक बने और फिर इसी दिन उनके काफिले पर ताबड़तोड़ फायरिंग हो गई। जिस वक्त फायरिंग हुई उस वक्त ‘आप’ के कार्यकर्ता जीत के जश्न में डूबे थे लेकिन अचानक इस जश्न में ‘खून’ हो जाने से सभी स्तब्ध रह गए। किशनगढ़ गांव में जैसे ही आप एमएलए नरेश यादव का काफिला पहुंचा किसी ने गोली चला दी। यह गोली अशोक मान नाम के एक पार्टी कार्यकर्ता को लगी। यह पार्टी कार्यकर्ता विधायक नरेश यादव के ठीक पीछे खड़ा था। गोली लगते ही वो ढेर हो गया। हालांकि मौके पर 4-5 राउंड फायरिंग हुई और खुद को बचाने के लिए विधायक झुक गए थे। इस गोलीबारी में पार्टी के एक दूसरे कार्यकर्ता को भी गोली लगी है जो जख्मी है।

पहले ही पुलिस ने इस बात का खुलासा कर दिया है कि जश्न में फायरिंग विधायक को निशाने पर लेकर नहीं की गई थी। अब इस फायरिंग के पीछे की पूरी कहानी उजागर हो चुकी है। इस वारदात के कुछ ही घंटों बाद दिल्ली पुलिस ने फायरिंग के एक आरोपी को गिरफ्तार किया। इस आरोपी ने पूछताछ में कई अहम राज उगले हैं।

पकड़े गए आरोपी का नाम कालू है। कालू ने पुलिस को बताया है कि इस कांड में उसके साथ धामी और देव नाम के 2 शख्स भी शामिल थे। कालू ने पुलिस को बताया है कि उनके निशाने पर विधायक नहीं बल्कि अशोक मान और उसका भतीजा हरेंद्र ही था। वो उन दोनों को मारने के लिए ही आए थे।

पुलिसिया पूछताछ में कालू ने खुलासा किया है कि पिछले साल नवंबर में कालू के भतीजे पर हमला हुआ था। उस हमले में उसके पैर में गोली लगी थी। हमले के बाद पुलिस ने उस मामले में 4 लोगों को पकड़ा था। लेकिन कालू को शक था कि उसके भतीजे पर हमला किसी और ने नहीं बल्कि अशोक मान ने कराया था।

हालांकि इस हत्या के लिए जो एफआईआर दर्ज हुआ था उसमें अशोक का नाम नहीं था। बस इसी शक के चलते कालू ने उससे बदला लेने की ठान ली और मंगलवार की रात जब अशोक मान और उसका भतीजा हरेंद्र नवनिर्वाचित विधायक नरेश यादव के साथ काफिले में शामिल थे, तो उन्हें निशाना बनाकर हमला कर दिया।

जाहिर है काफिले पर गैंगवार या पुरानी रंजिश में गोली चली थी और एक शख्स की मौत हो गई। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि अशोक मान को करीब से 5 गोलियां मारी गई हैं। इधर आम आदमी पार्टी ने इस भयंकर गोलीकांड को दिल्ली में लचर कानून-व्यवस्था से जोड़ा है। बहरहाल अब पुलिस इस कांड में शामिल अन्य दो आरोपियों की तलाश कर रही है।

Next Stories
1 2012 Delhi Gang Rape Case: पीड़िता के बुजुर्ग रिश्तेदार से अफसर की बदसलूकी, पूछा – दिल्ली क्यों भेजा?, वीडियो वायरल
2 ‘चंद्रकांता’ फेम एक्टर शहबाज खान पर संगीन आरोप, छेड़खानी और गंदे इशारे करने की धाराओं में केस दर्ज
3 जमानत पर जेल से छूटे विधायक बेटे ने कार से चार को रौंदा, बेंटले कार छोड़ दोस्त संग भागा; दूसरे ने आकर ली जिम्मेदारी
ये पढ़ा क्या?
X